There was a ruckus over the removal of encroachment, two people died while 20 others were injured
राष्ट्रीय

अतिक्रमण हटाने को लेकर हुआ बवाल,दो लोगों की मौत हो गई जबकि 20 अन्य घायल

Khaskhabar/असम में अतिक्रमण हटाने को लेकर बड़ा बवाल हुआ है। समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक असम के दरांग जिले के ढोलपुर में गुरुवार को पुलिस और स्थानीय लोगों के बीच हिंसक झड़प हो गई जिसमें कम से कम दो प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई है जबकि 20 लोग घायल हुए हैं। घायलों में ज्‍यादातर पुलिसकर्मी हैं। घायलों में कुछ की हालत बेहद नाजुक बताई जाती है। 

Khaskhabar/असम में अतिक्रमण हटाने को लेकर बड़ा बवाल हुआ है। समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक असम के दरांग जिले के ढोलपुर में गुरुवार को पुलिस और स्थानीय
Posted by khaskhabar

असम के दरांग जिला प्रशासन की ओर से बेदखल किए गए 800 परिवारों के पुनर्वास की मांग

अधिकारियों के मुताबिक पुलिसकर्मियों ने भीड़ को तितर बितर करने के लिए फायरिंग की.रिपोर्ट के मुताबिक बड़ी संख्‍या में लोग असम के दरांग जिला प्रशासन की ओर से बेदखल किए गए 800 परिवारों के पुनर्वास की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे। अचानक प्रदर्शनकारियों और पुलिस बल के बीच झड़प शुरू हो गई। 

दो लोगों की मौत हो गई जबकि कम से कम 20 अन्य घायल

बाद में बल की ओर से की गई फायरिंग में दो लोगों की मौत हो गई जबकि कम से कम 20 अन्य घायल हो गए। बेदखल किए गए परिवारों ने सिपझार में विरोध प्रदर्शन शुरू किया था। प्रदर्शनकारियों की मांग थी कि बेदखली को रोका जाए और उन्हें एक व्यापक पुनर्वास पैकेज प्रदान किया जाए।

धारदार हथियारों से लैस प्रदर्शनकारियों की भीड़ ने पथराव

दरांग के पुलिस अधीक्षक सुशांत बिस्वा सरमा (Darrang Superintendent of Police Sushanta Biswa Sarma) ने कहा कि परेशानी तब शुरू हुई जब धारदार हथियारों से लैस प्रदर्शनकारियों की भीड़ ने पथराव शुरू कर दिया और मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों और आम लोगों पर हमला बोल दिया। बकौल सुशांत बिस्वा सरमा पुलिस के जवानों ने आत्मरक्षा में गोलियां चलाईं जिसमें दो लोगों की मौत हो गई। दोनों पक्षों में हुई झड़प में कम से कम 10 लोग घायल हो गए। घायलों में अधिकांश पुलिसकर्मी हैं।

पुलिस को अवैध अतिक्रमणकारियों से जमीन को खाली कराने की सौंपी गई जिम्मेदारी

मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने गुवाहाटी में कहा कि प्रशासन की ओर से बेदखली की कार्रवाई पर कोई रोक नहीं लगेगी। पुलिस को अवैध अतिक्रमणकारियों से जमीन को खाली कराने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। पुलिसकर्मी काम पूरा होने तक तैनात रहेंगे। अंधेरा होने पर अतिक्रमण हटाने का काम बंद हो जाएगा और शुक्रवार को फिर से शुरू होगा।

गुवाहाटी मेडिकल कालेज अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया

सुशांत बिस्वा सरमा ने बताया कि जख्‍मी लोगों का इलाज कर रहे चिकित्सकों ने सहायक उप निरीक्षक मोनीरुद्दीन की हालत बेहद नाजुक बताई है। उन्हें गुवाहाटी मेडिकल कालेज अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया है। मृतकों की पहचान सद्दाम हुसैन और शेख फरीद के रूप में हुई है। पुलिस ने कड़ी मशक्‍कत के बाद में स्थिति पर काबू पाया और भीड़ तितर-बितर किया। पुलिस से झड़प के बाद इलाके में तनाव है। इसके बावजूद धौलपुर-I और धौलपुर-III गांवों में बेदखली का काम जारी है।

यह भी पढ़े —पीएम मोदी मौजूदा समय में अमेरिका दौरे पर,वाशिंगटन डीसी में क्रिस्टियानो आर अमोन से की मुलाकात

प्रशासन ने सोमवार से 602.04 हेक्टेयर जमीन खाली कराई

अंधेरा होने पर अतिक्रमण हटाने का काम बंद हो जाएगा और शुक्रवार को फिर से शुरू होगा। वहीं अधिकारियों ने बताया कि दारांग जिला प्रशासन ने सोमवार से 602.04 हेक्टेयर जमीन खाली कराई है। इसमें 800 परिवारों को बेदखल किया गया है। यही नहीं चार अवैध रूप से निर्मित धार्मिक संरचनाओं को ध्वस्त कर दिया गया है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|