Lata Mangeshkar: Lata Mangeshkar is no more vocal nightingale, breathed her last at Breach Candy Hospital in Mumbai
राष्ट्रीय

Lata Mangeshkar:नहीं रहीं स्वर कोकिला लता मंगेशकर, मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में ली अंतिम सांस

Khaskhabar/भारत रत्न से सम्मानित दिग्गज गायिका लता मंगेशकर का आज 92 वर्ष की आयु में निधन हो गया। उन्होंने मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में रविवार सुबह अंतिम सांस ली। पिछले 29 दिनों से वो कोरोना से जंग लड़ रही थीं। देश के कोने-कोने में लता मंगेशकर के जल्द स्वस्थ होने के लिए यज्ञ किए गए, लेकिन फिर भी स्वर कोकिला जिंदगी की जंग जीत न सकीं और उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया।

Khaskhabar/भारत रत्न से सम्मानित दिग्गज गायिका लता मंगेशकर का आज 92 वर्ष की आयु में निधन हो गया। उन्होंने मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में रविवार सुबह अंतिम सांस ली।
Posted by khaskhabar

शनिवार को 92 वर्षीय गायिका की तबीयत ज्यादा बिगड़ गयी

सिनेमा की लीजेंड्री गायिका लता मंगेशकर लगभग 29 दिनों से मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल की आईसीयू में भर्ती थीं। शनिवार को 92 वर्षीय गायिका की तबीयत ज्यादा बिगड़ गयी थी। उनका इलाज कर रहे डॉ. प्रतीत समदानी ने बताया था कि उन्हें एग्रेसिव थेरेपी दी जा रही है और वो इलाज को बर्दाश्त कर पा रही हैं।

अस्पताल से लौटते हुए आशा ने बताया था कि लता दीदी की हालत स्थिर

इसके कुछ घंटे बाद लता मंगेशकर की छोटी बहन दिग्गज गायिका आशा भोंसले उनका हालचाल जानने ब्रीच कैंडी अस्पताल पहुंची थीं।शनिवार को अस्पताल से लौटते हुए आशा ने बताया था कि लता दीदी की हालत स्थिर है। लता जी की तबीयत नाजुक होने की खबर आने के बाद महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे की पत्नी रश्मि ठाकरे एमएनएस के मुखिया राज ठाकरे भी उनका हालचाल जानने अस्पताल पहुंचे थे।

संक्रमित होने के बाद ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती करवाया गया

वहीं, देर रात केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने लता मंगेशकर के परिजनों से मुलाकात की और उन तक पीएम नरेंद्र मोदी का शुभकामना संदेश पहुंचाया।बता दें, भारत रत्न दिग्गज गायिका को 8 जनवरी को कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। शुरुआत में कोरोना के हल्के लक्षण देखे गये थे, मगर उम्र और दूसरी स्वास्थ्य समस्याओं को देखते हुए उन्हें आईसीयू में ही रखा गया था।

ब्रीच कैंडी अस्पताल से चिकित्सक प्रतीत समदानी लता मंगेशकर का इलाज कर रहे थे

चिकित्सकों को पूरा यकीन था कि लता जी ठीक हो जाएंगी, मगर उम्र के मद्देनजर उन्हें चिकित्सकों की निरंतर निगरानी में रखा गया था।ब्रीच कैंडी अस्पताल से चिकित्सक प्रतीत समदानी लता मंगेशकर का इलाज कर रहे थे। 16 जनवरी को डॉ. प्रतीत ने बताया था कि लता मंगेशकर को देखभाल की जरूरत है, इसलिए वो कुछ और दिनों तक आईसीयू में डॉक्टरों की निगरानी में रहेंगी।

22 जनवरी को उनके ट्विटर हैंडल से परिवार ने एक स्टेटमेंट भी जारी किया

उनकी हालत पहले जैसी है और किसी को भी उनसे मिलने की इजाजत नहीं है। लता मंगेशकर कोरोना संक्रण के साथ निमोनिया से भी पीड़ित थीं।बीच लता जी के स्वास्थ्य को लेकर मीडिया में अफवाहों को देखते हुए 22 जनवरी को उनके ट्विटर हैंडल से परिवार ने एक स्टेटमेंट भी जारी किया था, जिसमें किसी तरह के अनुमान ना लगाने की अपील लोगों से की गयी थी।

यह भी पढ़े —लेडी डान ने दी योगी आदित्यनाथ व गोरखनाथ मंदिर को बम से उड़ाने की धमकी,सतर्कता बढ़ाई गयी

वेंटिलेटर से हटाने का ट्रायल दिया गया

25 जनवरी को दिये गये हेल्थ अपडेट के अनुसार लता मंगेशकर के स्वास्थ्य में मामूली सुधार हुआ था।27 जनवरी को परिवार की ओर से ट्विटर पर साझा किये अपडेट में बताया गया था कि लता दीदी आईसीयू में हैं। उन्हें वेंटिलेटर से हटाने का ट्रायल दिया गया है। 29 जनवरी को डॉ. समदानी ने जानकारी थी कि लता जी की तबीयत में हल्का-सा सुधार हो रहा है और उन्हें वेंटिलेटर के हटाया गया था, मगर आईसीयू में ही चिकित्सकों की निगरानी में थीं। बता दें, इससे पहले लता मंगेशकर को सितंबर 2019 में अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जब उन्हें सांस लेने में तकलीफ की शिकायत हुई थी। उस समय उन्हें वायरल चेस्ट इन्फेक्शन से पीड़ित थीं।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|