Uncategorized राष्ट्रीय

Rahat Indori:मशहूर शायर राहत इंदौरी का निधन,जिनकी मशहूर शायरी में से एक है- ‘बुलाती है मगर जाने का नहीं’

Khaskhabar/Rahat Indori:देश के जाने माने कवि राहत इंदौरी मंगलवार की शाम को इस दुनिया को अलविदा कह गए। हार्ट अटैक के कारण राहत इंदौरी की मृत्यु हुई है। हालांकि वह कोरोना से संक्रमित भी हो गए थे।इंदौर के अरबिंदो अस्पताल में उनका कोरोना का इलाज भी चल रहा था। कोरोना से संक्रमित पाए जाने के बाद उन्हें अरबिंदो अस्पताल में थे भर्ती कराया गया था। राहत इंदौरी ने मंगलवार सुबह खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी थी।

Rahat Indori, 70, passes away; had tested Covid-19 positive | Books and  Literature News,The Indian Express
Posted by khaskhabar

उन्हें आज रात 9.30 बजे सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा।राहत इंदौरी ने मंगलवार सुबह ट्वीट कर कहा, ‘कोविड के शरुआती लक्षण दिखाई देने पर कल मेरा कोरोना टेस्ट किया गया, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। ऑरबिंदो हॉस्पिटल में एडमिट हूं। दुआ कीजिए जल्द से जल्द इस बीमारी को हरा दूं। ‘ इसके साथ ही उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा है कि एक और इल्तेजा है, मुझे या घर के लोगों को फोन ना करें, मेरी खैरियत ट्विटर और फेसबुक पर आपको मिलती रहेगी।

शायर होने के साथ ही बॉलीवुड के चर्चित संगीतकार

बता दें कि राहत इंदौरी उर्दू के मशहूर शायर होने के साथ ही बॉलीवुड के चर्चित संगीतकार थे। उनका जन्म 1 जनवरी 1950 को इंदौर में रफतुल्लाह कुरैशी के घर पर हुआ था। वे एक कपड़ा मिल में काम करते थे. उनकी मां का नाम मकबूल उन निसा बेगम था। उन्होंने इंदौर के नूतन स्कूल से 10वीं की परीक्षा पूरी की। इसके बाद इंदौर के ही इस्लामिया करीमिया कॉलेज से उन्होंने स्नातक और भोपाल की बरकतुल्लाह यूनिवर्सिटी से उर्दू में स्नातकोत्तर किया |

Noted Urdu Poet Rahat Indori Tests Positive for Covid-19, Admitted to  Hospital
Posted by khaskhabar

मुशायरे और कवि सम्मेलन

उन्होंने मध्य प्रदेश की भोज यूनिवर्सिटी से उर्दू साहित्य में पीएचडी की. वे एक अच्छे पेंटर भी थे। वे पिछले करीब 45 सालों से मुशायरे और कवि सम्मेलनों की जान बने हुए थे। उनकी लोकप्रियता का आलम ये था कि उन्हें भारत ही नहीं दुनिया के अन्य हिस्सों से भी निमंत्रण मिलते रहते थे। वे मुशायरे और कवि सम्मेलनों के लिए अमेरिका, ब्रिटेन, संयुक्त अरब अमीरात, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, सिंगापुर, मॉरीशस, कुवैत, कतर, बहरीन, ओमान, पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल समेत कई देशों में जा चुके थे।कुमार विश्वास ने उनके जल्द ठीक होने की कामना भी की थी।

यह भी पढ़ेरूस ने बनाई दुनिया की पहली कोरोनावायरस की वैक्सीन, जानिए सबसे पहले किसको लगाई गयी

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दुख व्यक्त किया

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दुख व्यक्त किया है। केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि मशहूर शायर राहत इंदौरी साहब के निधन की खबर जानकर बेहद दुख हुआ। आज देश ने एक महान शख्सियत को खो दिया। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें और परिवार को इस दुख को सहने की शक्ति दें।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar
फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|