power-cut-in-up vidhan bhavan
राष्ट्रीय

राज्यपाल के अभिभाषण के बीच यूपी विधान भवन की गुल हो गई बिजली, तीन अभियंता निलंबित

Khaskhabar/उत्तर प्रदेश में अचानक खराब हुए मौसम की मार आम लोगों के साथ बिजली विभाग के अधिकारियों पर भी पड़ी है। सोमवार को शुरू हुए यूपी विधान मंडल के बजट सत्र के दौरान अचानक बिजली चली गई। बताया जा रहा है कि उस वक्त राज्यपाल के अभिभाषण चल रहा था। इसका खामियाजा बिजली विभाग के तीन अधिकारियों और एक कर्मचारी को भुगतना पड़ा है। 

Khaskhabar/उत्तर प्रदेश में अचानक खराब हुए मौसम की मार आम लोगों के साथ बिजली विभाग के अधिकारियों पर भी पड़ी है। सोमवार को शुरू हुए यूपी विधानमंडल के बजट सत्र के दौरान अचानक बिजली चली
Posted by khakhabar

उपखंड अधिकारी पुष्पेश गिरी और अवर अभियंता अमर राज को निलंबित कर दिया

राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान सोमवार को विधान भवन की बत्ती गुल होने को गंभीरता से लेते हुए शासन ने लखनऊ के विद्युत पारेषण खंड-प्रथम के अधिशासी अभियंता संजय पासवान, उपखंड अधिकारी पुष्पेश गिरी और अवर अभियंता अमर राज को निलंबित कर दिया है, जबकि उपकेंद्र परिचालक (संविदाकर्मी) दीपक शर्मा की सेवाएं समाप्त कर दी गई हैं।

सदन की कार्यवाही के दौरान यूं बिजली गुल होने पर ऊर्जा मंत्री एके शर्मा देर शाम शक्ति भवन मुख्यालय पहुंचे

विधानमंडल के बजट सत्र के पहले दिन विधान सभा मंडप में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अभिभाषण के दौरान कुछ समय के लिए बत्ती गुल हो गई थी। तमाम इंतजाम के बावजूद सदन की कार्यवाही के दौरान यूं बिजली गुल होने पर ऊर्जा मंत्री एके शर्मा देर शाम शक्ति भवन मुख्यालय पहुंचे। उन्होंने प्रमुख सचिव ऊर्जा और उप्र पावर कारपोरेशन के अध्यक्ष एम.देवराज और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ सदन में बिजली गुल होने के कारणों के बारे में जानकारी ली।

प्रबंधन ने इसे गंभीर लापरवाही मानते हुए अधिशासी अभियंता सहित अन्य पर कार्रवाई की

मामले की पड़ताल करने पर पता चला कि तेज आंधी को देखते हुए ट्रांसमिशन उपखंड मार्टिनपुरवा से आपूर्ति ठप कर दी गई थी जिससे बिजली आपूर्ति व्यवस्था प्रभावित हुई। प्रबंधन ने इसे गंभीर लापरवाही मानते हुए अधिशासी अभियंता सहित अन्य पर कार्रवाई की है। प्रमुख सचिव ऊर्जा ने बताया कि संबंधित पारेषण और वितरण खंड के अभियंताओं को निर्देश दिए हैं कि सदन की कार्यवाही के दौरान सभी सतर्क रहें ताकि निर्बाध बिजली आपूर्ति बनी रहे।बता दें कि सोमवार को आंधी व बारिश के कारण पहले सरोजनी नगर लाइन ट्रिप हुई, फिर चिनहट से चलाया गया, वह भी ट्रिप हो गई।

मिनटों में गोमती नगर ट्रांसमिशन से बिजली विधान भवन की सामान्य कर दी गई

विधानसभा सत्र के पहले दिन बिजली की आवाजाही अभियंताओं पर भारी पड़ी। हालांकि, मिनटों में गोमती नगर ट्रांसमिशन से बिजली विधान भवन की सामान्य कर दी गई, लेकिन देर शाम तक चली जांच में तीन अभियंताओं को प्रारंभिक जांच में दोषी पाते हुए निलंबित कर दिया गया।मार्टिनपुरवा ट्रांसमिशन से राजभवन खंड और हुसैनगंज खंड के कई बिजली उपकेंद्र पोषित है।

मार्टिनपुरवा बंद होने से ट्रांसमिशन से जुड़े अभियंताओं में हड़कंप मच गया

लाइनें ट्रिप होने से आधा दर्जन से अधिक बिजली उपकेंद्र की आपूर्ति पूरी तरह से प्रभावित रही। वहीं मार्टिनपुरवा बंद होने से ट्रांसमिशन से जुड़े अभियंताओं में हड़कंप मच गया। क्याेंकि विधानसभा का सत्र चल रहा था। अभियंताओं का तर्क था कि तेज आंधी और बारिश के कारण लाइनें ट्रिप हुई।

यह भी पढ़े —Population Control Law: जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर रामदास आठवले ने राज ठाकरे का किया समर्थन

अभियंताओं से बिजली आपूर्ति और कार्यों को लेकर जानकारी ली

उधर मध्यांचल के प्रबंध निदेशक अनिल ढींगरा ने विश्वविद्यालय, रेजीडेंसी और महानगर खंड का सोमवार की सुबह निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान अभियंताओं से बिजली आपूर्ति और कार्यों को लेकर जानकारी ली। उन्होंने उपभोक्ताओं की समस्याओं को प्राथमिकता पर निस्तारित करने के साथ ही बिलिंग प्रतिशत सौ फीसद करने के साथ ही बिजली आपूर्ति बेहतर बनाए रखने के निर्देश दिए।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है
 |