corona-book-beds-online-in-government-and-private-hospitals-on-amritwahini-app-in-jharkhand
राष्ट्रीय स्वास्थ

झारखंड में कोविड मरीज ऑनलाइन बेड सरकारी और प्राइवेट हॉस्पिटल में बुक करा सकेंगे ,अमृतवाहिनी एप लांच

Khaskhabar/झारखंड में कोविड मरीज अब सरकारी और प्राइवेट हॉस्पिटल्स में ऑनलाइन बेड बुक करा सकेंगे। राज्य सरकार ने इसके लिए आज अमृत वाहिनी ऐप लांच किया है। इसके साथ ही सीएम हेमंत सोरेन ने चैट बोर्ड का भी शुभारंभ किया। जिस पर मरीज विशेषज्ञ चिकित्सकों से सलाह ले सकेंगे।

Khaskhabar/झारखंड में कोविड मरीज अब सरकारी और प्राइवेट हॉस्पिटल्स में ऑनलाइन बेड बुक करा सकेंगे। राज्य सरकार ने इसके लिए आज अमृत वाहिनी ऐप लांच किया है। इसके साथ ही सीएम हेमंत सोरेन ने
Posted by khaskhabar

गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है ऐप

अमृतवाहिनी ऐप गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है। इसके अलावा लोग www.amritvahini.in वेबसाइट पर जाकर पूरे राज्य के सभी सरकारी और प्राइवेट हॉस्पिटल्स में उपलब्ध आईसीयू, ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड और सामान्य बेड की जानकारी ले सकते हैं। लोग वेबसाइट या ऐप पर किसी भी हॉस्पिटल में इसकी ऑनलाइन बुकिंग भी कर सकते हैं। यह बुकिंग दो घंटे तक के लिए मान्य होगी। इस बीच मरीज के नहीं पहुंचने पर बेड किसी दूसरे जरूरतमंद को आवंटित किया जा सकता है।

8595524447 पर कीजिए वीडियो कॉल

सरकार ने एक नंबर भी जारी किया है, जिसपर वीडियो कॉल के जरिए लोग विशेषज्ञ डॉक्टरों से सीधे बात कर सकते हैं। यह नंबर है- 8595524447। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इन सेवाओं की लांचिंग के मौके पर कहा कि झारखंड सरकार लोगों को हर आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराने की दिशा में तत्पर है।

चुनौतियों से निपटने के लिए उठाए जा रहे कई कदम 

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में जिस तेजी से संक्रमण बढ़ रहा है, सरकार भी उसी गति के साथ इससे निपटने के लिए काम कर रही है. इस सिलसिले में अस्पतालों में ऑक्सीजन युक्त बेड और वेंटिलेंटर निरतंर बढ़ रहे हैं. संक्रमितों को बेहतर और समुचित स्वास्थ्य सुविधाएं देने का प्रयास लगातार जारी है. आइसोलेशन में रहने वाले संक्रमितों को कोविड मेडिकल किट उपलब्ध कराया जा रहा है. अबतक लगभग 43 हजार लोगों को यह उपलब्ध कराया जा चुका है. वहीं कोविड सर्किट के माध्यम से 800 से ज्यादा संक्रमितों को ऑक्सीजन युक्त बेड उपलब्ध कराया जा चुका है. संजीवनी वाहन के माध्यम से अस्पतालों के लिए इमरजेंसी में चौबीस घंटे ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था की गई है. वहीं निजी अस्पतालों में कोविड मरीजों के लिए 70 प्रतिशत बेडों को  आरक्षित करने का निर्देश दिया जा चुका है. 

यह भी पढ़े –डार्क चॉकलेट सहित इस खाद्य पदार्थों का सेवन से होगा कोरोना मरीजों को लाभ,केंद्र सरकार ने जारी सामान की लिस्ट

सर्दी, जुकाम और बुखार को हल्के में न लें 

मुख्यमंत्री ने राज्यवासियों से आग्रह किया कि वे सर्दी, जुकाम और बुखार को कदापि हल्के में न लें. यह  कोरोना का लक्षण हो सकता है. अगर किसी में ये लक्षण हैं तो वे तुरंत अपने को आइसोलेट कर लें और कोरोना टेस्ट कराएं. इससे ना सिर्फ आप अपने को बचा सकते हैं बल्कि परिवार को भी सुरक्षित रख सकते हैं. उन्होंने कहा कि जानकारी के अभाव में लोग हतोत्साहित हो रहे है. मेरा लोगों से आग्रह है कि वे घबराएं नहीं. 

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|