UGC has decided to start 123 different online courses, allowing universities to teach online
राष्ट्रीय

यूजीसी ने लिया 123 विभिन्न आनलाइन पाठ्यक्रमों को शुरू करने का फैसला, विश्वविद्यालयों को आनलाइन पढ़ाने की अनुमति

Khaskhabar/ यूजीसी ने देशभर के विभिन्न केंद्रीय और अन्य विश्वविद्यालयों के लिए ज्यादा लचीले नियम बनाए हैं। इनके तहत नियमित विश्वविद्यालयों को कोरोना महामारी के बाद भी आनलाइन कोर्स चलाने और अन्य महत्वपूर्ण पाठ्यक्रमों को दूरस्थ शिक्षा के जरिये संचालित करने की अनुमति होगी। 

Khaskhabar/ यूजीसी  ने देशभर के विभिन्न केंद्रीय और अन्य विश्वविद्यालयों के लिए ज्यादा लचीले नियम बनाए हैं। इनके तहत नियमित विश्वविद्यालयों को कोरोना महामारी
Posted by khaskhabar

40 पाठ्यक्रम स्नातकोत्तर छात्रों और 83 स्नातक छात्रों के लिए

जीसी ने 123 विभिन्न आनलाइन पाठ्यक्रमों को शुरू करने का फैसला किया है। इनमें से 40 पाठ्यक्रम स्नातकोत्तर छात्रों और 83 स्नातक छात्रों के लिए होंगे। देशभर के छात्र इन पाठ्यक्रमों को कर सकेंगे।इसके लिए उन्हें आनलाइन प्लेटफार्म ‘स्वयं’ या ‘स्टडी वेब्स आफ एक्टिव लर्निग फार यंग एस्पाइरिंग माइंड्स’ के जरिये आवेदन करना होगा। इन पाठ्यक्रमों का पूरा विवरण और पात्रता की जानकारी छात्र यूजीसी की वेबसाइट से हासिल कर सकते हैं।

परीक्षाओं के आयोजन की प्रक्रिया अगस्त के आखिर तक शुरू हो

यूजीसी के मुताबिक, ‘स्वयं’ के आनलाइन पाठ्यक्रमों की परीक्षाएं भी कराई जाएंगी। विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को यह सुनिश्चित करना होगा कि इन परीक्षाओं के आयोजन की प्रक्रिया अगस्त के आखिर तक शुरू हो। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) देश के विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर इन परीक्षाओं का आयोजन करेगी जो जनवरी-अप्रैल, 2021 सेमेस्टर के विभिन्न गैर-तकनीकी स्नातक एवं स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों के लिए परीक्षाओं का आयोजन करेगी।

शिक्षार्थियों को आनलाइन शिक्षा की मुख्यधारा में लाया गया

चेयरमैन डीपी सिंह ने कहा कि डिजिटल प्लेटफार्म पर पाठ्यक्रमों को उपलब्ध कराने के लिए कई कदम उठाए गए हैं। इस संदर्भ में उन्होंने ‘स्वयं’, ‘स्वयं प्रभा’, नेशनल एकेडेमिक डिपाजिटरी (एनएडी) और अन्य डिजिटल प्लेटफार्मो का जिक्र किया। सिंह ने कहा कि यूजीसी की पहल के तहत शिक्षार्थियों को आनलाइन शिक्षा की मुख्यधारा में लाया गया है।

यह भी पढ़े —स्वर्गीय मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की पार्थिव देह को लेकर लखनऊ से अलीगढ़ पहुंचे CM योगी आदित्यनाथ

यूजीसी क्षेत्रीय भाषाओं के इस्तेमाल को भी बढ़ावा देगा

‘स्वयं’ के जरिये परीक्षाओं के आयोजन के संबंध में यूजीसी ने सभी विश्वविद्यालयों और कालेजों को नोटिस भी भेजा है। ‘स्वयं’ देशभर के सभी छात्रों, काम कर रहे पेशेवरों, जीवनभर पढ़ने के इच्छुक लोगों और अन्य लोगों को गैर-तकनीकी परास्नातक एवं स्नातक पाठ्यक्रम उपलब्ध कराता है। इसके अलावा यूजीसी क्षेत्रीय भाषाओं के इस्तेमाल को भी बढ़ावा देगा। तकनीकी पाठ्यक्रमों को विभिन्न क्षेत्रीय भाषाओं में अनुमति देकर वह भाषाई बाधा को खत्म करेगा, इस दिशा में उसने कई कदम उठाए भी हैं। 

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|