Petrol Diesel Price reduced
कारोबार राष्ट्रीय

Petrol Diesel Price reduced: पेट्रोल एवं डीजल की कीमतों में कमी के फैसले को पीएम मोदी ने सराहा

khaskhabar/केंद्र सरकार ने ईंधन उत्पादों की लगातार बढ़ती कीमतों से लोगों पर पड़ रहे असर को देखते हुए शनिवार को पेट्रोल एवं डीजल पर लगने वाले उत्पाद शुल्क में बड़ी कटौती करने का एलान किया। वित्‍त मंत्री ने पेट्रोल एवं डीजल पर लगने वाले उत्पाद शुल्क में क्रमशः आठ रुपये एवं छह रुपये प्रति लीटर की कटौती करने की घोषणा की। साथ ही उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों के लिए भी सब्‍स‍िडी का एलान किया।

khaskhabar/केंद्र सरकार ने ईंधन उत्पादों की लगातार बढ़ती कीमतों से लोगों पर पड़ रहे असर को देखते हुए शनिवार को पेट्रोल एवं डीजल पर लगने वाले उत्पाद शुल्क में बड़ी कटौती करने का एलान किया
Posted by khaskhabar

उज्ज्वला योजना ने करोड़ों भारतीयों, खासकर महिलाओं की मदद की

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से किए गए एलान की सराहना की।प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने ट्वीट कर कहा- उज्ज्वला योजना ने करोड़ों भारतीयों, खासकर महिलाओं की मदद की है। उज्ज्वला योजना के लिए सब्सिडी देने के फैसले से लाभार्थियों के बजट में काफी आसानी होगी। पीएम मोदी ने कहा कि हमारे लिए हमेशा ही लोग पहले होते हैं!

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में उल्लेखनीय कमी से विभिन्न क्षेत्रों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेंगे

आज के फैसले, विशेष रूप से पेट्रोल और डीजल की कीमतों में उल्लेखनीय कमी से विभिन्न क्षेत्रों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेंगे। ये हमारे नागरिकों को राहत प्रदान करेंगे और ‘जीवन की सुगमता’ को आगे बढ़ाएंगे।उल्‍लेखनीय है कि केंद्रीय वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण (Union Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने शनिवार को पेट्रोल एवं डीजल पर लगने वाले उत्पाद शुल्क में क्रमशः आठ रुपये एवं छह रुपये प्रति लीटर की कटौती करने की घोषणा की।

सब्सिडी उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को एक साल में 12 गैस सिलिंडरों पर दी जाएगी

इसके साथ ही उन्‍होंने घरों में खाना पकाने के लिए इस्तेमाल होने वाले एलपीजी सिलिंडर पर भी 200 रुपये प्रति सिलिंडर की सब्सिडी देने की घोषणा की। यह सब्सिडी उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को एक साल में 12 गैस सिलिंडरों पर दी जाएगी। 

यह भी पढ़े —भारत में पाया गया ओमिक्रोन का सबवैरिएंट BA.4, कई देशों में इसी से आई है कोरोना की नई लहर

तमाम विपक्षी दल तेल की कीमतों में कटौती की मांग कर रहे

गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों से पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ती रही हैं। इसके अलावा रसोई गैस की कीमतों में भी बढ़ोतरी देखी जा रही है। तेल की कीमतें बढ़ने की वजह से लोगों के बजट पर बुरा असर पड़ रहा था। इसको लेकर तमाम विपक्षी दल तेल की कीमतों में कटौती की मांग कर रहे थे। कांग्रेस लगातार इसे मुद्दा बनाकर सरकार पर हमला कर रही थी।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है
 |