Omicron has entered the country, feared by the statement of the Health Minister of Karnataka
स्वास्थ

देश में दाखिल हो चुका है ओमीक्रोन,कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के बयान से आशंका

Khaskhabar/कोरोना के ओमीक्रोन (Omicron) वैरिएंट को लेकर उभर रही चिंताओं के बीच कर्नाटक (Karnatka) के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री के. सुधाकर (K Sudhakara) ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका से हाल ही में बेंगलुरु आए दो लोगों में से एक का नमूना ‘डेल्टा वैरिएंट’ से अलग है। इस व्‍यक्ति में पाया गया वायरस डेल्टा वैरिएंट से अलग दिखता है। वहीं महाराष्‍ट्र के ठाणे में दक्षिण अफ्रीका से लौटे एक शख्स को कोरोना से संक्रमित पाया गया है। 

micron) वैरिएंट को लेकर उभर रही चिंताओं के बीच कर्नाटक (Karnatka) के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री के. सुधाकर (K Sudhakara) ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका
Posted by khaskhabar

32 वर्षीय व्‍यक्ति के नमूने को ‘जीनोम सीक्वेंसिंग’ के लिए भेजा गया

संक्रमित पाए गए इस 32 वर्षीय व्‍यक्ति के नमूने को ‘जीनोम सीक्वेंसिंग’ के लिए भेजा गया है। मध्य प्रदेश बोत्सवाना की एक महिला की तलाश की जा रही है जो 18 नवंबर को जबलपुर आई थी।कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डा. के सुधाकर ने कहा कि पिछले नौ महीनों से केवल डेल्टा स्वरूप के मामले आए हैं लेकिन आप कह रहे हैं कि नमूनों में से एक ओमीक्रोन का वैरिएंट है। 

इसके बारे में आधिकारिक तौर पर कोई ठोस बयान नहीं दे पाएंगे

हालांकि उन्‍होंने यह भी कहा कि वह इसके बारे में आधिकारिक तौर पर कोई ठोस बयान नहीं दे पाएंगे। समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुता‍बिक उन्‍होंने कहा कि मैं आईसीएमआर और केंद्र सरकार के अधिकारियों के संपर्क में हूं। दक्षिण अफ्रीका से आए इस व्‍यक्ति के नमूने को आईसीएमआर के पास भेजा गया है। 

पाया गया वायरस डेल्टा वैरिएंट से अलग दिखता है

यात्री की अभी तक की कोविड जांच रिपोर्ट से पता चलता है कि वह कोरोना के एक अलग वैरिएंट से संक्रमित हुआ है।के. सुधाकर ने कहा कि 63 साल के इस शख्‍स के नाम का खुलासा मैं नहीं करूंगा जिसकी रिपोर्ट थोड़ी अलग है। इसमें पाया गया वायरस डेल्टा वैरिएंट से अलग दिखता है। हम आईसीएमआर के अधिकारियों के साथ चर्चा के बाद ही बता पाएंगे कि यह असल में क्‍या है। 

हमने ओमीक्रोन वैरिएंट पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी

हम मंगलवार को अपने विभाग के प्रमुख सचिव से लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्तर के चिकित्‍सकों के साथ एक बैठक करेंगे। हमने ओमीक्रोन वैरिएंट पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। हमें एक दिसंबर को स्पष्ट जानकारी मिलेगी कि ओमीक्रोन कैसे व्यवहार करता है और इसके अनुरूप हम सभी उपाय शुरू करेंगे।

यात्रियों के प्राथमिक और द्वितीयक संपर्कों का पता लगाना और उनकी जांच करना जारी

डा. के. सुधाकर ने कहा कि हम पिछले 14 दिनों में दक्षिण अफ्रीका से आए सभी लोगों पर करीब से नजर रख रहे हैं। यही नहीं हमने एहतियात के तौर पर इन यात्रियों के प्राथमिक और द्वितीयक संपर्कों का पता लगाना और उनकी जांच करना जारी है। मैंने दक्षिण अफ्रीका में काम कर रहे अपने चिकित्‍सकों से बात की है जिनका कहना है कि ओमीक्रोन वैरिएंट डेल्टा के जितना खतरनाक नहीं है।

यह भी पढ़े —सरकार ने देशभर के सभी उच्च शिक्षण संस्थानों में शिक्षकों के खाली पदों को भरने की शुरू कीएक बड़ी मुहिम

पिछले तीन दिनों से लगातार संक्रमण के नए मामले 10 हजार से कम

इसकी चपेट में आए संक्रमितों को बेचैनी और उल्टी की परेशानियों होती हैं। कभी-कभी BP भी बढ़ जाती है लेकिन इन मरीजों के अस्पताल में भर्ती होने की दर कम है। यही नहीं इनका स्वाद और गंध का अनुभव भी बना रहता है।वहीं स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पिछले तीन दिनों से लगातार संक्रमण के नए मामले 10 हजार से कम मिल रहे हैं। 24 घंटे में 8,309 नए मामले मिले हैं और 236 लोगों की जान गई है इनमें से आधे से अधिक मामले और मौतें अकेले केरल से हैं।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|