International travel will become easier for many Indians with WHO's approval of the vaccine
स्वास्थ

WHO द्वारा कोवैक्सीन को स्वीकृति देने से कई भारतीयों के लिए अंतरराष्ट्रीय यात्रा हो जाएगी आसान

Khaskhabar/विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)  द्वारा इस महीने की शुरुआत में कोवैक्सीन को स्वीकृति देने से टीके की खुराक ले चुके भारतीयों के लिए अंतरराष्ट्रीय यात्रा आसान हो जाएगी। भारत उन देशों से भी बात कर रहा है जो भारत बायोटेक द्वारा निर्मित कोरोना रोधी टीकों को मान्यता देने को अलग-अलग आदेश जारी कर रहे हैं। यह जानकारी विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को दी।

Khaskhabar/विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)  द्वारा इस महीने की शुरुआत में कोवैक्सीन को स्वीकृति देने से टीके की खुराक ले चुके भारतीयों के लिए अंतरराष्ट्रीय यात्रा आसान हो जाएगी। भारत
Posted by khaskhabar

सभी 96 या अधिक देश दोनों टीकों को स्वीकार करेंगे

उन्होंने कहा कि लेकिन हमें उम्मीद है कि कोवैक्सीन को डब्ल्यूएचओ द्वारा मंजूरी दिए जाने से इस सूची का विस्तार होगा और सभी 96 या अधिक देश दोनों टीकों को स्वीकार करेंगे। मुझे लगता है कि यह (मंजूरी) टीके की खुराक ले चुके भारतीयों की विदेश यात्रा को आसान बनाने में काफी सुधार लाएगी।

कुछ देशों ने केवल कोविशील्ड या कोवैक्सीन को ही मंजूरी दी है

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि 96 देशों ने डब्ल्यूएचओ द्वारा स्वीकृत टीकों को या तो मंजूर कर लिया है या कुछ देशों ने केवल कोविशील्ड या कोवैक्सीन को ही मंजूरी दी है। डब्ल्यूएचओ ने कोविशील्ड और कोवैक्सीन दोनों टीकों को मान्यता दी है।सरकार के बयान पर स्पष्टीकरण देने के लिए कहने पर बागची ने कहा कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के साथ ही विदेश मंत्रालय के वेब पेज पर कोई भी देख सकता है कि नौ नवंबर तक दो तरह की सूची है पहली उच्च जोखिम की श्रेणी वाले देशों की और दूसरी ए श्रेणी वाले देशों की।

यह भी पढ़े —कश्मीर के कुलगाम जिला में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू,एक आतंकी ढेर

देशों ने डब्ल्यूएचओ द्वारा स्वीकृत टीकों को मान्यता दी  

 उन्होंने कहा कि भारत में प्रवेश के लिए नए संशोधित दिशा निर्देश मोटे तौर पर इन्हीं श्रेणियों पर निर्भर होंगे।बागची ने कहा कि जिन देशों ने डब्ल्यूएचओ द्वारा स्वीकृत टीकों को मान्यता दी है और जिन्होंने हमारे टीकों को स्वीकार किया है उन्हें ए श्रेणी में रखा गया है। टीकों के निर्यात पर उन्होंने कहा कि भारत की घरेलू आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए उसने टीकों की विदेशों में आपूर्ति बहाल कर दी है। कई खेप भेजी जा चुकी हैं और कुछ भेजी जा रही हैं।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|