In the hope of increasing and improving the production of companies, the purchase of raw materials intensified
कारोबार

कंपनियों के उत्पादन बढ़ाने और सुधार की उम्मीद में कच्चे माल की खरीदारी तेज

Khaskhabar/मांग में तेजी के साथ ही कंपनियों के उत्पादन बढ़ाने और सुधार की उम्मीद में कच्चे माल की खरीदारी तेज करने के चलते भारत में विनिर्माण क्षेत्र की गतिविधियों में अक्टूबर में और मजबूती आई। एक मंथली सर्वे में सोमवार को यह जानकारी दी गई। सर्वे में कहा गया कि अक्टूबर में उत्पादन और नए ऑर्डर सात महीनों में सर्वाधिक तेजी से बढ़े, जबकि व्यापार आशावाद छह महीने के उच्च स्तर पर पहुंच गया।

Khaskhabar/मांग में तेजी के साथ ही कंपनियों के उत्पादन बढ़ाने और सुधार की उम्मीद में कच्चे माल की खरीदारी तेज करने के चलते भारत में विनिर्माण क्षेत्र की गतिविधियों में अक्टूबर में और मजबूती
Posted by khaskhabar

सितंबर के 53.7 से बढ़कर अक्टूबर में 55.9 हो गया

समायोजित आईएचएस मार्केट इंडिया विनिर्माण खरीद प्रबंधक सूचकांक (पीएमआई) सितंबर के 53.7 से बढ़कर अक्टूबर में 55.9 हो गया। सूचकांक फरवरी के बाद से सबसे मजबूत सुधार की ओर इशारा करता है।

परिचालन स्थितियों में सबसे मजबूत सुधार की ओर इशारा

कारखाने के उत्पादन में तेज गति से वृद्धि हुई है, जो मार्च के बाद से सबसे मजबूत थी। आईएचएस मार्केट इंडिया मैन्युफैक्चरिंग परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स में अक्टूबर में लगातार चौथे महीने विस्तार देखा गया, जो फरवरी के बाद से परिचालन स्थितियों में सबसे मजबूत सुधार की ओर इशारा करता है।

लगातार कई सामग्रियों और परिवहन के लिए बढ़ती कीमतों का सामना करना पड़ा

सर्वे के अनुसार, स्टॉक-निर्माण के प्रयासों और मांग में और सुधार की कोशिश के अनुरूप फर्मों ने इनपुट खरीद में वृद्धि की, जबकि व्यापार छह महीने के उच्च स्तर पर पहुंच गया। दूसरी ओर कंपनियों को लगातार कई सामग्रियों और परिवहन के लिए बढ़ती कीमतों का सामना करना पड़ा। सर्वे के मुताबिक, फरवरी 2014 के बाद से समग्र इनपुट लागत सबसे तेज दर से बढ़ रही है। सर्वे के मुताबिक, अक्टूबर में नए ऑर्डर का विस्तार जारी है।

आईएचएस मार्केट में अर्थशास्त्र की संयुक्त निदेशक पोल्याना डी लीमा ने कहा, ‘‘भारत में विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि लगातार बढ़ रही है। अक्टूबर के आंकड़ों में नए ऑर्डर, उत्पादन और कच्चे माल की खरीद में तेजी से बढ़ोतरी हुई।’’

यह भी पढ़े —कोवैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके लोगों को दोबारा कोविशील्ड लगाने का केंद्र को आदेश नहीं

नया निर्यात कार्य एक ठोस गति से बढ़ा जो तीन महीनों में सबसे तेज

कुल नए ऑर्डर में वृद्धि दर्ज करने के अलावा भारतीय कंपनियों के माल की अंतरराष्ट्रीय मांग में उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई। सर्वे के अनुसार, नया निर्यात कार्य एक ठोस गति से बढ़ा जो तीन महीनों में सबसे तेज था। आईएचएस मार्केट इंडिया मैन्युफैक्चरिंग परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स (PMI) सितंबर में 53.7 से बढ़कर अक्टूबर में 55.9 हो गया।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|