Private schools will have to return 15 percent fees, Delhi government gives big relief to parents
राष्ट्रीय

प्राइवेट स्‍कूलों को लौटानी होगी 15 फीसद फीस,दिल्‍ली सरकार ने अभिभावकों को दी बड़ी राहत

Khaskahbar/कोरोना काल में आर्थिक तंगी झेल रहे अभिभावकों को राहत देते हुए दिल्ली सरकार ने सभी निजी स्कूलों को शैक्षणिक वर्ष 2020-21 में चार्ज किए गए फीस में 15 फीसद की कटौती करने का आदेश दिया है। अभिभावकों के मन से प्राइवेट स्कूलों के फीस संबंधी भ्रम को दूर करने  के लिए उदाहरण के लिए, यदि वित्त वर्ष 2020-21 में स्कूल की मासिक फीस रु. 3000 रही है तो स्कूल उसमें 15 फीसद की कटौती करने के बाद अभिभावकों से केवल 2550 रुपये ही चार्ज करेंगे।

Khaskahbar/कोरोना काल में आर्थिक तंगी झेल रहे अभिभावकों को राहत देते हुए दिल्ली सरकार ने सभी निजी स्कूलों को शैक्षणिक वर्ष 2020-21 में चार्ज किए गए फीस में 15 फीसद की कटौती करने का आदेश दिया है।
Posted by khaskahbar

सभी प्राइवेट स्कूलों को ये निर्देश दिया गया है कि यदि स्कूलों ने अभिभावकों से इससे ज़्यादा फीस ली है तो स्कूलों को वो फीस लौटाना होगा अथवा आगे के फीस में एडजस्ट करना होगा।

दिल्ली सरकार ने प्राइवेट स्कूलों पर लागू किया हाई कोर्ट का आदेश

 हाई कोर्ट द्वारा प्राइवेट स्कूलों की फीस में 15 फीसद की कटौती करने का आदेश कोरोना के समय में मुनाफाखोरी और व्यावसायीकरण को रोकने के लिए दिया गया है। दिल्ली सरकार द्वारा निर्देशित यह आदेश उन सभी 460 प्राइवेट स्कूलों के लिए , जिन्होंने उच्च न्यायालय में अपील की थी।

इन 460 स्कूलों के अतिरिक्त दिल्ली के बाकी सभी स्कूल दिल्ली सरकार द्वारा 18 अप्रैल 2020 और 28 अप्रैल 2020 में फीस संबंधी जारी किए गए निर्देश का पालन किया जाएगा। फीस में कटौती कोरोना के समय में सभी छात्रों और अभिभावकों के लिए एक बड़ी राहत है।

यह भी पढ़े —LPG सिलेंडर की कीमतो ने छुआ आसमाँ,बिना सब्सिडी वाले घरेलू LPG सिलेंडर के साथ कमर्शियल भी हुआ महंगा

आर्थिक तंगी से जूझ रहे अभिभावकों को बड़ी राहत

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा है कि कोरोना काल में जब सभी पैरेंट्स आर्थिक तंगी से जूझ रहे है उस दौरान फीस में 15 फीसद की कटौती उनके लिए बहुत बड़ी राहत होगी। स्कूल मैनेजमेंट पैरेंट्स की आर्थिक तंगी के कारण बकाया का भुगतान न करने के आधार पर स्कूल की किसी भी गतिविधि में विद्यार्थियों को भाग लेने से नहीं रोकेगा।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|