People of Bengal should not forgive the culprits of Birbhum violence: PM Modi
राष्ट्रीय

बीरभूम हिंसा के दोषियों को माफ न करें बंगाल के लोग-पीएम मोदी

Khaskhabar/बंगाल में बीरभूम जिले के रामपुरहाट इलाके के बागडुई में गत सोमवार रात तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेता भादू शेख की हत्या के बाद हुई हिंसा में 10 लोगों को जिंदा जलाने के आरोपितों पर सख्त कार्रवाई की मांग तेज हो गई है। इस मामले में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को दुख व्यक्त करते हुए बंगाल के लोगों से अपील की है कि वे ऐसी जघन्य वारदात करने वालों व ऐसे अपराधियों का हौसला बढ़ाने वालों को कभी माफ न करें।

Khaskhabar/बंगाल में बीरभूम जिले के रामपुरहाट इलाके के बागडुई में गत सोमवार रात तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) नेता भादू शेख की हत्या के बाद हुई हिंसा में 10 लोगों को जिंदा जलाने के आरोपितों
Posted by khaskhabar

मामले की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआइ) से जांच कराने को तैयार

उधर, कलकत्ता हाई कोर्ट ने मामले में स्वत: संज्ञान लेते हुए राज्य सरकार से 24 घंटे में रिपोर्ट मांगी है। केंद्र सरकार ने हाई कोर्ट में कहा कि वह मामले की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआइ) से जांच कराने को तैयार है। मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) और राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने भी पुलिस से कार्रवाई को कहते हुए रिपोर्ट मांगी है।

भारत गैलरी का वर्चुअल उद्घाटन करने के दौरान बीरभूम में हुई हिंसा का जिक्र किया

हिंसा के बाद इलाके में तनाव है। डर की वजह से कई परिवार यहां से पलायन कर गए हैं।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को शहीद दिवस के अवसर पर कोलकाता स्थित विक्टोरिया मेमोरियल हाल में नवनिर्मित बिप्लवी भारत गैलरी का वर्चुअल उद्घाटन करने के दौरान बीरभूम में हुई हिंसा का जिक्र किया। उन्होंने उम्मीद जताई कि बंगाल की महान धरती पर ऐसा जघन्य पाप करने वालों को राज्य सरकार सजा जरूर दिलवाएगी।

पीएम ने कहा कि पीडि़तों के प्रति मेरी गहरी संवेदना

पीएम ने इसके साथ ही कहा कि केंद्र सरकार की तरफ से मैं राज्य को इस बात के लिए आश्वस्त करता हूं कि अपराधियों को जल्द से जल्द सजा दिलाने में जो भी मदद वह चाहेगी, उसे उपलब्ध कराई जाएगी। पीएम ने कहा कि पीडि़तों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है।रामपुरहाट की घटना का स्वत: संज्ञान लेते हुए कलकत्ता हाई कोर्ट ने बुधवार को सुनवाई शुरू कर दी।

सालिसिटर जनरल ने कहा कि जांच के लिए सीबीआइ तैयार

इस दौरान मुख्य न्यायाधीश प्रकाश श्रीवास्तव और न्यायाधीश राजर्षि भारद्वाज की पीठ ने केंद्र के अतिरिक्त सालिसिटर जनरल से पूछा कि क्या मामले की जांच की जिम्मेदारी लेने को सीबीआइ तैयार है। इस पर अतिरिक्त सालिसिटर जनरल ने कहा कि जांच के लिए सीबीआइ तैयार है। इस मामले की सीबीआइ जांच की मांग घटना के बाद से ही हो रही है।

यह भी पढ़े —भारत को लेकर जो बाइडन के बयान से पैदा हुए मनमुटाव को दूर करने के लिए अमेरिका ने जारी किया बयान

गुरुवार दोपहर दो बजे तक वह घटना की स्टेटस रिपोर्ट पीठ में दाखिल करे

कोर्ट ने राज्य सरकार को कहा है कि गुरुवार दोपहर दो बजे तक वह घटना की स्टेटस रिपोर्ट पीठ में दाखिल करे। हाई कोर्ट ने यह भी निर्देश दिया है कि सेंट्रल फारेंसिक साइंस लैबोरेटरी (सीएफएसएल) दिल्ली की टीम जल्द मौके से साक्ष्य एकत्र करे। आगजनी में घायल एक नाबालिग बालक सहित गवाहों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए। पीठ ने निर्देश दिया कि शवों के पोस्टमार्टम की वीडियो रिकार्डिग की जाए। यदि पोस्टमार्टम हो गया है तो सरकार अपनी रिपोर्ट में यह भी बताए कि उनकी वीडियोग्राफी की गई थी या नहीं।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|