Strong earthquake tremors in Philippines, magnitude 6.8 on Richter scale
दुनिया

फिलीपींस में भूकंप के तेज झटके, रिक्टर स्केल पर 6.8 रही तीव्रता

khaskhabar/फिलीपींस में सुबह-सुबह धरती हिलने से हड़कंप मच गया है. राजधानी मनीला में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 6.8 दर्ज की गई .हालांकि भूकंप की वजह से किसी भी तरह के नुकसान की कोई सूचना नहीं है. जून में मध्य फिलीपींस में एक अशांत ज्वालामुखी फट गया था.

khaskhabar/फिलीपींस में सुबह-सुबह धरती हिलने से हड़कंप मच गया है. राजधानी मनीला में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 6.8 दर्ज की गई
Posted by khaskhabar

फिलीपींस में सुबह-सुबह धरती हिलने से हड़कंप मच गया

इस ज्वालामुखी से इतनी राख निकली कि आसमान में कम से कम 1 किमी तक राख के बादल दिखाई दिए थे. अधिकारियों ने माउंट बुलुसन पर अलर्ट बढ़ा दिया था.फिलीपींस में सुबह-सुबह धरती हिलने से हड़कंप मच गया है. राजधानी मनीला में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 6.8 दर्ज की गई है. हालांकि भूकंप की वजह से किसी भी तरह के नुकसान की कोई सूचना नहीं है.

भूकंप का केंद्र मनीला से करीब 336 किलोमीटर दूर उत्तर की ओर था

नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी (National Center for Seismology) के मुताबिक भूकंप के झटके फिलीपींस की राजधानी मनीला में महसूस किए गए. हालांकि इस भूकंप का केंद्र मनीला से करीब 336 किलोमीटर दूर उत्तर की ओर था. भूकंप की गहराई केंद्र में 10 किमी मापी गई है.  बीते महीने यानी जून में मध्य फिलीपींस (Philippines) में एक अशांत ज्वालामुखी फट गया था. इस ज्वालामुखी से इतनी राख निकली कि आसमान में कम से कम 1 किमी तक राख के बादल दिखाई दिए थे.

माउंट बुलुसन पर पांच लेवल वाले पैमाने पर अलर्ट को 0 से 1 पर बढ़ा दिया

अधिकारियों ने माउंट बुलुसन (Mount Bulusan) पर अलर्ट बढ़ा दिया था. साथ ही नागरिकों को खतरे वाले इलाके में प्रवेश न करने की हिदायत दी गई थी. फिलीपींस इंस्टीट्यूट ऑफ वोल्केनोलॉजी एंड सीस्मोलॉजी (Philippine Institute of Volcanology and Seismology) ने माउंट बुलुसन पर पांच लेवल वाले पैमाने पर अलर्ट को 0 से 1 पर बढ़ा दिया है. इसका मतलब यह है कि मौजूदा समय में यह ज्वालामुखी ‘असामान्य स्थिति’ (Abnormal condition) में है. 

बुलुसन के विस्फोट को ‘फ्रीऐटिक’ (Phreatic) या भाप से भड़कने वाला बताया

संस्थान का कहना है कि ज्वालामुखी विस्फोट से पहले 24 घंटे में 77 ज्वालामुखीय भूकंप दर्ज भी किए गए थे. संस्थान के प्रमुख रेनाटो सॉलिडम (Renato Solidum) ने बुलुसन के विस्फोट को ‘फ्रीऐटिक’ (Phreatic) या भाप से भड़कने वाला बताया है, जो कि बुलुसन ज्वालामुखी की विशेषता है.

यह भी पढ़े —Neeraj Chopra: नीरज चोपड़ा कॉमनवेल्थ गेम्स से बाहर, भारत की उम्मीदों को लगा तगड़ा झटका

राख के विशालकाय बादल ने आसमान का रंग नीले से ग्रे में बदल दिया था

बुलुसन से निकली राख के विशालकाय बादल ने आसमान का रंग नीले से ग्रे में बदल दिया था. संस्थान का कहना है कि फिलीपींस में 24 सक्रिय ज्वालामुखी हैं, जिनमें बुलुसन भी एक है. बुलुसन आखिरी बार जून 2017 में फटा था. फिलीपींस प्रशांत क्षेत्र ‘रिंग ऑफ फायर’ (Ring of Fire) में है, जहां ज्वालामुखी गतिविधियां और भूकंप आना बहुत आम हैं.

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है
 |