Political stir intensified on Friday regarding Lakhimpur Kheri incident, Minister of State for Home Ajay Mishra surrounded in the matter
राष्ट्रीय

लखीमपुर खीरी कांड को लेकर शुक्रवार को भी सियासी हलचल तेज,मामले में घिरे गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र

Khaskhabar/उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी कांड को लेकर शुक्रवार को भी सियासी हलचल तेज रही। एक तरफ जहां पूरे मामले में घिरे केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र ‘टेनी’ ने इस वारदात में आरोपित अपने बेटे आशीष मिश्र का बचाव किया तो वहीं विपक्ष उसकी गिरफ्तारी पर अड़ा रहा। अजय मिश्र ने कहा कि उनका पुत्र निर्दोष है और वह शनिवार को पुलिस की क्राइम ब्रांच के सामने पेश होगा। 

Khaskhabar/उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी कांड को लेकर शुक्रवार को भी सियासी हलचल तेज रही। एक तरफ जहां पूरे मामले में घिरे केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र
Posted by khaskhabar

लखीमपुर खीरी में मौन धरने पर बैठ गए

वहीं मंत्री के बेटे को गिरफ्तारी का मांग को लेकर पंजाब कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू पीड़ित परिवारों से मुलाकात करने के बाद लखीमपुर खीरी में मौन धरने पर बैठ गए हैं। इस बीच आशीष मिश्र को पुलिस की नोटिस के बावजूद पेश नहीं होने पर उनके घर पर एक और नोटिस चस्पा कर दिया।

उन्होंने कहा कि मेरे बेटे को कल नोटिस मिली थी

अजय मिश्र लखीमपुर खीरी के सांसद हैं। बैठक में भाग लेने के लिए वीवीआइपी गेस्ट हाउस से मुख्यमंत्री आवास के लिए रवाना होने से पहले मीडिया से संक्षिप्त बातचीत में उन्होंने कहा कि मेरे बेटे को कल नोटिस मिली थी। आज उसका स्वास्थ्य ठीक नहीं है। वह कल पुलिस के सामने पेश होगा और अपना अभिकथन व साक्ष्य आदि प्रस्तुत करेगा। 

भाजपा के अवध क्षेत्र के सांसदों-विधायकों की बैठक

लखीमपुर की घटना में घिरे केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा ‘टेनी’ ने कहा है कि इस वारदात में आरोपित उनका पुत्र आशीष मिश्र उर्फ मोनू निर्दोष है और वह शनिवार को पुलिस की क्राइम ब्रांच के सामने पेश होगा। वह शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ उनके सरकारी आवास पर भाजपा के अवध क्षेत्र के सांसदों-विधायकों की बैठक में शामिल होने के लिए लखनऊ आए थे। 

आशीष मिश्र उर्फ मोनू पुलिस की नोटिस के बावजूद शुक्रवार को पेश नहीं हुए

भाजपा की सरकार निष्पक्ष तरीके से काम करती है। जांच में जो दोषी पाया जाएगा उस पर कार्रवाई होगी। विपक्ष की ओर से केंद्रीय मंत्रिमंडल से अपनी बर्खास्तगी की मांग पर कहा कि विपक्ष तो ऐसी मांग करता ही है।लखीमपुर हिंसा में चार किसानों की हत्या के मुख्य आरोपित और केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र उर्फ मोनू पुलिस की नोटिस के बावजूद शुक्रवार को पेश नहीं हुए। उन्हें सुबह दस बजे पुलिस लाइन में स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम के समक्ष अपना पक्ष रखना था लेकिन टीम आशीष का इंतजार ही करती रही। दोपहर ढाई बजे पता चला कि वह बीमार हैं और आने में असमर्थ हैं।

आशीष की कोठी पर गुरुवार को नोटिस चस्पा किया गया

इसके बाद पुलिस ने उनकी कोठी पर शनिवार को 11 बजे पेश होने के लिए नोटिस चस्पा कर दिया। सीआरपीसी की धारा 160 के तहत बयान दर्ज कराने के लिए आशीष की कोठी पर गुरुवार को नोटिस चस्पा किया गया था। उम्मीद थी कि आशीष पुलिस के सामने अपना पक्ष रखेंगे लेकिन ऐसा न हुआ। दूसरी ओर तिकुनिया हिंसा के दो आरोपितों लवकुश राणा व आशीष पांडेय को क्राइम ब्रांच ने शुक्रवार को सीजेएम अदालत में पेश किया। सीजेएम चिंताराम ने दोनों आरोपितों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेज दिया।

कांग्रेस आपके साथ है और आपकी हरसंभव मदद भी करेगी

पंजाब के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू पीड़ित लखीमपुर खीरी में परिवारों से मुलाकात करने के बाद निघासन में दिवंगत पत्रकार रमन कश्यप के घर के बाहर मौन धरने पर बैठ गए हैं। शुक्रवार शाम यहां पहुंचे सिद्धू ने स्वजन से कहा कि कांग्रेस आपके साथ है और आपकी हरसंभव मदद भी करेगी। सिद्धू ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मेरे लिए संविधान से बड़ा कुछ नहीं, उसी संविधान का कत्ल करने का प्रयास किया गया है। 

बंजारन टाडा में दलजीत सिंह के आवास पर पहुंचे

 पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव शुक्रवार को लखीमपुर खीरी कांड में मृत किसान गुरुविंदर सिंह के बहराइच स्थित गांव मोहरनिया एवं बंजारन टाडा में दलजीत सिंह के आवास पर पहुंचे। उन्होंने पीड़ित परिवार से मिलकर उन्हें ढाढ़स बंधाया। कहा, सपा की सरकार बनने पर परिवार की आर्थिक मदद की जाएगी। न्याय मिलने तक समाजवादी पार्टी पीडि़त परिवार के साथ है। 

यह भी पढ़े —गृह मंत्री अमित शाह व कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा के बीच होगी बैठक,कश्मीर में टारगेट किलिंग

परिवार को न्याय मिलने तक सहयोग देने व मदद करने का भी आश्वासन

 शुक्रवार को पंजाब के शिरोमणि अकाली दल के नेताओं ने लखीमपुर खीरी कांड में मृत किसान लवप्रीत सिंह, पत्रकार रमन कश्यप और धौरहरा के किसान नक्षत्र सिंह के परिवार से मुलाकात की और उनको ढाढ़स बंधाया। प्रतिनिधिमंडल ने परिवार को न्याय मिलने तक सहयोग देने व मदद करने का भी आश्वासन दिया। पूर्व केंद्रीय मंत्री रही हरसिमरत कौर बादल ने किसानों की हत्या को घृणित बताते हुए प्रदेश सरकार पर लापरवाही से काम करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि जब तक केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अपने पद से इस्तीफा नहीं दे देते हैं तब तक पीड़ितों को न्याय नहीं मिल सकता है। 

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|