story-newspaper-revealing-george-floyd-s-murder-gets-pulitzer-honor
दुनिया

18 साल की लड़की को मिला पुलित्जर सम्मान, जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या का खुलासा करने वाला बनाया था वीडियो

Khaskhabar/पुलित्जर प्राइज बोर्ड ने एक युवा लड़की को अमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या का वीडियो बनाने के लिए खास तौर पर जिक्र करते हुए सम्मानित किया है। 2020 में जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिसकर्मी ने हत्या कर दी थी जिसके बाद अमेरिका के कई शहरों में दंगे भड़क उठे थे। एक पुलिसकर्मी ने जॉर्ज की हत्या कर दी थी जिसके बाद अमेरिका के कई शहरों में दंगे भड़क उठे थे।  

Khaskhabar/पुलित्जर प्राइज बोर्ड ने एक युवा लड़की को अमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या का वीडियो बनाने के लिए खास तौर पर जिक्र करते हुए सम्मानित किया है। 2020 में जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिसकर्मी ने हत्या
Posted by khaskhabar

वीडियो बनाने वाली किशोरी का जिक्र

2021 के प्रतिष्ठित पुलित्जर पुरस्कार समारोह में 18 साल के डार्नेला फ्रेजियर को खास तौर पर मिनियापोलिस के पुलिस अधिकारी द्वारा जॉर्ज की हत्या की घटना का वीडियो बनाने के लिए सम्मानित किया गया।   फ्रेजियर का जिक्र करते हुए कहा गया है- डार्नेला फ्रेजियर ने जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या का वीडियो बनाने का साहसिक कार्य किया है। इस वीडियो के दुनिया के सामने आने के बाद पुलिस की क्रूरता का लोगों को पता चला। साथ ही सच को सामने लाने के लिए सिटीजन जर्नलिस्ट की अहम भूमिका का महत्व भी समझ में आया। 

प्रकाशक जोसेफ पुलित्जर ने 1917 में इसकी की थी शुरुआत

पुलित्जर पुस्कार को अमेरिका में पत्रकारिता क्षेत्र के सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार के रूप में देखा जाता है। मशहूर अखबार प्रकाशक जोसेफ पुलित्जर ने 1917 में इसकी शुरुआत की थी। कोविड-19 महामारी और फ्लॉयड की हत्या के बाद देश-दुनिया में हुए विरोध-प्रदर्शन से जुड़ी खबरें साझा करने वाले कई अन्य मीडिया संस्थानों को भी सम्मानित किया गया। सभी विजेताओं को 15 हजार डॉलर (लगभग 11.25 लाख रुपये) का नगद इनाम दिया जाएगा।

यह भी पढ़े –ईडी ने भारत के सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज वज़ीरएक्स के खिलाफ फेमा एक्ट के उल्लंघन पर जारी किया नोटिस

जॉर्ज फ्लॉयड की मौत का मामला

मई 2020 में 46 वर्षीय अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की मिनियापोलिस में तब मौत हो गई थी जब एक पुलिसकर्मी ने मामूली बात पर उसे धर दबोचा और उसकी गर्दन जोर दे दबाए रखी। इससे उसकी मौत हो गई  थी। एक वीडियो वायरल हुथा जिसमें देखा गया था  कि मिनियापोलिस के पुलिसकर्मी ने जॉर्ज फ्लॉयड की गर्दन पर अपने घुटने रख दिए थे।

जॉर्ज फ्लॉयड के हाथ बंधे हुए थे, हाथों में हथकड़ी लगी थी लेकिन श्वेत पुलिसवाले ने करीब आठ मिनट तक अपना घुटना जॉर्ज फ्लॉयड की गर्दन पर रखा। इस दौरान जॉर्ज फ्लॉयड कहता रहा कि उसे सांस लेने में दिक्कत हो रही है लेकिन पुलिसकर्मी ने एक ना सुनी

वीडियो के वायरल होने से अमेरिका में लोगों के बीच भारी रोष फैल  गया

इस वीडियो के वायरल होने से अमेरिका में लोगों के बीच भारी रोष फैल  गया और अमेरिका के कई शहरों में दंगे भड़क उठे थे। जॉर्ज फ्लॉयड को इसलिए गिरफ्तार किया गया था क्योंकि उस पर एक स्थानीय दुकान में नकली 20 डॉलर के नोट का इस्तेमाल करने का आरोप था।  

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|