Twitter's intermediary status ends for non-compliance with new internet media rules
कारोबार राष्ट्रीय

नए इंटरनेट मीडिया नियमों का पालन नहीं करने पर ट्विटर का इंटरमीडियरी का दर्जा हुआ खत्म

Khaskhabar/सरकार की बार-बार चेतावनी के बावजूद इंटरनेट मीडिया के नए नियमों का पालन नहीं करने पर ट्विटर के खिलाफ कार्रवाई शुरू हो गई है। उसका इंटरमीडियरी (मध्यस्थ) दर्जा खत्म हो गया है। सूत्रों का कहना है कि सरकार ने पांच जून को आखिरी चेतावनी दी थी लेकिन उसके बाद भी ट्विटर ने नियमों का पालन कर नहीं बताया तो स्पष्ट है कि कार्रवाई शुरू हो गई है। 

Khaskhabar/सरकार की बार-बार चेतावनी के बावजूद इंटरनेट मीडिया के नए नियमों का पालन नहीं करने पर ट्विटर के खिलाफ कार्रवाई शुरू हो गई है। उसका इंटरमीडियरी (मध्यस्थ) दर्जा खत्म हो गया है। सूत्रों का कहना
Posted by khaskhabar

ट्विटर के साथ-साथ सिग्नल पर भी ऐसी ही कार्रवाई

इसका मतलब है की अब कंटेंट को लेकर किसी प्रकार की शिकायत मिलने पर ट्विटर के खिलाफ आपराधिक कार्रवाई की जा सकती है।बताया जाता है कि ट्विटर के साथ-साथ सिग्नल पर भी ऐसी ही कार्रवाई हो रही है। इंटरमीडियरी दर्जा खत्म होने बाद ये दोनो प्लेटफार्म सामान्य मीडिया की श्रेणी में आ जाएंगे और तब विदेशी निवेश की सीमा आदि का बंधन भी शुरू होगा।

ट्विटर को भारत में संचालन में अब मुश्किलें होने वाली हैं। फरवरी में इलेक्ट्रानिक्स व आइटी मंत्रालय की तरफ से इंटरनेट मीडिया के लिए नए नियम जारी किए गए थे। इंटरनेट मीडिया प्लेटफार्म को इन नियमों के पालन के लिए तीन महीने का समय दिया गया था जो गत 25 मई को समाप्त हो गया।

इंटरनेट मीडिया इन नियमों का पालन नहीं करेगा वह इंटरमीडियरी सुविधा खो देगा

आइटी विशेषज्ञ जीतेन जैन कहते है कि इंटरनेट मीडिया के नए नियम में ही यह प्रविधान है कि जो इंटरनेट मीडिया इन नियमों का पालन नहीं करेगा वह इंटरमीडियरी सुविधा खो देगा। ट्विटर के साथ यही हुआ है।आइटी विशेषज्ञ जीतेन जैन कहते है कि इंटरनेट मीडिया के नए नियम में ही यह प्रविधान है कि जो इंटरनेट मीडिया इन नियमों का पालन नहीं करेगा वह इंटरमीडियरी सुविधा खो देगा। ट्विटर के साथ यही हुआ है।

इंटरमीडियरी की सुविधा खत्म होने से ट्विटर को इंटरनेट मीडिया नियमों का पालन करना होगा

जैन ने बताया कि सरकार के पास ट्विटर को ब्लाक तक करने का अधिकार है। सरकार चाहे तो ऐसा कर सकती है। विशेषज्ञों के मुताबिक इंटरमीडियरी की सुविधा खत्म होने से ट्विटर को इंटरनेट मीडिया पोर्टल के नियमों का पालन करना होगा जिसके तहत उसे कई बदलाव करने पड़ सकते हैं। निश्चित रूप से ट्विटर को संचालन में मुश्किलें आएंगी।

यह भी पढ़े –श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने केंद्र सरकार को भेजी रिपोर्ट,आरोपों को किया खारिज

तीनों अधिकारियों के लिए वैकेंसी निकाली गई है और जल्द ही वे नियुक्ति कर लेंगे

छह जून को ट्विटर ने बताया कि उसने नोडल कांटैक्ट पर्सन और रेजिडेंट ग्रीवांस आफिसर अनुबंध पर अंतरिम रूप में नियुक्त कर लिया है। गत 13 जून को ट्विटर ने बताया कि तीनों अधिकारियों के लिए वैकेंसी निकाली गई है और जल्द ही वे नियुक्ति कर लेंगे। केंद्र द्वारा इंटरनेट मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर को नोटिस जारी किए जाने के कुछ दिनों बाद कांग्रेस नेता शशि थरूर की अध्यक्षता वाली संसद की स्थायी समिति ने माइक्रो ब्लागिंग साइट के शीर्ष अधिकारियों को शुक्रवार (18 जून) को अपने समक्ष तलब किया है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|