India likely to get 3 million vaccines allocated as a special grant from America
राष्ट्रीय

भारत को अमेरिका राष्ट्रपति से विशेष अनुदान के तौर पर आवंटित 30 लाख वैक्सीन मिलने के आसार

Khaskhabar/बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के हाल ही में ऐलान करने के करने के बाद विदेश विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कोवैक्स के जरिए भारत को 8 करोड़ कोरोना वैक्सीन दी जाएगी। भारत को अमेरिका राष्ट्रपति से विशेष अनुदान के तौर पर आवंटित 30 लाख वैक्सीन मिलने के आसार हैं। दोंनों देशों के बीच वैक्सीन डिप्लोमेसी को लेकर लगातार संपर्क बना हुआ है।

Khaskhabar/बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के हाल ही में ऐलान करने के करने के बाद विदेश विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कोवैक्स के जरिए भारत को 8 करोड़ कोरोना वैक्सीन दी जाएगी। भारत को
Posted by khaskhabar

भारत में वैक्सीन्स की शिपमेंट कब तक पहुंचेगी

राष्ट्रपति बाइडन का यह कदम जून के आखिरी तक वैश्विक स्तर पर आठ करोड़ वैक्सीन्स को शेयर करने के लिए उनके प्रशासन के फ्रेमवर्क का एक हिस्सा है।अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा था कि भारत में वैक्सीन्स की शिपमेंट कब तक पहुंचेगी, इसके बारे में मेरे पास कोई विशेष जानकारी नहीं है। उन्‍होंने कहा कि बेशक भारत को उन आठ करोड़ टीकों का एक हिस्सा मिलेगा, जो कि कोवैक्स के जरिए से दिया जाएगा।

वैक्सीन को साझा करने की घोषणा

मेरा मानना है कि उस क्षेत्र के लिए लगभग 60 लाख टीके होंगे। बता दें कि कई देशों के लिए कोरोना वैक्सीन मुहैया करवाने के लिए कोवैक्स का गठन किया गया है।उन्‍होंने कहा कि जैसा कि हमने इन टीकों के मामले में किया है, वैसा ही हमने वैक्सीन को साझा करने की घोषणा से पहले भी किया था।

अमेरिका ने भारत की काफी मदद की

विदेश विभाग के प्रवक्ता ने आगे कहा कि हम जानते हैं कि भारत को इस महामारी से बहुत नुकसान हुआ है।हमने इस महामारी से बाहर निकलने का रास्ता दिखाने में मदद करने के लिए भारत में अपने भागीदारों के साथ मिलकर काम करने की अपनी प्रतिबद्धता को भी बताया है।बता दें कि कोरोना की महामारी शुरू होने के बाद अमेरिका ने भारत की काफी मदद की है। 

यह भी पढ़े —बिहार में दूसरी लहर के थमते कहर के बीच सरकार द्वारा नई रियायतों का ऐलान

महामारी से उबारने में मदद करने की अपनी प्रतिबद्धता पर कायम

दूसरी लहर के दौरान बड़ी संख्या में अमेरिका ने मेडिकल सप्लाई मुहैया करवाई थी। इसमें वेंटिलेटर्स, ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर्स आदि शामिल थे। प्रवक्ता ने दावा किया था कि बाइडन प्रशासन भारत सरकार और वहां के लोगों को इस महामारी से उबारने में मदद करने की अपनी प्रतिबद्धता पर कायम है। प्राइस ने कहा था हम लगातार प्राइवेट सेक्टर से संपर्क बनाए हुए हैं। उन्‍होंने कहा कि हमने भारत के लिए टीकों की अपनी प्रतिबद्धता के बारे में बात भी की है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|