Prime Minister called for a meaningful discussion about the corona epidemic in Parliament on Monday
राष्ट्रीय

प्रधानमंत्री ने सोमवार को संसद में कोरोना महामारी के बारे में सार्थक चर्चा का किया आह्वान

Khaskhabar/प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को संसद में कोरोना महामारी के बारे में सार्थक चर्चा का आह्वान किया। महामारी से पूरी दुनिया परेशान है। महामारी के खिलाफ भारत का टीकाकरण अभियान तेजी से आगे बढ़ रहा है।

Khaskhabar/प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को संसद में कोरोना महामारी के बारे में सार्थक चर्चा का आह्वान किया। महामारी से पूरी दुनिया परेशान है।

कोरोना टीकाकरण नीति और महामारी पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को लोकसभा और राज्यसभा में सभी दलों के नेताओं के साथ बैठक कर सकते हैं। बैठक में कोरोना से निपटने को लेकर एक प्रस्तुति (Presentation) दी जाएगी। यह जानकारी समाचार एजेंसी एएनआइ ने अपने सूत्रों के हवाले से दी है।

बाहुबली बनने का एक ही तरीका है कि टीका लगवाएं

संसद के मानसून सत्र में पीएम मोदी ने कहा ‘कोविड -19 वैक्सीन ‘बाहु’ (बाहों) में दी जाती है, और जो इसे लेते हैं वे ‘बाहुबली’ बन जाते हैं। कोरोना से लड़ने के लिए बाहुबली बनने का एक ही तरीका है कि टीका लगवाएं। कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में 40 करोड़ से ज्यादा लोग ‘बाहुबली’ बन चुके हैं। इसे तेजी से आगे बढ़ाया जा रहा है।’

महामारी पर बहस को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जानी चाहिए

पीएम मोदी ने कहा कि महामारी पर बहस को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जानी चाहिए ताकि सरकार को संसद सदस्यों (सांसदों) से व्यावहारिक सुझाव मिल सकें।

उन्होंने कहा ‘अगर कुछ कमियां हैं, तो उन्हें सुधारा जा सकता है और हम इस लड़ाई में एक साथ आगे बढ़ सकते हैं। मैंने सभी फ्लोर नेताओं से भी अनुरोध किया है कि मंगलवार शाम को समय निकालें क्योंकि मैं उन्हें महामारी की स्थिति पर एक विस्तृत प्रस्तुति (Presentation) देना चाहता हूं।’

प्रभावी बहस के साथ मानसून सत्र को परिणाम उन्मुख बनाने का आग्रह

प्रधानमंत्री ने सांसदों से प्रभावी बहस के साथ मानसून सत्र को परिणाम उन्मुख बनाने का आग्रह किया ताकि सरकार लोगों को उनके द्वारा मांगे गए उत्तर दे सके। पीएम मोदी ने कहा ‘मैं सभी माननीय सांसदों और सभी दलों से सबसे कठिन और तीखे प्रश्न पूछने का आग्रह करता हूं। सदनों में लेकिन सरकार को शांतिपूर्ण माहौल में जवाब देने की भी अनुमति देनी चाहिए। जब सच्चाई लोगों तक पहुंचती है तो लोकतंत्र मजबूत होता है।

यह भी पढ़े —उत्तराखंड में एक और बादल फटने से , टिहरी गढ़वाल में कई घर क्षतिग्रस्त

मानसून सत्र 19 जुलाई से 13 अगस्त तक चलेगा

यह लोगों के विश्वास को भी मजबूत करता है और विकास की गति में सुधार करता है।’गौरतलब है कि विपक्षी सदस्यों के हंगामे के बीच आज राज्यसभा और लोकसभा की कार्यवाही स्थगित कर दी गई। मानसून सत्र 19 जुलाई से 13 अगस्त तक चलेगा, जिसमें कई विधेयक पेश किए जाने हैं।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|