खेल राष्ट्रीय

हार्दिक और क्रुणाल को क्रिकेटर बनाने वाले उनके पिता का हुआ निधन, क्रुणाल टी20 टूर्नामेंट को बीच में छोड़ घर लौटे

Khaskhabar/भारतीय ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) और क्रुणाल पंड्या (Krunal Pandya) के पिता का निधन हो गया है. सैयद मुश्ताक अली टी-20 टूूर्नामेंट में बड़ोदा की टीम की कप्तानी कर रहे क्रुणाल पंड्या टीम को छोड़कर वापस अपने घर लौट गए हैं. आज सुबह दोनों क्रिकेटरों ने अपने पिता को खो दिया है. क्रुणाल पांड्या अब इस 20 टूर्नामेंट में बड़ौदा के लिए नहीं खेलेंगे.

Khaskhabar/भारतीय ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) और क्रुणाल पंड्या (Krunal Pandya) के पिता का निधन हो गया है. सैयद मुश्ताक अली टी-20 टूूर्नामेंट में बड़ोदा की टीम की कप्तानी कर रहे क्रुणाल पंड्या टीम को छोड़कर वापस अपने घर लौट गए हैं. आज सुबह दोनों क्रिकेटरों ने अपने पिता को खो दिया है. क्रुणाल
Posted by khaskhabar

बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन के सीईओ शिशिर हट्टंगडी ने एएनआई को बताया, “हां, क्रुणाल पांड्या ने बायोबबल छोड़ दिया है. यह एक व्यक्तिगत त्रासदी है, बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन हार्दिक और क्रुणाल के इस नुकसान पर शोक व्यक्त करता है. क्रुणाल पांड्या ने अब तक चल रहे सैयद मुश्ताक टूर्नामेंट में तीन मैच खेले हैं, जिसमें चार विकेट लिए हैं.

पिता का रहा अहम रोल

Khaskhabar/भारतीय ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) और क्रुणाल पंड्या (Krunal Pandya) के पिता का निधन हो गया है. सैयद मुश्ताक अली टी-20 टूूर्नामेंट में बड़ोदा की टीम की कप्तानी कर रहे क्रुणाल पंड्या टीम को छोड़कर वापस अपने घर लौट गए हैं. आज सुबह दोनों क्रिकेटरों ने अपने पिता को खो दिया है. क्रुणाल
Posted by khaskhabar

हार्दिक के पिता हिमांशु पंड्या का अपने बेटों के क्रिकेटर बनाने में बड़ा हाथ रहा था. हिमांशु सूरत में छोटा सा कार फाइनेंस बिजनेस चलाते थे लेकिन अपने बच्चों को क्रिकेटर बनाने के लिए उन्होंने वडोदरा बसने का फैसला किया. पिता के कारण ही दोनों भाई भारत के इंटरनेशनल क्रिकेटर बनने में सफल रहे.

हार्दिक और क्रुणाल के बारे में बात करते आंसू नहीं रोक पाते थे पिता

आर्थिक रूप से कमजोर पंड्या का परिवार किराए के घर में रहता था. इसके बावजूद दोनों स्‍टार क्रिकेटर्स के पिता ने उन्‍हें किसी चीज की कमी महसूस होने नहीं दी. एक इंटरव्‍यू में हिमांशु पंड्या ने कहा था कि जब भी वह हार्दिक और क्रुणाल के बारे में बात करते, वो अपने आंसूओ पर कंट्रोल नहीं कर पाते. उन्‍होंने कहा था कि जब वह काफी कम उम्र में दोनों को क्रिकेट सिखा रहे थे तो काफी रिश्‍तेदारों ने सवाल खड़े किए थे, मगर उन सवालों के बावजूद वह अपनी योजना पर टिके रहे. बता दें हार्दिक पंड्या ने साल 2017 में जब श्रीलंका के खिलाफ शतक ठोका था तो उन्होंने अपने पिता को कार गिफ्ट में दी थी. हार्दिक पंड्या ने एक ट्वीट के जरिये कहा था कि उनके पिता को जीवन की सभी खुशियां मिलनी चाहिए

यह भी पढ़े—कर्नाटक में दो वाहनों की टक्कर सड़क दुर्घटना में 13 की मौत, टेम्पू ट्रेवलर से गोवा जा रहे थे लोग

क्रुणाल ने बड़ौदा के लिए 76 रन बनाने में भी कामयाबी हासिल की

उत्तराखंड के खिलाफ पहले मैच में, क्रुणाल ने बड़ौदा के लिए 76 रन बनाने में भी कामयाबी हासिल की. बड़ौदा ने अब तक चल रहे सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में अपने सभी तीन मैच जीते हैं. यह इलाइट एलीट ग्रुप सी के शीर्ष पर है. हार्दिक पंड्या मौजूदा सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी नहीं खेल रहे हैं, लेकिन उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ आगामी सीरीज के लिए अपना प्रशिक्षण शुरू कर दिया है. हार्दिक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज में भारतीय टीम का हिस्सा नहीं हैं.

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|