If the central government approves, then soon there will be 34 judges in the Supreme Court
राष्ट्रीय

केंद्र सरकार ने मंजूरी दी तो सुप्रीम कोर्ट में जल्द होंगे 34 जज

Khaskhabar/सुप्रीम कोर्ट में जल्द ही 34 जज (मुख्य न्यायाधीश समेत) होंगे। सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम ने गौहाटी हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस सुधांशु धूलिया और गुजरात हाई कोर्ट के न्यायाधीश जमशेद बी पारदीवाला को सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीश के तौर पर पदोन्नत करने की सिफारिश की है।

Khaskhabar/सुप्रीम कोर्ट में जल्द ही 34 जज (मुख्य न्यायाधीश समेत) होंगे। सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम ने गौहाटी हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस सुधांशु धूलिया और गुजरात हाई कोर्ट के न्यायाधीश
Posted by khaskhabar

गौहाटी हाई कोर्ट से पहले जस्टिस धूलिया उत्तराखंड हाई कोर्ट के जज रह चुके

सुप्रीम कोर्ट में जजों की अधिकतम स्वीकृत संख्या 34 है।वहीं उत्तराखंड हाई कोर्ट से शीर्ष अदालत में पदोन्नत होने वाले जस्टिस सुधांशु धूलिया दूसरे जज होंगे। गौहाटी हाई कोर्ट से पहले जस्टिस धूलिया उत्तराखंड हाई कोर्ट के जज रह चुके हैं। वह उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले के एक सूदूरवर्ती गांव से ताल्लुक रखते हैं। उनके दादा भैरव दत्त धूलिया स्वतंत्रता सेनानी थे।

धूलिया 1986 में इलाहाबाद हाई कोर्ट बार के सदस्य बने

जस्टिस धूलिया सैनिक स्कूल लखनऊ के छात्र रहे हैं। वह इलाहाबाद विश्वविद्यालय से कानून में स्नातक हैं। वह 1986 में इलाहाबाद हाई कोर्ट बार के सदस्य बने। जस्टिस धूलिया फिल्म निर्देशक तिग्मांशु धूलिया के भाई हैं।प्रधान न्यायाधीश एनवी रमणा की अध्यक्षता में हुई कोलेजियम की बैठक में इन नामों को मंजूरी के लिए केंद्र के पास भेजने का निर्णय लिया गया।

यह भी पढ़े —दिल्ली में 1 अक्‍टूबर से नहीं म‍िलेगी फ्री बिaजली, सब्सिडी के लिए है अलग प्रोसेस

इस वर्ष देश तीन प्रधान न्यायाधीशों को देखेगा

कोलेजियम के अन्य सदस्य वरिष्ठ न्यायाधीश जस्टिस यूयू ललित और एएम खानविलकर, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस एल नागेश्वर राव हैं। इस वर्ष देश तीन प्रधान न्यायाधीशों को देखेगा। वर्तमान प्रधान न्यायाधीश एनवी रमणा 26 अगस्त को सेवानिवृत्त होंगे। इसके बाद जस्टिस उदय उमेश ललित प्रधान न्यायाधीश बनेंगे। जस्टिस ललित के सेवानिवृत्त होने के बाद नवंबर में जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ प्रधान न्यायाधीश बनेंगे। जस्टिस चंद्रचूड़ का कार्यकाल लगभग दो वर्ष का होगा।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है