Three more Rafale aircraft are coming from France amid the ongoing military standoff with China
राष्ट्रीय

चीन के साथ चल रहे सैन्य गतिरोध के बीच फ्रांस से आ रहे हैं तीन और राफेल विमान

Khaskhabar/चीन के साथ चल रहे सैन्य गतिरोध के बीच भारतीय वायु सेना को एक और मजबूती मिली है। समाचार एजेंसी एएनआइ की रिपोर्ट के मुताबिक तीन और राफेल विमान बुधवार को फ्रांस से भारत के जामनगर गुजरात पहुंचेंगे। इन तीन विमानों के आने से भारत के पास राफेल जेट विमानों की संख्‍या 29 हो जाएगी।

Khaskhabar/चीन के साथ चल रहे सैन्य गतिरोध के बीच भारतीय वायु सेना को एक और मजबूती मिली है। समाचार एजेंसी एएनआइ की रिपोर्ट के मुताबिक तीन और राफेल विमान
Posted by khaskhabar

भारत ने 2016 में फ्रांस से 60,000 करोड़ रुपये में 36 राफेल विमानों की खरीद का समझौता

बता दें कि भारत ने 2016 में फ्रांस से 60,000 करोड़ रुपये में 36 राफेल विमानों की खरीद का समझौता किया था।आधिकारिक सूत्रों ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि तीनों राफेल विमान जामनगर एयरबेस पर उतरेंगे। इस महीने की शुरुआत में एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी के वायु सेना प्रमुख के रूप में पदभार संभालने के बाद फ्रांस से आने वाला राफेल विमानों का यह पहला बैच है। 

फ्रांस से 36वें राफेल को कई संवर्द्धन के साथ भारत पहुंचाया जाएगा

योजना के अनुसार अगले तीन राफेल विमान दिसंबर की पहली छमाही तक भारत पहुंचेंगे। अगले तीन विमान (Rafale fighters Jet) 26 जनवरी तक ऑपरेशनल स्क्वाड्रन में शामिल हो जाएंगे।फ्रांस से आने वाले विमानों को अंबाला स्थि‍त गोल्डन एरो स्क्वाड्रन और पश्चिम बंगाल स्थित हाशिमारा 101 स्क्वाड्रन के बीच वितरित किया जाएगा। फ्रांस से 36वें राफेल को कई संवर्द्धन के साथ भारत पहुंचाया जाएगा जिससे वायुसेना की मारक क्षमता अधिक घातक हो जाएगी। 

यह भी पढ़े —संदिग्ध कुकी उग्रवादियों ने कांगपोकपी में बी गमनोम गांव में जमा भीड़ पर कर दी फायरिंग

सभी 36 राफेल विमान समय से पहले उपलब्ध कराए जाने की उम्मीद

गौरतलब है कि राफेल विमानों (Rafale fighters Jet) की यह आपूर्ति ऐसे समय हो रही है जब पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध जारी है।हाल ही में फ्रांस के राजदूत इमैनुएल लेनैन ने कहा था कि दसाल्ट एविएशन द्वारा भारत को सभी 36 राफेल विमान समय से पहले उपलब्ध कराए जाने की उम्मीद है। इंडो-फ्रेंच चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री की ओर से नई दिल्‍ली में आयोजित चौथे भारत-फ्रांस निवेश सम्मेलन से इतर लेनैन ने कहा था कि फ्रांसीसी कंपनियों ने भारत में 10 अरब यूरो से अधिक का निवेश किया है जिससे 2.50 लाख भारतीयों को रोजगार मिल रहा है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|