Many leaders were present in the big meeting at PM Modi's residence including Home Minister Amit Shah, Rajnath and JP Nadda.
राष्ट्रीय

गृह मंत्री अमित शाह, राजनाथ और जेपी नड्डा समेत पीएम मोदी के आवास पर बड़ी बैठक में कई नेता रहे मौजूद

Khaskhabar/पीएम नरेंद्र मोदी के आवास पर रविवार को एक उच्‍च स्‍तरीय बैठक हुई। इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा मौजूद रहे। इस बैठक को लेकर अभी विस्‍तृत जानकारी सामने नहीं आई है। बताया जाता है कि यह बैठक करीब ढाई घंटे तक चली। गौर करने वाली बात है कि पीएम मोदी रविवार को ही अमेरिका दौरे से लौटे हैं। 

Khaskhabar/पीएम नरेंद्र मोदी के आवास पर रविवार को एक उच्‍च स्‍तरीय बैठक हुई। इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा मौजूद
Posted by khaskhabar

दुनिया के सामने प्रतिगामी सोच और चरमपंथ का खतरा बढ़ता जा रहा

प्रधानमंत्री मोदी ने संयुक्त राष्ट्र के मंच से बिना नाम लिए चीन और पाकिस्तान पर जमकर निशाना साधा था। उन्‍होंने कहा था कि मौजूदा वक्‍त में दुनिया के सामने प्रतिगामी सोच और चरमपंथ का खतरा बढ़ता जा रहा है। इन परिस्थितियों में पूरे विश्व को विज्ञान आधारित तर्कसंगत और प्रगतिशील सोच को विकास का आधार बनाना ही होगा।

यूएन को अपनी प्रभावशीलता में सुधार करना चाहिए

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित किया था। अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा था कि यूएन को अपनी प्रभावशीलता में सुधार करना चाहिए और अपनी विश्वसनीयता को बढ़ाना चाहिए। संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र को संबोधित करते हुए मोदी ने आतंकवाद को लेकर पाकिस्‍तान पर परोक्ष रूप से करारा हमला बोला था।

यह भी पढ़े —सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दाखिल, मिशनरी और वैदिक स्कूल के लिए समान शिक्षा संहिता लागू करने की मांग

अफगानिस्तान की भूमि का आतंकी गतिविधियों के लिए इस्तेमाल न हो

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान के संदर्भ में कहा कि राजनीतिक हथियार के तौर पर आतंकवाद का इस्तेमाल कर रहे प्रतिगामी सोच वाले देशों को समझना चाहिए कि यह उनके लिए भी उतना ही बड़ा खतरा है। उन्होंने दुनिया से अपील करते हुए कहा था कि यह सुनिश्चित करना बेहद जरूरी है कि अफगानिस्तान की भूमि का आतंकवाद के प्रसार और आतंकी गतिविधियों के लिए इस्तेमाल न हो।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|