justice-nv-ramana-a-farmer-son-will-next-chief-justice-of-india-cm-jagan-mohan-reddy-had-made-serious-allegations
राष्ट्रीय

किसान का बेटा बनेगा देश का अगला चीफ जस्टिस, इस प्रदेश के सीएम ने लगाए थे संगीन आरोप

Khaskhabar/अपने रिटायरमेंट से एक महीने पहले भारत के मौजूदा चीफ जस्टिस ने देश के अगले चीफ जस्टिस के तौर पर सुप्रीम कोर्ट के मोस्ट सीनियर जज जस्टिस एनवी रमना का नाम आगे बढ़ाया है। उन्होंने केंद्र सरकार के पास इसकी सिफारिश भेजी है। रमना पर आंध्र प्रदेश के सीएम की ओर से लगाए गए आरोपों को पैनल की ओर से खारिज कर दिया गया। चीफ जस्टिस एसए बोबडे ने केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद को लिखे पत्र में जस्टिस रमना को चीफ जस्टिस के लिए सबसे उपयुक्त बताया।

Khaskhabar/अपने रिटायरमेंट से एक महीने पहले भारत के मौजूदा चीफ जस्टिस ने देश के अगले चीफ जस्टिस के तौर पर सुप्रीम कोर्ट के मोस्ट सीनियर जज जस्टिस एनवी रमना का नाम आगे बढ़ाया है। उन्होंने केंद्र सरकार के पास इसकी सिफारिश भेजी है।
Posted by khaskhabar

आंध्र के सीएम ने लगाए थे गंभीर आरोप

दरअसल, आंध्र प्रदेश के सीएम जगन मोहन रेड्डी ने सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस एनवी रमना के खिलाफ एसए बोबडे से शिकायत की थी। रेड्डी ने अपनी शिकायत में कहा था कि सुप्रीम कोर्ट में नबंर 2 जज एन.वी.रमन्ना, पूर्व सीएम चंद्रबाबू संग मिलकर सरकार गिराने के प्रयास कर रहे हैं। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने इन-हाउस जांच के बाद आंध्र प्रदेश के सीएम की शिकायत को खारिज कर दिया और इन आरोपों को झूठा,आधारहीन, गलत और न्यायपालिका को ‘धमकाने’ का प्रयास बताया।

देश के 48वें CJI बनेंगे जस्टिस रमना

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एसए बोबडे 23 अप्रैल को रिटायर हो रहे हैं। कानून मंत्रालय को भेजी चिट्ठी में उन्‍होंने जस्टिस रमना को 24 अप्रैल से देश के 48वें CJI के तौर पर नियुक्ति की सिफारिश की है। यानी जस्टिस रमना 24 अप्रैल को देश के चीफ के तौर पर शपथ लेंगे। वह आंध्र प्रदेश से पहले शख्स हैं जो सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस का पद संभालेंगे। हालांकि तेलुगू की बात करें तो वह दूसरे होंगे क्योंकि उनसे पहले के सुब्बा राव सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रह चुके हैं। सुब्बा राव 30 जून 1966 को चीफ जस्टिस बने थे।

यह भी पढ़े—एनिमेटेड अवतार में हो रही है दयाबेन की वापसी,बच्चो के लिए जल्द आएगा तारक मेहता कार्टून

किसान परिवार में हुआ था जन्म

जस्टिस एनवी रमना का जन्म 27 अगस्त 1957 को एक आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले के पोन्नावरम गांव में एक किसान परिवार में हुआ था। 10 फरवरी 1983 को उन्होंने अपना रजिस्ट्रेशन कराया और आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट में प्रैक्टिस शुरू की। उनको 27 जून 2000 को आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट का परमानेंट जज बनाया गया था। 2 सिंतबर 2013 को उन्हें दिल्ली हाई कोर्ट का जस्टिस बनाया गया और 17 फरवरी 2014 को वह सुप्रीम कोर्ट में जज बने। एनवी रमना चीफ जस्टिस एस बोबडे के बाद सबसे सीनियर जज हैं

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|