Heavy heat havoc in America, due to heavy demand lights for about 9,300 consumers stopped, red alert issued
दुनिया

अमेरिका में भीषण गर्मी का कहर,भारी मांग के चलते करीब 9,300 उपभोक्ताओं के यहां बत्ती गुल,रेड अलर्ट जारी

Khaskhabar/अमेरिका में भीषण गर्मी कहर बरपा रही है। समाचार एजेंसी एपी की रिपोर्ट के मुताबिक वाशिंगटन और ओरेगोन में भीषण गर्मी से करीब 12 लोगों की मौत हो गई है। गर्मी के चलते बिजली की मांग में भारी इजाफा हुआ है जिससे ब्‍लैक आउट का खतरा मंडराने लगा है।

Khaskhabar/अमेरिका में भीषण गर्मी कहर बरपा रही है। समाचार एजेंसी एपी की रिपोर्ट के मुताबिक वाशिंगटन और ओरेगोन में भीषण गर्मी से करीब 12 लोगों की मौत हो गई है। गर्मी के चलते बिजली की मांग में भारी इजाफा
Posted by khaskahbar

मौसम विभाग (US National Weather Service) के मुताबिक स्पोकेन में मंगलवार को तापमान 109 डिग्री फॉरेनहाइट यानी 42.2 सेल्सियस पर पहुंच गया जो अभी तक वहां दर्ज किया गया सबसे अधिक तापमान है।

भारी मांग के चलते करीब 9,300 उपभोक्ताओं के यहां बत्ती गुल

भारी मांग के चलते बिजली की कटौती करनी पड़ रही है। सिएटल और पोर्टलैंड में पारा लगातार 100 डिग्री फॉरेनहाइट से ज्‍यादा (37.7 डिग्री सेल्सियस से ज्‍यादा) बना हुआ है।शहर में सोमवार को भारी मांग के चलते करीब 9,300 उपभोक्ताओं के यहां बत्ती गुल हो गई। बिजली कंपनी ने कहा है कि बिजली की और कटौती की जा सकती है। 

क्षेत्र में हाल में हुई कई मौतों का संबंध भीषण गर्मी से

अधिकारियों का कहना है कि क्षेत्र में हाल में हुई कई मौतों का संबंध भीषण गर्मी से हो सकता है।किंग काउंटी के मेडिकल परीक्षक कार्यालय ने इस बात की तस्‍दीक की कि दो लोगों की मौत हाइपरथर्मिया (शरीर के खतरनाक स्तर तक गर्म होने) के चलते हुई है। 

स्नोहोमिश काउंटी (Snohomish County) के मेडिकल परीक्षक कार्यालय की ओर से बताया गया कि वाशिंगटन में गर्मी के कारण 51, 75 और 77 वर्ष के तीन लोगों की मौत हो गई। यही नहीं ओरेगन के बेंड में दो बेघर लोगों की मौत भीषण गर्मी से होने की आशंका है।

खोले गए कूलिंग सेंटर, लू की चपेट में न्‍यूयॉर्क 

अमेरिका के विभिन्‍न शहरों में लोगों को गर्मी से बचाने के लिए सैकड़ों कूलिंग सेंटर खोल दिए गए हैं। आइएएनएस के अनुसार न्यूयार्क शहर भी लू की चपेट में है। भंयकर गर्मी से लोगों को जान बचाना मुश्किल हो रहा है। यहां पर प्रशासन ने सैकड़ों कूलिंग सेंटर खोल दिए हैं। जहां लोगों को ठंडे वातावरण में रुकने की सुविधा उपलब्ध कराई गई है।

मंगलवार को इडाहो में कई शहरों में तापमान 37.7 डिग्री सेल्सियस

राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि क्या किसी ने कभी सोचा था कि खबरों में ओरेगन के पोर्टलैंड में 116 डिग्री फैरनहीट तापमान दिखेगा। हालांकि उन्‍होंने यह भी कहा कि चिंता की बात नहीं यह वैश्विक ताप वृद्धि नहीं है। समाचार एजेंसी एपी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि मंगलवार को इडाहो में कई शहरों में तापमान 37.7 डिग्री सेल्सियस (Above 100 degrees Fahrenheit) के पार चला गया। लुइसटन में तो तापमान 46.1 डिग्री सेल्सियस ( 115 F, 46.1 C)दर्ज किया गया।

कनाडा में भी बिगड़े हालात  

कनाडा के वैंकूवर में गर्मी मौत बनकर बरस रही है। यहां मरने वालों की संख्या 134 से ज्यादा हो गई है। कनाडा के वैंकूवर में एक दिन में 65 से ज्यादा लोग मारे गए। पुलिस विभाग का कहना है कि ये सभी मौत गर्मी के कारण हुई हैं। वैंकूवर के लोगों का कहना है कि गर्मी का कहर पहली बार देखा है। पुलिस और नगर निगम में गर्मी से मौत की लगातार सूचनाएं आ रही हैं। वैंकूवर से ढाई सौ किमी दूर ब्रिटिश कोलंबिया के शहर लिटन में 49.5 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया।

यह भी पढ़े —राजपुर जनपद की ग्राम पंचायत झींगों में शुरू हुआ ये अभियान,टीका लगवाओ और नकद व घरेलू सामान का इनाम पाओ

सामाजिक सेवा विभाग ने रेड अलर्ट जारी कर दिया

न्यूयार्क के मेयर बिल डी ब्लेसिओ ने चेतावनी दी है कि लोग अपने घरों से न निकलें। अपने शरीर में पानी की कमी न होने दें। न्यूयार्क शहर के सामाजिक सेवा विभाग ने रेड अलर्ट जारी कर दिया है। नेशनल वेदर सर्विस ने गर्मी से बचने के लिए गाइड लाइन जारी की है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|