UN human rights chief not allowed to investigate in Xinjiang: China
दुनिया

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख को शिनजियांग में जांच की इजाजत नहीं : चीन

Khaskhabar/चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने कहा है कि संयुक्त राष्ट्र में मानवाधिकार मामलों की प्रमुख मिशेल बाशेलेट शिनजियांग प्रांत का दौरा तो कर सकती हैं, लेकिन उन्हें किसी भी प्रकार की जांच की इजाजत नहीं दी जाएगी।

Khaskhabar/चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने कहा है कि संयुक्त राष्ट्र में मानवाधिकार मामलों की प्रमुख मिशेल बाशेलेट शिनजियांग प्रांत का दौरा तो कर सकती हैं, लेकिन उन्हें किसी भी प्रकार
Posted by khaskhabar

चीन बाशेलेट को शिनजियांग में निर्बाध दौरे की इजाजत देगा

पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार म्यूनिख सुरक्षा सम्मेलन में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये शामिल हुए वांग से जब पूछा गया कि क्या चीन बाशेलेट को शिनजियांग में निर्बाध दौरे की इजाजत देगा, तब उन्होंने कहा, ‘चीन सभी प्रकार के पक्षपात, पूर्वाग्रहों और अनावश्यक आरोपों को खारिज करता है।’

अल्पसंख्यक उइगरों के नरसंहार का आरोप लगा रहे

चीनी विदेश मंत्री की यह टिप्पणी वैसे समय में आई है, जब अमेरिका व मानवाधिकार समूह चीन पर शिनजियांग प्रांत में अल्पसंख्यक उइगरों के नरसंहार का आरोप लगा रहे हैं।रेडियो फ्री एशिया (आरएफए) ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि चीन ने तिब्बती बौद्ध धार्मिक संस्थानों पर हालिया हमले के तहत एक मठ में पुलिस की खुफिया इकाई की स्थापना कर दी है।

पल्युल थरतांग गोंचेन मठ में अधिकारियों को तैनात किया गया

तिब्बत से निर्वासित मगर वहां की गतिविधियों की जानकारी रखने वाले एक सूत्र के हवाले से आरएफए ने कहा कि इस साल किंघई प्रांत के गोलोग स्थित पल्युल थरतांग गोंचेन मठ में अधिकारियों को तैनात किया गया है। चीन ने पहले से ही मठ के बाहर एक खुफिया इकाई की स्थापना कर रखी थी।

यह भी पढ़े —राजस्थान के कोटा में चंबल नदी में गिरी कार,हादसे में दूल्हे सहित 9 लोगों की मौत

तिब्बतियों से बात करें तो सारी जानकारी पुलिस को हासिल हो

ये अधिकारी मठ के भिक्षुओं के दैनिक क्रियाकलापों पर नजर रख रहे हैं। चीनी अधिकारियों ने बौद्ध भिक्षुओं के मोबाइल फोन में एक एप लगा रखा है, ताकि वे निर्वासित तिब्बतियों से बात करें तो सारी जानकारी पुलिस को हासिल हो जाए।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|