uttarakhand-several-shops-and-houses-damaged-due-to-a-cloudburst-in-tehri-districts-devprayag-area
राष्ट्रीय

टिहरी के देवप्रयाग में बादल फटने से भारी तबाही, मलबे के साथ बह गईं इमारतें, कर्फ्यू ने बचा ली सैकड़ों की जान

Khaskhabar/उत्तराखंड के देवप्रयाग में बादल फटने से भारी तबाही मच गई। हादसे से इलाके के शांति बाजार में कई दुकानें बह गईं। एक आईटीआई का तीन मंजिला भवन भी पूरी तरह से ध्वस्त हो गया। देवप्रयाग नगर से बस अड्डे की ओर आने वाला रास्ता और पुलिया पूरी तरह से बह गया। हालांकि कोरोना कर्फ्यू होने के कारण जनहानि की खबर नहीं है।

Khaskhabar/उत्तराखंड के देवप्रयाग में बादल फटने से भारी तबाही मच गई। हादसे से इलाके के शांति बाजार में कई दुकानें बह गईं। एक आईटीआई का तीन मंजिला भवन भी पूरी तरह से ध्वस्त हो गया। देवप्रयाग नगर से
Posted by khaskhabar

मलबे से पटा इलाका

देवप्रयाग के पुलिस थानाध्यक्ष महिपाल सिंह रावत ने बताया कि शाम लगभग पांच बजे शांता नदी के उपरी छोर पर दशरथ डांडा पर्वत नामक स्थान पर बादल फटने से नदी ने विकराल रूप धारण कर लिया। नदी में आए मलबे ने देवप्रयाग कस्बे के शांति बाजार में भारी तबाही मचाई जिसमें नगर पालिका का बहुउददेशीय भवन समेत दो भवन जमींदोज हो गए। उन्होंने बताया कि पूरा क्षेत्र मलबे से पट गया है जबकि पैदल पुल का भी कहीं अता पता नहीं है। इसके अलावा बिजली की लाइन, पेयजल लाइन व अन्य परिसंपत्तियों को भी भारी नुकसान की सूचना है।

मकानों-दुकानों में घुसा मलबा

थानाध्यक्ष रावत ने बताया कि शांति बाजार में बड़ी-बड़ी इमारतों और दुकानों में मलबा घुस गया और वे पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त हो गईं। थाना पुलिस की ओर से त्वरित कार्रवाई करते हुए क्षतिग्रस्त इमारतों के आसपास के लोगों को मौके से तुरंत हटाया गया और थाना प्रांगण तथा बस अड्डा प्रांगण में भेजा गया।

थानाध्यक्ष ने बताया कि शांति बाजार में बडी-बडी इमारतों और दुकानों में मलबा घुस गया और वे पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त हो गयीं । थाना पुलिस द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए क्षतिग्रस्त इमारतों के आसपास के लोगों को मौके से तुरंत हटाया गया और थाना प्रांगण एवं बस अड्डा प्रांगण में भेजा गया।

अंधेरा होता तो यहां बड़ी जनहानि होती

पुलिस अधिकारी ने बताया कि उजाला होने के कारण शहर में मलबा घुसने से पहले ही लोग दुकानों को छोड़कर बाहर आ गए अन्यथा अगर अंधेरा होता तो यहां बड़ी जनहानि होती।नगर पालिका अध्यक्ष कृष्ण कांत कोटियाल ने बताया कि बादल फटने से शहर में भारी नुकसान हुआ है लेकिन अभी उसका आंकलन नहीं हो सका है ।

गृह मंत्री शाह ने उत्तराखंड सीएम से बात कर सहायता का आश्वासन दिया

टिहरी जिले के देवप्रयाग में मंगलवार को बादल फटने की घटना में निगम की दो इमारतों के ढहने और कई घरों को नुकसान पहुंचने की खबर के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से बात की और केंद्र की तरफ से हर मदद का आश्वासन दिया। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। शाह ने मंगलवार शाम को टेलीफोन से बातचीत के दौरान रावत को केंद्र सरकार से हरसंभव मदद का भरोसा दिया। शांता नदी के ऊपर हुई बादल फटने की इस घटना से नदी के किनारे के इलाकों में पानी भर गया और पैदल यात्रियों के पुल, पानी की पाइपलाइन और बिजली आपूर्ति की लाइन को नुकसान पहुंचा।

यह भी पढ़े –रूस में स्कूल पर अंधाधुंध फायरिंग में 8 बच्चों समेत 13 लोगों की मौत; कई को बंधक बनाया

बादल फटने से नदी ने विकराल रूप धारण कर लिया

इस बीच, देवप्रयाग के पुलिस थानाध्यक्ष महिपाल सिंह रावत ने बताया कि शाम लगभग पांच बजे शांता नदी के ऊपरी छोर पर दशरथ डांडा पर्वत नामक स्थान पर बादल फटने से नदी ने विकराल रूप धारण कर लिया। नदी में आए मलबे ने देवप्रयाग कस्बे के शांति बाजार में भारी तबाही मचाई जिसमें नगर पालिका के बहुद्देशीय भवन समेत दो भवन जमींदोज हो गए। उन्होंने कहा कि इस घटना में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है क्योंकि सतर्क लोग पहले ही सुरक्षित स्थान पर चले गए थे।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|