Sunni Central Waqf Board gave one thousand square feet of land to Vishwanath Corridor
धर्म राष्ट्रीय

सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने विश्वनाथ कारिडोर को दी एक हजार वर्ग फीट की जमीन

Khaskhabar/श्रीकाशी विश्वनाथ कारिडोर को भव्यता प्रदान करने के लिए सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने एक हजार वर्ग फीट की जमीन दे दी। इसके बदले मंदिर प्रशासन ने भी बांस फाटक क्षेत्र में एक हजार वर्ग फीट की जमीन अंजुमन इंतजामिया मसाजिद को सौंपी। श्रीकाशी विश्वनाथ कारिडोर निर्माण में इसे ऐतिहासिक कदम बताया जा रहा है। लंबी बातचीत के बाद दोनों पक्ष इस निर्णय पर पहुंच सके हैं। आर्टिकल 31 में निहित एक्सचेंज आफ प्रापर्टी के तहत संपत्तियों का हस्तांतरण हुआ।

Khaskhabar/श्रीकाशी विश्वनाथ कारिडोर को भव्यता प्रदान करने के लिए सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने एक हजार वर्ग फीट की जमीन दे दी। इसके बदले मंदिर प्रशासन ने भी बांस फाटक क्षेत्र में एक हजार वर्ग फीट की जमीन
Posted by khaskhabar

एक पक्ष ने आठ जुलाई तो दूसरे पक्ष ने 10 जुलाई को रजिस्ट्री की

विनिमय प्रणाली के तहत इन संपत्तियों के हस्तांतरण में 9.29 लाख रुपये की ई-स्टांप ड्यूटी अदा की गई। इस प्रकिया को दो चरणों में पूरा किया गया। इसके तहत एक पक्ष ने आठ जुलाई तो दूसरे पक्ष ने 10 जुलाई को रजिस्ट्री की। यह विनिमय पत्र राज्यपाल की स्वीकृति पर बना। स्थानीय स्तर पर राज्य सरकार का प्रतिनिधित्व नोडल अधिकारी व मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर सुनील कुमार वर्मा ने प्रथम पक्ष के तौर किया।

यह जमीन ज्ञानवापी मस्जिद से महज सवा सौ फीट दूर

वहीं, द्वितीय पक्ष के तौर अंजुमन इंतजामिया मसाजिद वाराणसी बजरिए सेक्रेटरी अब्दुल बातिन नोमानी ने दस्तावेज पर हस्ताक्षर किए। सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड की यह जमीन ज्ञानवापी मस्जिद से महज सवा सौ फीट दूर है। विधिक कार्यवाही पूरा होने के साथ ही श्रीकाशी विश्वनाथ कारिडोर निर्माण में लगी कंपनी ने कब्जे में ले लिया है।

जमीन पर प्रशासन ने कंट्रोल रूम किया स्थापित

जमीन पर बने ढांचागत निर्माण को गिराने का कार्य शुरू हो गया है। सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने अपनी इस जमीन को वर्ष 1993 में स्थानीय प्रशासन को सौंप दिया था। इस जमीन पर प्रशासन ने कंट्रोल रूम स्थापित किया है। अंजुमन इंतजामिया मसाजिद ने स्पष्ट किया है कि इस जमीन का संबंध ज्ञानवापी मस्जिद से नहीं है। सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड की ओर से अंजुमन इंतजामिया मसाजिद ने हस्तांतरण प्रक्रिया को पूर्ण कराया है।

यह भी पढ़े —पटाखों की बिक्री और उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध हटाने से सुप्रीम कोर्ट ने किया इन्कार

जमीन का ज्ञानवापी मस्जिद से कोई ताल्लुक नहीं

 एक हजार वर्ग फीट जमीन अंजुमन इंतजामिया मसाजिद को दी गई है। इसके बदले एक हजार वर्ग फीट जमीन श्रीकाशी विश्वनाथ कारिडोर को मिली है। इसके लिए सहमति पहले बन चुकी थी। विधिक प्रक्रिया पूरी कर ली गई है।

इस जमीन का ज्ञानवापी मस्जिद से कोई ताल्लुक नहीं है। यह सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड की जमीन थी, जिसे 1993 में स्थानीय प्रशासन को सौंपा गया था। इस पर कंट्रोल रूम बना है। सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के बिहाफ पर इस जमीन के बदले अंजुमन इंतजामिया मसाजिद को बांसफाटक के पास 1000 वर्ग फीट जमीन मिली है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|