Russia attacked Europe's largest nuclear plant Zaporizhzhia
राष्ट्रीय

रूस ने किया यूरोप के सबसे बड़े  न्यूक्लियर पावर प्लांट Zaporizhzhia पर हमला

Khaskhabar/रूस हमलों के कारण शुक्रवार तड़के यूरोप के सबसे बड़े न्यूक्लियर पावर प्लांट जपोरीझिया (Zaporizhzhia) में आग लग गई। न्यूक्लियर पावर प्लांट धू धू कर जलने लगा।  यूक्रेन में फरवरी अंत से जारी रूसी हमलों के कारण वहां मौजूद लोग संकट से घिर गए हैं।

Khaskhabar/रूस हमलों के कारण शुक्रवार तड़के यूरोप के सबसे बड़े न्यूक्लियर पावर प्लांट जपोरीझिया (Zaporizhzhia) में आग लग गई। न्यूक्लियर पावर प्लांट धू धू कर जलने लगा
ukraine nuclear power plant-Posted by khaskhabar

अधिकारियों के बीच इस संकट के समाधान के लिए वार्ता जारी

इस क्रम में जंग के सातवें दिन उत्तरी यूक्रेन के चेर्निहीव में रूसी हमले के कारण 30 से अधिक मौतें दर्ज की गई हैं।दोनों देशों के अधिकारियों के बीच इस संकट के समाधान के लिए वार्ता जारी है। कीव और मास्को के बीच दो बार की वार्ता भी हो चुकी है। अब तीेसरे दौर की वार्ता भी जल्द ही होने के संकेत हैं।

कारिडोर के निर्माण को लेकर दोनों देशों में आपसी सहमति बन गई

दूसरी वार्ता में सीजफायर को लेकर कुछ संकेत दिए गए हैं साथ ही लोगों की सुरक्षित निकासी के लिए कारिडोर के निर्माण को लेकर दोनों देशों में आपसी सहमति बन गई है।यूक्रेन में रूस की सैन्य कार्रवाई के कारण लगाए जा रहे प्रतिबंधों वाली लिस्ट बड़ी ही होती जा रही है। इस क्रम में अब विंटर ओलिंपिक्स में एथलीटों पर रोक लगा दी गई है। 

रूस में फेसबुक व अनेक मीडिया वेबसाइटों को खोलने में परेशानी आ रही

व्हाइट हाउस के अनुसार अमेरिका 19 अमीर कारोबारियों, उनके परिवार वालों और सहयोगियों के खिलाफ वीजा प्रतिबंध भी लगाएगा। इसके अलावा रूस में फेसबुक व अनेक मीडिया वेबसाइटों को खोलने में परेशानी आ रही है।चेक गणराज्य (Czech Republic) भी यूक्रेन को सैन्य सहायता उपलब्ध कराएगा। इसमें हल्के हथियार भी शामिल होंगे।

उत्तरी यूक्रेन के चेर्निहीव में रूसी हमले के कारण 22 मौतें दर्ज की गई

यहां के रक्षा मंत्रालय ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट पोस्ट कर यह जानकारी साझा की।बता दें कि आज जंग के सातवें दिन उत्तरी यूक्रेन के चेर्निहीव में रूसी हमले के कारण 22 मौतें दर्ज की गई हैं। ऐसे में वहां मौजूद लोगों की सुरक्षित निकासी को लेकर कीव और मास्को ने  कारिडोर (Humanitarian Corridors) के निर्माण की सहमति दी है। दोनों देशों के बीच हुई दूसरे दौर की वार्ता में यह फैसला लिया गया है।

जो देश में हैं वे राकेट और बमबारी का सामना कर रहे

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार अब तक यूक्रेन से अपने घरों को छोड़ निकलने वाले लोगों का आंकड़ा एक मिलियन हो चुका है और जो देश में हैं वे राकेट और बमबारी का सामना कर रहे हैं।यूक्रेनी राष्ट्रपति के सलाहकार माइखायलो पोडोल्याक ने कहा कि दोनों पक्ष अस्थायी सीजफायर को लेकर सहमत हुए हैं ताकि देश से लोगों को सुरक्षित निकाला जा सके।

यह भी पढ़े —यूक्रेन छोड़ चुके हैं 18 हजार भारतीय, अगले 24 घंटों में 18 और फ्लाइटें निर्धारित

युद्धग्रस्त इलाके हैं वहां दवाईयों व खानों की डिलीवरी को लेकर भी समझौत किया गया

इसके लिए humanitarian corridors बनाने की सहमति भी दी है। इसके अलावा जो युद्धग्रस्त इलाके हैं वहां दवाईयों व खानों की डिलीवरी को लेकर भी समझौत किया गया है। राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने पहले ही कहा था कि कीव और मास्को मिलकर जंग से इतर कोई और राह निकाल सकते हैं यदि क्रेमलिन भरोसे के साथ वार्ता के लिए तैयार हो।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|