World witnessing Covid-19 fourth wave, 144 recovered out of 358 Omicron cases in India
स्वास्थ

भारत में गहराई तीसरी लहर की आशंका,चौथी लहर की चपेट में दुनिया

Khaskhabar/यूरोप और अमेरिका समेत विश्व के कई देशों में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच केंद्र सरकार ने लोगों को सावधान किया है। सरकार ने शुक्रवार को कहा कि विश्व कोरोना महामारी की चौथी लहर की चपेट में है और हमें भी बेहद सतर्क रहने की जरूरत है, खासकर क्रिसमस और नए साल का जश्न मनाते हुए। सरकार ने यह बातें ऐसे समय में कहीं हैं जब देश में भी ओमिक्रोन वैरिएंट के मामले बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं और बूस्टर डोज लेने वाले भी इसकी चपेट में आ रहे हैं।

khaskhabar/सरकार ने शुक्रवार को कहा कि विश्व कोरोना महामारी की चौथी लहर की चपेट में है और हमें भी बेहद सतर्क रहने की जरूरत
Posted by khaskhabar

एक दिन में रिकार्ड नौ लाख 64 हजार से अधिक नए मामले सामने आए

संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि विश्व में कोरोना महामारी की चौथी लहर की चपेट में है। गुरुवार को एक दिन में रिकार्ड नौ लाख 64 हजार से अधिक नए मामले सामने आए हैं और और संक्रमण दर 6.1 प्रतिशत बनी हुई है। यूरोप, अफ्रीका और अमेरिका महाद्वीप में नए केस सबसे ज्यादा बढ़ रहे हैं। एशिया में मामले अभी कम मिल रहे हैं, लेकिन बहुत जल्द इन के बढ़ने की आशंका है और तब भारत भी इससे अछूता नहीं रहेगा। इसलिए हम सभी को भी बेहद सतर्क रहने की जरूरत है।

20 जिलों में साप्ताहिक संक्रमण दर पांच से 10 प्रतिशत

भूषण ने कहा कि केरल और मिजोरम में संक्रमण दर राष्ट्रीय औसत दर से बहुत अधिक है जो चिंता का कारण है। इसके अलावा 20 जिलों में साप्ताहिक संक्रमण दर पांच से 10 प्रतिशत के बीच और दो जिलों में 10 प्रतिशत से अधिक है।केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि देश में प्रतिदिन 18 हजार टन से अधिक आक्सीजन उत्पादन की क्षमता विकसित की गई है।

शरीर में आक्सीजन का स्तर कम होने के लक्षण नहीं देखे जा रहे

हालांकि, तीसरी लहर के दौरान इसकी जरूरत पड़ने की उम्मीद नहीं है क्योंकि भारत समेत किसी भी देश में ओमिक्रोन संक्रमितों के शरीर में आक्सीजन का स्तर कम होने के लक्षण नहीं देखे जा रहे हैं।प्रेस कांफ्रेंस में भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) के महानिदेशक डा. बलराम भार्गव ने कहा कि देश में अभी भी सबसे संक्रामक और खतरनाक वैरिएंट डेल्टा ही है।

ओमिक्रोन संक्रमण से अभी गंभीर बीमारी नजर नहीं आई

हाल ही में कई क्षेत्रों में इसके मामले अचानक बढ़े हैं। इसलिए कोरोना से बचाव के नियमों का पालन करते रहने के साथ ही टीका लगवाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि ओमिक्रोन संक्रमण से अभी गंभीर बीमारी नजर नहीं आई है। इसलिए ओमिक्रोन के लक्षण वाले मरीजों का इलाज भी वैसे ही चल रहा है जैसे डेल्टा, बीटा और गामा के मरीजों का।

लोगों से भी कोरोना उचित व्यवहार के पालन की अपील की

नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डा. वीके पाल ने सभी राज्यों को ओमिक्रोन संक्रमण रोकने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय की नई गाइडलाइंस का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने की सलाह दी। इसके साथ लोगों से भी कोरोना उचित व्यवहार के पालन की अपील की।पाल ने कहा कि ओमिक्रोन वैरिएंट के प्रसार को रोकने में निजी अस्पतालों को सक्रिय भूमिका निभानी चाहिए। उन्होंने कहा कि निजी अस्पताल भी राष्ट्रीय स्वास्थ्य ढांचे का अहम अंग हैं इसलिए उन्हें बड़ी भूमिका निभाने के लिए तैयार रहना चाहिए।

89 प्रतिशत लोगों को अब तक टीके की पहली डोज मिल चुकी

बता दें कि टीकाकरण भी तेजी से चल रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक अब तक 61 प्रतिशत वयस्क आबादी का पूर्ण टीकाकरण हो चुका है यानी उन्हें कोरोना रोधी वैक्सीन की दोनों डोज लगा दी गई है। वहीं, 89 प्रतिशत लोगों को अब तक टीके की पहली डोज मिल चुकी है। अब तक कुल 140 करोड़ से अधिक डोज लगाई गई हैं।

यह भी पढ़े —राजस्थान में भारतीय वायुसेना का मिग-21 क्रैश, जैसलमेर में भारत-पाक सीमा के पास हुआ हादसा

91 प्रतिशत यानी 87 संक्रमितों ने कोरोना रोधी वैक्सीन की दोनों डोज ले ली थी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक शुक्रवार सुबह तक देश में ओमिक्रोन के 358 मामले सामने आए थे। इनमें से 183 मामलों का विश्लेषण किया गया है। इसमें यह पाया गया है कि 121 लोगों ने हाल फिलहाल विदेश की यात्राएं की थीं जिनमें से 91 प्रतिशत यानी 87 संक्रमितों ने कोरोना रोधी वैक्सीन की दोनों डोज ले ली थी। यहां तक कि तीन संक्रमितों ने तो बूस्टर डोज भी लगवा ली थी, जिनमें से दो दिल्ली के और एक मुंबई से है। यह भी पाया गया कि 70 प्रतिशत संक्रमितों में कोई लक्षण नहीं था और 61 प्रतिशत पुरुष थे। 44 लोग विदेश से आए यात्रियों के संपर्क में आने की वजह से ओमिक्रोन से संक्रमित हुए थे।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|