फिल्म जगत

Sonu Sood ने मां सरोज सूद के नाम गरीब बच्चों के लिए किया स्कॉलरशीप का ऐलान

Khaskhabar/Sonu Sood :ने टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए गए इंटरव्यू के दौरान बताया कि,”पिछले कुछ महीनों में मैंने देखा है कि कैसे गरीब बच्चे अपनी पढ़ाई का खर्च देने में असमर्थ हैं. कुछ गरीब बच्चों के पास ऑनलाइन क्लासेज में शामिल होने के लिए फोन, टैबलेट या लैपटॉप तक नहीं हैं जबकि कुछ के पास फीस ही जमा करने के लिए पैसे नहीं हैं|

Khaskhabar/Sonu Sood :ने टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए गए इंटरव्यू के दौरान बताया कि,"पिछले कुछ महीनों में मैंने
Posted by khaskhabar

इसलिए मैंने देशभर की कुछ यूनिवर्टीज से बातचीत की है ताकि वह मेरी मां प्रोफेसर सरोज सूद के नाम पर इन गरीब बच्चों को स्कॉलरशिप दें. मैं पंजाब के मोंगा जिले में फ्री में पढ़ा करता था. मां ने कहा था कि इस काम को आगे ले जाना है और मुझे लगता है कि इसका यही सही समय है.”

कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सरकार ने पूरे देशभर में सरकार द्वारा लॉकडाउन (Lockdown) घोषित किया गया था। लॉकडाउन के चलते गरीब मजदूर और प्रवासी मजदूरों के देवता बनकर सोनू सूद (Sonu Sood) ने देश के अलग-अलग हिस्सों में फंसे लोगों को घर पहुंचाने में मदद की।

इतना ही नहीं बल्कि सीएम केअर फंड और पीएम केअर फंड में भी दान कर अपना योगदान दिया। रील लाइफ के विलन सोनू रियल लाइफ में जरुरतमंदों के लिए हीरो बन गए। वहीं अब सोनू गरीब बच्चों के उज्ज्वल भविष्य के लिए अपनी मां प्रोफ़ेसर सरोज सूद (Saroj Sood) के नाम पर स्कॉलरशीप शुरू करने का ऐलान किया हैं।

पंजाब के मोंगा जिले में फ्री में पढ़ा करता

इसलिए मैंने देशभर की कुछ यूनिवर्टीज से बातचीत की है ताकि वह मेरी मां प्रोफेसर सरोज सूद के नाम पर इन गरीब बच्चों को स्कॉलरशिप दें। मैं पंजाब के मोंगा जिले में फ्री में पढ़ा करता था. मां ने कहा था कि इस काम को आगे ले जाना है और मुझे लगता है कि इसका यही सही समय है.”

सोनू सूद ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर भी इस बात की पुष्टी करते हुए लिखा,”हिंदुस्तान बढ़ेगा तभी, जब पढेंगे सभी. हमारा भविष्य हमारी काबिलियत और मेहनत तय करेगी ! हम कहाँ से हैं , हमारी आर्थिक स्थिति का इस से कोई सम्बन्ध नहीं. मेरी एक कोशिश इस तरफ – स्कूल के बाद की पढ़ाई के लिए फुल स्कॉलरशीप – ताकि आप आगे बढ़ें और देश की तरक्की में योगदान दें।

यह भी पढ़े —Anuradha Paudwal: सिंगर अनुराधा पौडवाल के बेटे आदित्य का 35 साल की उम्र में निधन

बता दें कि सोनू सूद द्वारा प्रस्तुत स्कॉलरशिप कार्यक्रम कई पाठ्यक्रमों के लिए उपलब्ध होगा और इसमें डाटा विज्ञान, पत्रकारिता और व्यावसायिक अध्ययन, दवाइयां, कृत्रिम बुद्धिमत्ता, रोबोटिक्स और एनिमेशन शामिल हैं। जिन परिवारों की वार्षिक पगार 2 लाख रुपये से कम है, वे छात्र इस स्कॉलरशिप के लिए आवेदन कर सकते हैं।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar
फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|