Finance Minister launches National Monetization Pipeline, plan of six lakh crores
कारोबार राष्ट्रीय

वित्त मंत्री ने नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन को किया लॉन्च,प्लान छह लाख करोड़ का

Khaskhabar/वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को यहां नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन को लॉन्च कर दिया। यह मोनेटाइजेशन प्लान छह लाख करोड़ रुपये का है। सरकार ने रेल से लेकर रोड और बिजली सेक्टर के एसेट्स की बिक्री के लिए यह पहल की है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस अवसर पर कहा कि निजी भागीदारी के जरिए हम एसेट्स को बेहतर तरीके से मोनेटाइज कर पाएंगे।

Khaskhabar/वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को यहां नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन को लॉन्च कर दिया। यह मोनेटाइजेशन प्लान छह लाख करोड़ रुपये का है। सरकार ने रेल से
Posted by khaskhabar

ऐसे एसेट्स में हैं, जिनमें निवेश पहले ही हो चुका है

इस बिक्री के जरिए प्राप्त धन का इस्तेमाल इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए किया जाएगा। नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन में ब्राउनफील्ड एसेट्स को शामिल किया गया है। ये ऐसे एसेट्स में हैं, जिनमें निवेश पहले ही हो चुका है और इनमें या तो एसेट्स कम मोनेटाइजेशन पूरी तरह से नहीं सका है या फिर क्षमता से कम हुआ है।

नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन ब्राउनफील्ड एसेट्स से संबंधित

सीतारमण ने इस दौरान विभिन्न तरह की शंकाओं को दूर करते हुए कहा, ”अगर किसी के दिमाग में यह सवाल है कि क्या हम जमीन बेचने जा रहे हैं? नहीं। नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन ब्राउनफील्ड एसेट्स से संबंधित है, जिन्हें बेहतर तरीके से मोनेटाइज किए जाने की जरूरत है। एसेट्स का स्वामित्व सरकार के पास ही रहेगा। इसमें एसेट्स को वापस करना अनिवार्य होगा। उन्हें (प्राइवेट सेक्टर के पार्टनर्स) को एसेट्स को कुछ समय बाद वापस लौटाना होगा।”

भारत में इन्फ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में ग्रोथ का वाहक प्राइवेट सेक्टर

इस मौके पर नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा कि यह एक उल्लेखनीय कदम है और वित्त मंत्री ने वित्त वर्ष 2021-22 के बजट में इसे लेकर आश्वस्त किया था। साथ ही यह पीएम नरेंद्र मोदी की इस स्पष्ट कटिबद्धता को दिखाता है कि भारत में इन्फ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में ग्रोथ का वाहक प्राइवेट सेक्टर होगा।

ऐसे प्रोजेक्ट्स को चिह्नित किया गया है, जिनकी बिक्री सरकार अगले चार साल में करेगी

यह भी पढ़े —नए Income Tax Portal को इस तारीख तक दुरुस्त करने को कहा,वित्त मंत्री ने Infosys को दिया अल्टीमेटम

कांत ने कहा कि सरकार गैस पाइपलाइन, रोड, रेलवे एसेट्स, वेयरहाउसिंग एसेट्स सहित अन्य की बिक्री करेगी।नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने कहा कि इस पाइपलाइन के तहत ऐसे प्रोजेक्ट्स को चिह्नित किया गया है, जिनकी बिक्री सरकार अगले चार साल में करेगी। उन्होंने कहा, ”हम नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन की पूरी तरह सफलता के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमारा मानना है कि बेहतर ऑपरेशन और प्राइवेट मेंटेनेंस में प्राइवेट सेक्टर को लाना बहुत महत्वपूर्ण है।”

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|