दुनिया

Flipkart ने की PhonePe को अलग इकाई बनाने की घोषणा, 40,633 करोड़ रुपये आंकी गई वैल्यू

Khaskhabar/Flipkart ने गुरुवार को PhonePe को आंशिक रूप से अलग इकाई बनाने की घोषणा की है. हालांकि, PhonePe की ज्यादातर हिस्सेदारी Flipkart के पास ही रहेगी और दोनों कंपनियां एक-दूसरे के साथ पहले की तरह एक दूसरे का सहयोग करती रहेंगी.

Khaskhabar/Flipkart ने गुरुवार को PhonePe को आंशिक रूप से अलग इकाई
Posted by khaskhabar

डिजिटल पेमेंट कंपनी फोन पे (PhonePe) अब अपनी पेरेंट कंपनी वॉलमार्ट की स्वामित्व वाली फ्लिपकार्ट (Walmart owned Flipkart Group) से अलग होकर एक स्वतंत्र कंपनी बन गई है। इसकी घोषणा गुरुवार को फ्लिपकार्ट और PhonePe ने की। स्वतंत्र कंपनी बनने के बाद PhonePe का वैल्युएशन (Valuation) 5.5 बिलियन डॉलर यानी करीब 40,633 करोड़ रुपये किया गया है।

PhonePe ने कहा कि नई शुरुआत करने के लिए उसने 700 मिलियन डॉलर यानी करीब 5174 करोड़ रुपये जुटाने की व्यवस्था की है। फोन पे के अलग कंपनी बन जाने के बावजूद फ्लिपकार्ट इसकी मेजोरिटी स्टेक होल्डर बनी रहेगी।PhonePe में अब फ्लिपकार्ट की हिस्सेदारी 100% से घटकर 87% रह जाएगी। वहीं, इसमें अब 10% हिस्सेदारी अमेरिकी रिटेल कंपनी वॉलमार्ट (Walmart) की होगी और 3% हिस्सेदारी टाइगर ग्लोबल मैनेजमेंट होल्डिंग (Tiger Global Management holding) की होगी।

Khaskhabar/Flipkart ने गुरुवार को PhonePe को आंशिक रूप से अलग इकाई
Posted by khaskhabar

PhonePe ने कहा कि 700 मिलियन डॉलर का जो निवेश उसे मिलेगा वह वॉलमार्ट और टाइगर ग्लोबल मैनेजमेंट से मिलेगा है। किसी नए इनवेस्टर से फंड नहीं जुटाया जाएगा। यह फंड कंपनी को दो बार में मिलेगा। अगले महीने कंपनी को इस फंड का पहला हिस्सा मिलने की उम्मीद है। वहीं, फ्लिपकार्ट ने कहा कि PhonePe के बिजनेस को भारत से बाहर विस्तार देने और उसे खुद के लिए फंड जुटाने की सहूलियत देने के लिए यह फैसला किया गया है।

यह भी पढ़े—MDH Masala King:महाशय धर्मपाल गुलाटी की 98 साल की उम्र में निधन, दिल्ली के चन्नन देवी हॉस्पिटल में ली आखिरी सांस

नए बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स का गठन होगा

PhonePe के अलग कंपनी बन जाने के बाद इसे अपने लिए नए बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स का गठन करने का अधिकार होगा। नए बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में कंपनी के को-फाउंडर समीर निगम (Sameer Nigam) और राहुल चारी (Rahul Chari) शामिल होंगे। इसके अलावा इसमें BFSI की टॉर लीडरशिप भी शामिल होगी। कॉरपोर्ट रीस्ट्रक्चरिंग प्लान के तहत अब PhonePe के कर्मचारियों के लिए फ्लिपकार्ट से अलग इंप्लॉई स्टॉक ऑनरशिप प्लान (Employee Stock Ownership Plan-Esop) बनाया जाएगा और इसके सभी कर्मचारियों को Esop पाने का अधिकार होगा।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है |