India may soon open its doors to foreign tourists for the first time in a year and a half
राष्ट्रीय

डेढ़ साल में पहली बार भारत जल्दी ही विदेशी पर्यटकों के लिए खोल सकता है अपने दरवाजे

Khaskhabar/वायरस के मामलों में कमी को देखते हुए डेढ़ साल में पहली बार भारत जल्दी ही विदेशी पर्यटकों के लिए अपने दरवाजे खोल सकता है। कोरोना के चलते मार्च 2020 में लगाए गए राष्ट्रव्यापी लाकडाउन से बुरी तरह प्रभावित पर्यटन, आतिथ्य और विमानन क्षेत्रों में नई जान डालने की कवायद के तहत पहले पांच लाख विदेशी पर्यटकों को मुफ्त वीजा जारी किया जाएगा।

Khaskhabar/वायरस के मामलों में कमी को देखते हुए डेढ़ साल में पहली बार भारत जल्दी ही विदेशी पर्यटकों के लिए अपने दरवाजे खोल सकता है। कोरोना के चलते मार्च 2020 में लगाए गए राष्ट्रव्यापी लाकडाउन
Posted by khaskhabar

विदेशी पर्यटकों को आने देने का फैसला कोरोना के घटते मामलों को देखते हुए

 गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि विदेशी पर्यटकों को भारत आने देने की अनुमति दिए जाने के संबंध में औपचारिक घोषणा अगले 10 दिनों के भीतर की जा सकती है। विदेशी पर्यटकों को आने देने का फैसला कोरोना के घटते मामलों को देखते हुए लिया जा रहा है।केंद्रीय गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी विदेशी पर्यटकों को देश में आने देने के लिए संभावित तारीख और तौर-तरीकों पर सभी हितधारकों के साथ विचार-विमर्श कर रहे हैं। इसके अलावा देश में 80 करोड़ डोज से ज्यादा टीके भी लगाए जा चुके हैं।

एक महीने तक के लिए जारी किया जाने वाला ई-पर्यटक वीजा देशों पर आधारित

मुफ्त वीजा 31 मार्च, 2022 या पांच लाख की संख्या पूरा होने तक जारी किए जाएंगे। उम्मीद है कि मुफ्त वीजा जारी करने से कम अवधि के ज्यादा पर्यटक भारत आएंगे। एक महीने तक के लिए जारी किया जाने वाला ई-पर्यटक वीजा देशों पर आधारित है, लेकिन आम तौर पर इसके लिए 25 डालर (लगभग 1800 रुपये) शुल्क लिया जाता है। एक साल के ई-पर्यटक वीजा के लिए अमूमन 40 डालर (लगभग तीन हजार रुपये) का शुल्क लिया जाता है। मार्च 2020 से ई-पर्यटक वीजा निलंबित है।

 यह भी पढ़े —30,773 नए मामलों के साथ 309 लोगों की मौत,कोरोना मामलों में उतार-चढ़ाव जारी

2019 की तुलना में पर्यटकों की संख्या में लगभग 75 फीसद की गिरावट

बता दें कि कोरोना महामारी को नियंत्रित करने के लिए लगाए गए यात्रा प्रतिबंधों के कारण पिछले साल 2020 में 30 लाख से कम विदेशी पर्यटकों ने भारत का दौरा किया था। इस दौरान 2019 की तुलना में पर्यटकों की संख्या डेढ़ साल में लगभग 75 फीसद की गिरावट देखने को मिला। केंद्र सरकार ने यह जानकारी संसद में दी थी। पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल ने कहा था कि 2019 में विदेशी पर्यटकों की संख्या 1.93 लाख थी, 2018 में यह संख्या 1.56 करोड़ थी।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|