राष्ट्रीय

Gandhi Jayanti 2020:कोरोना काल में अपनाइये महात्मा गांधी के जीवन के 3 महत्‍वपूर्ण सूत्र

Khaskhabar/Gandhi Jayanti 2020: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती को लेकर एक बार फिर तैयारियों का दौर जारी है। लेकिन इस बार का माहौल हर बार से अलग होगा। जैसा की आप सभी जानते है महात्मा गाँधी को भारत में कोई उन्हें राष्ट्रपिता कहकर बुलाता है, कोई बापू तो कोई उन्हें अहिंसा का पुजारी बताता है। आज भी महात्मा गांधी अपने अहिंसावादी आचरण, वचनबद्धता के लिए याद किया जाते हैं। महात्मा गांधी के जीवन की तमाम घटनाओं की तरह ही 3 महत्वपूर्ण सूत्रों को भी खास तवज्जों दी जाती है।

Khaskhabar/Gandhi Jayanti 2020: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती को
Posted by khaskhabar

राष्ट्रपिता महात्‍मा गांधी के जीवन के 3 महत्वपूर्ण सूत्र

महात्मा गांधी के जीवन का पहला और अहम सूत्र था कि समाजिक गंदगी दूर होनी चाहिए। जिसके लिए उन्होंने झाड़ू का सहारा लिया। उनके जीवन का दूसरा सूत्र सामूहिक प्रार्थना को बल देना, जिससे एकजुट होकर व्यक्ति जात-पात और धर्म की बंदिशों को दरकिनार कर प्रार्थना करें. वहीं उनके जीवन का तीसरा और महत्वपूर्ण सूत्र चरखा भी है। यह आत्मनिर्भर और एकता का प्रतीक माना जाता है।

Khaskhabar/Gandhi Jayanti 2020: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती को
Posted by khaskhabar

गांधीजी के आदर्श और जीवन

गांधी जी ने सदैव अपने जीवन में सत्य की राह पर चलकर ही सत्याग्रह की नींव रखी. उनके जीवन में कई ऐसे मोड़ आए जब काफी कठिनाई हुई बावजूद इसके उन्होंने सत्य का साथ कभी भी नहीं छोड़ा. गांधी जी के आदर्शों के बारे में हम सभी ने कई बार सुना, किताबों में देखा और दूसरों से सुना है. महात्मा गांधी ने सदैव ही भगवान महावीर के रास्ते पर चलकर त्याग को अपने जीवन में सदा अपनाए रखा. इसी के साथ उन्होंने अपना जीवनयापन कम से कम साधनों में सादगीपूर्ण तरीके से किया.

नहीं होंगे सामूहिक कार्यक्रम

गांधी जयंती के मौके पर दो अक्टूबर को ना तो प्रभातफेरी होगी और न ही सामूहिक कार्यक्रम होंगे। प्राइमरी स्कूलों में अध्यापक ध्वजारोहण करेंगे और महात्मा गांधी के चित्र पर माल्यार्पण किया जाएगा। शनिवार को कलक्ट्रेट सभाकक्ष में हुई बैठक में डीएम रमाकांत पांडेय ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण की वजह से गांधी जयंती के मौके पर समूह आधारित प्रभात फेरी, वृहद्व गोष्ठियां, दौड़ आदि का आयोजित नहीं किया जाएगा।

सुबह आठ बजे सरकारी एवं अ‌र्द्ध सरकारी भवनों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा

डीएम ने कहा कि दो अक्टूबर को सुबह आठ बजे सरकारी एवं अ‌र्द्ध सरकारी भवनों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा। सुबह सवा आठ से नौ बजे तक भी कार्यालयों, विद्यालयों और अन्य संस्थाओं में महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री के चित्र का अनावरण एवं माल्यार्पण करने के बाद उनके जीवन कृत्यों पर प्रकाश डाला जाएगा। शिक्षण संस्थाओं द्वारा भाषण प्रतियोगिता, वाद-विवाद तथा निबन्ध प्रतियोगिताओं का ऑनलाइन आयोजन किया जाएगा।

यह भी पढ़े  —पीएम मोदी का संयुक्त राष्ट्र पर तंज, बोले भारत को कब तक बाहर रखा जायेगा

Gandhi Jayanti 2020:लाल बहादुर शास्त्री की मूर्ति का माल्यार्पण किया जाएगा

सुबह नौ बजे वाल्मीकि बस्ती मौहल्ला जाटान में दलित बस्तियों की महिलाओं एवं बच्चों के शारीरिक स्वास्थ्य एवं घर की साफ-सफाई के बारे में महिलाओं को जागरूक किया जायेगा। सुबह नौ से दस बजे तक गांधी पार्क (रामलीला मैदान के सामने) में शारीरिक दूरी का पालन करते हुए रामधुन, भजन, गोष्ठी एवं सामूहिक प्रार्थना सभा, शक्ति चौराहा पर लाल बहादुर शास्त्री की मूर्ति का माल्यार्पण किया जाएगा।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है |