Unacademy announces 'CodeChef Snackdown 2021', the champion will get 10,000 dollars
राष्ट्रीय

अनअकैडमी ने की ‘कोडशेफ स्नैकडाउन 2021’ की घोषणा,चैम्पियन को मिलेगा 10,000 डॉलर्स

Khaskhabar/भारत के अग्रणी शिक्षण मंच अनअकैडमी ने स्नैकडाउन‘ के छठे संस्करण की घोषणा की है। स्नैकडाउन‘ एक बहुत ही अनोखी मल्टी-राउंड प्रोग्रामिंग प्रतियोगिता है। सभी विद्यालयों और महाविद्यालयों के छात्रों के साथ-साथ कामकाजी पेशेवर भी इसमें हिस्सा ले सकते हैं।

Khaskhabar/भारत के अग्रणी शिक्षण मंच अनअकैडमी ने 'स्नैकडाउन' के छठे संस्करण की घोषणा की है। 'स्नैकडाउन' एक बहुत ही अनोखी मल्टी-राउंड
Posted by khaskhabar

स्नैकडाउन‘ की शुरूआत कोडशेफ ने वर्ष 2010में दुनिया भर के बेहतरीन प्रोग्रामर्स को एक दूसरे के साथ प्रतिस्पर्धा करने का अवसर दिलाने के उद्देश्य से की थी। जून 2020से कोडशेफ की कस्टोडियनशिप अनअकैडमी ने संभाली है।

रजिस्ट्रेशन और शेड्यूल

स्नैकडाउन 2021 के लिए पंजीकरण शुरू हो चूका है और यह 19 अक्टूबर 2021 तक किया जा सकता है। पहला ऑनलाइन क्वालीफाइंग राउंड 14 अक्टूबर से 19 अक्टूबर तक होगा। ग्रैंड ऑनलाइन फिनाले जनवरी 2022 को आयोजित किया गया है। विस्तृत कार्यक्रम और सीखने के संसाधन वेबसाइट पर उपलब्ध हैं।

आकर्षक पुरस्कार

इस साल महामारी की स्थिति के कारणस्नैकडाउन 2021 में व्यक्तिगत प्रतिभागिता को अनुमति दी गयी है। स्नैकडाउन 2021 चैंपियन को 10,000 डॉलर्स और स्नैकडाउन गोल्ड ट्रॉफी से सम्मानित किया जाएगा। प्रथम उपविजेता और द्वितीय उपविजेता को ट्रॉफी और मर्चैंडाइज़ के साथ क्रमशः 7500 डॉलर्स और 5000 डॉलर्स के नकद पुरस्कार मिलेंगे। शीर्ष 10 भारतीय प्रोग्रामर्स और से 25 तक के वैश्विक रैंक धारकों को नकद पुरस्कार दिए जाएंगे।

प्रतियोगिता में भाग लेने के लिएप्रोग्रामर्स स्नैकडाउन 2021 वेबसाइट पर जा सकते हैं और अपना पंजीकरण करा सकते हैं।

यह भी पढ़े —स्पेस एक्स का पहला ऑल-सिविलियन क्रू अंतरिक्ष की ओर हो गया रवाना,यहां देखें पूरा वीडियो

अनअकैडमी ग्रुप:

अनअकैडमी की स्थापना 2015 में गौरव मुंजालहेमेश सिंह और रोमन सैनी द्वारा की गई। 2010 में गौरव मुंजाल द्वारा एक यूट्यूब चैनल के रूप में शुरू किया गयाअनअकैडमी आज 60,000 से ज़्यादा पंजीकृत शिक्षकों और 620 लाख से अधिक शिक्षार्थियों के बढ़ते नेटवर्क के साथ भारत का सबसे बड़ा शिक्षण मंच बना है। यहां 14 भारतीय भाषाओं में शिक्षा प्रदान की जाती है जिसका लाभ 10,000 शहरों के छात्र लेते हैंअनअकैडमी भारत के सीखने के तरीके को बदल रहा है। अनअकैडमी ग्रुप में अनअकैडमीग्राफीरेलवेल और कोडशेफ शामिल हैं।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|