State transport workers attacked Sharad Pawar's house, expressed anger by throwing stones and slippers
राष्ट्रीय

शरद पवार के घर पर राज्य परिवहन कर्मचारियों ने बोला हमला, पत्थर और चप्पल फेंक जताया गुस्सा

Khaskhabar/राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार के घर पर आज महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (एमएसआरटीसी) के कर्मचारियों ने अचानक हमला बोल दिया। उन्होंने पवार के घर पर पथराव किया और जूते-चप्पल फेंके। कर्मचारियों की मांग है कि उनके महामंडल का विलय राज्य सरकार में किया जाए। बता दें कि शरद पवार दक्षिण मुंबई के ब्रीच कैंडी क्षेत्र में सिल्वर ओक नामक बंगले में रहते हैं।

Khaskhabar/राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार के घर पर आज महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (एमएसआरटीसी) के कर्मचारियों ने अचानक हमला बोल दिया।
Posted by khaskhabar

महाविकास आघाड़ी सरकार एवं शरद पवार के खिलाफ नारेबाजी

शुक्रवार यानी आज शाम करीब चार बजे महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम के कर्मचारी कई समूहों में उनके बंगले के सामने जा पहुंचे और महाविकास आघाड़ी सरकार एवं शरद पवार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे।अपने घर के बाहर MSRTC के विरोध पर NCP प्रमुख शरद पवार ने कहा उन्हें गुमराह किया जा रहा है। एसटी कर्मचारी और हमारा बहुत पुराना रिश्ता है, पिछले 40-50 वर्षों में मैंने उनके साथ कोई सत्र नहीं छोड़ा है।

बंगले के निकट पहुंचकर कर्मचारियों ने बंगले पर पथराव किया और जूते-चप्पल भी फेंके

इस बार विरोध को गलत रास्ता दिखाया गया और उसका परिणाम आज की घटना है। MSRTC कर्मचारीयों का गुस्सा बेकाबू हो गया, जब उन्होंने बंगले के निकट सुरक्षा के लिए लगाई गई बैरीकेड्स भी तोड़ दी। बंगले के निकट पहुंचकर कर्मचारियों ने बंगले पर पथराव किया और जूते-चप्पल भी फेंके।

आंदोलनरत कर्मचारियों से बातचीत के जरिए उनकी समस्या का हल निकालने की अपील

हमले के दौरान शरद पवार की बेटी एवं सांसद सुप्रिया सुले खुद बंगले से बाहर आईं और उग्र कर्मचारियों को शांत करने की कोशिश करती दिखीं। उन्होंने आंदोलनरत कर्मचारियों से बातचीत के जरिए उनकी समस्या का हल निकालने की अपील की।MSRTC आंदोलनकारियों का विरोध शांत करने के लिए शरद पवार की बेटी एवं सांसद सुप्रिया सुले उग्र भीड़ के सामने आकर उन्हें समझाने की कोशिश की।

मुंबई पुलिस की शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने समय पर कार्रवाई की

उन्होंने आंदोलनकारियों से कहा कि मैं आपसे हाथ जोड़कर विनती कर रही हूं कि कृपया शांत रहिए। मेरे माता-पिता और बच्चे घर पर हैं। इस तरह का व्यवहार न करें।बाद में सुप्रिया सुले ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि महाराष्ट्र में ऐसा होते मैं पहली बार देख रही हूं। मैं मुंबई पुलिस की शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने समय पर कार्रवाई की। नहीं तो आज कुछ दुर्भाग्यपूर्ण हो सकता था। बता दें कि शरद पवार के घर पहुंचे 100 से अधिक आंदोलनकारियों में महिलाएं भी शामिल थीं।

हमले से खुफिया विभाग की विफलता पर भी सवाल उठाए जा रहे

बता दें कि शरद पवार को जेड-प्लस श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त है। अब इस हमले से खुफिया विभाग की विफलता पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं। पवार के बंगले पर हुए हमले के बाद राज्य के गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटिल एवं राज्य सरकार में पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे उनसे मिलने उनके घर पहुंचे। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी पवार से फोन पर बात की। शिवसेना नेता संजय राउत ने भी तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि लोकतंत्र में इस प्रकार का प्रदर्शन शोभा नहीं देता।

यह भी पढ़े —पाकिस्तान में राजनीतिक घमासान के बीच इमरान खान आज राष्ट्र को करेंगे संबोधित

कर्मचारी पिछले कई महीनों से अपने निगम को राज्य सरकार में विलीन करने की मांग करते हुए हड़ताल पर

एमएसआरटीसी के कर्मचारी पिछले कई महीनों से अपने निगम को राज्य सरकार में विलीन करने की मांग करते हुए हड़ताल पर हैं। सरकार की तरफ से कई बार अपील की जा चुकी है। लेकिन वे हड़ताल खत्म करने को राजी नहीं है। आज इस हमले के बाद खुद शरद पवार ने भी कहा कि वे हमेशा एमएसआरटीसी कर्मचारियों के साथ रहे हैं। लेकिन गलत नेतृत्व के साथ नहीं हैं। 

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|