राष्ट्रीय

Varavara Rao:माओवादी संबंध मामले में आरोपी कवि की हालत गंभीर,नानावटी अस्पताल ले जाने को राजी महाराष्ट्र सरकार

Khaskhabar/Varavara Rao:महाराष्ट्र सरकार एल्गार परिषद-माओवादी संबंध मामले में आरोपी कवि-सामाजिक कार्यकर्ता वरवर राव को उपचार के लिए जेल से 15 दिनों के लिए मुंबई के नानावटी अस्पताल ले जाने पर बुधवार को राजी हो गई। न्यायमूर्ति एस एस शिंदे और न्यायमूर्ति माधव जामदार की पीठ के हस्तक्षेप के बाद राज्य ने कहा कि वह विशेष मामले के तौर पर विचाराधीन कैदी राव (81) को नवी मुंबई की तलोजा जेल से ले जाएगा।

Varavara Rao:महाराष्ट्र सरकार एल्गार परिषद-माओवादी संबंध मामले में आरोपी
Posted by khaskhabar

वकील दीपक ठाकरे ने अदालत से कहा कि उन्होंने महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख से निर्देश प्राप्त कर लिए हैं जिन्होंने कहा कि राज्य को राव को निजी नानावटी अस्पताल ले जाने में कोई ऐतराज नहीं है। अदालत ने निर्देश दिया कि राव के उपचार का खर्च राज्य उठाएगा तथा न्यायालय को सूचित करने के बाद ही उन्हें अस्पताल से छुट्टी दी जाएगी। पीठ का यह भी निर्देश था कि राव की सारी मेडिकल रिपोर्ट अदालत में जमा की जाएं तथा उनके परिवार के सदस्यों को अस्पताल में उनसे मिलने दिया जाए।

‘क्यों अस्पताल नहीं भेजा जा सकता है?’

राव की वकील इंदिरा जयसिंह ने बुधवार को जमानत के लिए दबाव नहीं बनाया क्योंकि उच्च न्यायालय ने सुझाव दिया कि वह दलीलें राव को नानावटी अस्पताल स्थानांतरित करने की अंतरिम राहत पर ही केंद्रित रखें। जयसिंह ने कहा कि राव डिमेंशिया (मानसिक विकार) से ग्रस्त हो गए हैं, जेल में उनकी मूत्र नली में संक्रमण हो गया और उनकी मानसिक एवं शारीरिक स्वास्थ्य स्थिति तेजी से बिगड़ रही है। उनका कहना था कि यह तार्किक आशंका है कि राव की जेल में मृत्यु हो सकती है।

Varavara Rao:महाराष्ट्र सरकार एल्गार परिषद-माओवादी संबंध मामले में आरोपी
Posted by khaskhabar

उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य राव की तबीयत की देखभाल के प्रति लापरवाह रहा है। जयसिंह ने कहा कि राव के लिए तत्काल विशेषज्ञों के हस्तक्षेप की जरूरत है और यह कि उनका तलोजा जेल में उपचार नहीं हो सकता। इस पर पीठ ने राज्य एवं राष्ट्रीय जांच एजेंसी से पूछा कि क्यों राव को नानावटी अस्पताल स्थानांतरित नहीं किया जा सकता।

मौलिक अधिकारों का उल्लंघन

न्यायालय ने राव की पत्नी हेमलता की रिट याचिका पर सुनवाई करते हुए ये आदेश जारी किए। हेमलता ने यह कहते हुए राव को तलोजा जेल अस्पताल से तत्काल नानावटी अस्पताल स्थानांतरित करने का अनुरोध किया कि निरंतर हिरासत में रखना उनके मौलिक अधिकारों का उल्लंघन है। अदालत मेडिकल आधार पर दायर की गई राव की जमानत अर्जी पर भी सुनवाई कर रही है।

यह भी पढ़े—Microwave Weapons:प्रोफेसर का दावा-चीनी सेना ने लद्दाख में माइक्रोवेव वेपंस किए इस्तेमाल;इंडियन आर्मी को पीछे धकेला

Varavara Rao:तलोजा में उसका उपचार करेंगे

पीठ ने कहा, ‘आखिरकार, यह व्यक्ति एक तरह से मृत्युशय्या पर है। उसे कुछ उपचार की जरूरत है। क्या राज्य कह सकता है कि नहीं, हम तलोजा में उसका उपचार करेंगे। ’ न्यायाधीशों ने कहा, ‘हम उसे बस दो सप्ताह के लिए नानावटी अस्पताल ले जाने के लिए कह रहे हैं। दो सप्ताह के बाद हम देखेंगे।’ प्रारंभ में एनआईए और राज्य ने राव को नानावटी अस्पताल स्थानांतरित करने से इनकार कर दिया था

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है |