राष्ट्रीय

फॉर्मूला टू रेस जीतने वाले पहले भारतीय बने जेहान दारूवाला,साखिर ग्रां पी में रचा इतिहास

Khaskhabar/फॉर्मूला टू रेस जीतने वाले पहले भारतीय बने भारतीय ड्राइवर जेहान दारूवाला ने रविवार को यहां साखिर ग्रां प्री के दौरान इतिहास रच दिया .फॉर्मूला टू चैंपियन मिक शूमाकर और डेनियल टिकटुम के खिलाफ रोमांचक मुकाबले में 22 वर्षीय भारतीय सत्र की अंतिम फॉर्मूला वन ग्रां प्री की सपोर्ट रेस में शीर्ष पर रहे।

Khaskhabar/फॉर्मूला टू रेस जीतने वाले पहले भारतीय बने भारतीय ड्राइवर जेहान
Posted by khaskhabar

रेयो रेसिंग के लिये ड्राइविंग कर रहे जेहान ने ग्रिड पर दूसरे स्थान से शुरूआत की और वह डेनियल टिकटुम के साथ थे। टिकटुम ने जेहान को साइड में करने की कोशिश की, जिससे शूमाकर दोनों से आगे निकल गये। जेहान इसके बाद दोनों से पीछे हो गये, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और संयम बरतते हुए अपनी पहली एफआईए फार्मूला टू रेस जीत ली। उनके जापानी साथी युकी सुनोडा दूसरे स्थान पर रहे, वह जेहान से 3.5 सेकेंड पीछे रहे जबकि टिकटुम तीसरे स्थान पर रहे।

jehan daruvalaजेहान दारूवाला मुख्य बातेंजेहान दारूवाला फॉर्मूला टू रेस जीतने वाले पहले भारतीय बनेजेहान भारतीय सत्र की अंतिम फॉर्मूला वन ग्रां प्री की सपोर्ट रेस में शीर्ष पर रहेजापान के युकी सुनोडा दूसरे स्थान पर रहे, वह जेहान से 3.5 सेकेंड पीछे रहे|

जीत के बाद कहा, ‘मुझे भारत में अपने लोगों को साबित करना था कि भले ही हमारे पास यूरोप में ड्राइवरों की तरह की समान सुविधायें नहीं हों, लेकिन जब आप कड़ी मेहनत करो तो आप ग्रिड के मोड़ पर अच्छी चुनौती दे सकते हो।’

यह पहला मौका है जब एफ2 पोडियम फिनिश पर रहने के कारण भारत का राष्‍ट्रगान बजा। करुण चंडोक ने अपने पहले जीपी2 सीरीज अवतार में दो रेस जीती थी। दारूवाला ने अपनी कैरलिन टीम के लिए रेस जीती। दारूवाला के रेस जीतने के बाद भारत का राष्‍ट्रगान बजाया गया, जिसे देखकर कई लोगों की आंखें नम हो गई।

कौन हैं जेहान दारुवाला?

मुंबई में जन्मे जेहान दारुवाला फार्मूला रेसिंग में करियर बनाने के लिए महज 13 साल की उम्र में लंदन शिफ्ट हो गए।18 साल की उम्र में जेहान मोटरस्पोर्ट्स में ग्रांड प्रिक्स जीतने वाले पहले भारतीय ड्राइवर बने, जब उन्होंने न्यूजीलैंड ग्रांड प्रिक्स 2017 जीती थी।जेहान साल 2018 में फार्मूला-3 रेसिंग की सबसे सफल टीम प्रेमा के साथ जुड़े थे। इसके बाद से इस युवा भारतीय ड्राइवर ने पीछे मुड़कर नहीं देखा है।

यह भी पढ़े—लंदन में भारतीय दूतावास के बाहर कृषि कानूनों का विरोध,भारत के खिलाफ नारेबाजी करते हुए लोगों ने लहराए खालिस्तानी झंडे

फार्मूला-2 ड्राइवर चैम्पियनशिप का टाइटल मिक शूमाकर ने जीता

फार्मूला-2 ड्राइवर चैम्पियनशिप का टाइटल मिक शूमाकर ने अपने नाम किया। उन्होंने 215 अंको के साथ सीजन समाप्त किया। शूमाकर के बाद टाइटल की रेस में दूसरे स्थान पर ब्रिटान कैलम इलॉट (201) रहे। बता दें मिक पूर्व दिग्गज माइकल शूमाकर के बेटे हैं।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है |