Central government issued a letter to the states, strict prevention should be done in districts with infection rate more than 10 percent
राष्ट्रीय स्वास्थ

सावधान :केंद्र सरकार ने राज्यों को जारी किया पत्र,संक्रमण दर 10 फीसद से ज्यादा वाले जिलों में करें सख्त रोकथाम

Khaskhabar/कोरोना महामारी की दूसरी लहर में सुधरते हालात के बीच केंद्र ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को अत्यधिक सावधान रहने को कहा है। राजस्थान, त्रिपुरा, असम, केरल और बंगाल समेत 14 राज्यों को लिखे पत्र में केंद्र ने कहा है कि जिन जिलों में 21-27 जून के बीच कोरोना संक्रमण की दर 10 फीसद से ज्यादा थी, वहां रोकथाम के उपायों को सख्ती के साथ लागू किया जाए।

Khaskhabar/कोरोना महामारी की दूसरी लहर में सुधरते हालात के बीच केंद्र ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को अत्यधिक सावधान रहने को कहा है। राजस्थान, त्रिपुरा, असम, केरल और बंगाल समेत 14 राज्यों को लिखे पत्र
Posted by khaskhabar

पत्र में कहा है कि मामलों में कमी आने के साथ ही निगरानी बढ़ाना अनिवार्य

नए मामलों वाले क्षेत्रों की पहचान करने के लिए जिला नोडल अधिकारी जिलाधिकारी/ नगर आयुक्त के साथ मिलकर काम करें। साथ ही जरूरत के हिसाब से जरूरी रोकथाम के उपायों का क्रियान्वयन सुनिश्चित करें।केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को लिखे पत्र में कहा है कि मामलों में कमी आने के साथ ही निगरानी बढ़ाना अनिवार्य हो गया है। उन्होंने जिला और तहसील स्तर पर निगरानी बढ़ाने की जरूरत पर जोर दिया है।

सभी राज्यों से सख्त उपाय करने को कहा

भूषण ने अपने पत्र में गृह मंत्रालय के 29 अप्रैल के आदेश का भी जिक्र किया है, जिसमें कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए सभी राज्यों से सख्त उपाय करने को कहा गया था। भूषण ने कहा है कि ज्यादा संक्रमण दर वाले जिलों में हालात में सुधार करने के लिए सख्त उपाय किए जाने जरूरी हैं। 

फैसला बहुत ही सोच समझकर परिस्थितियों का अध्ययन करने के बाद किया जाना चाहिए

उन्होंने संबंधित राज्यों में 10 फीसद से ज्यादा संक्रमण दर वाले जिलों का भी जिक्र किया है।भूषण ने 29 जून को लिखे पत्र में कहा है कि हालात सुधरने के साथ ही प्रतिबंधों को उठाया जा रहा है और उनमें छूट दी जा रही है, लेकिन इसका फैसला बहुत ही सावधान सोच समझकर, सावधानीपूर्वक और परिस्थितियों का अध्ययन करने के बाद किया जाना चाहिए। भूषण ने उपरोक्त राज्यों के अलावा मणिपुर, सिक्किम, पुडुचेरी, ओडिशा, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, अरुणाचल प्रदेश और हिमाचल प्रदेश को भी पत्र लिखा है।

भूषण ने कहा कि जो जिला प्रशासन संक्रमण दर को देखते हुए पाबंदियां लगाने का सावधान फैसला करता है तो उसे 14 दिनों तक प्रभावी रखा जाए। जिले के जो इलाके कंटेनमेंट जोन में नहीं हों, वहां प्रतिबंधों में छूट दी जा सकती है या पाबंदियों को हटाया जा सकता है।

एक दिन में 817 लोगों की मौत

 बीते 24 घंटे में 50 हजार से कम नए केस मिले हैं, हालांकि, एक दिन पहले की तुलना में नए मरीजों की संख्या कुछ ज्यादा है लेकिन मरीजों के स्वस्थ होने की दर बढ़कर 96.92 फीसद हो गई है और मृत्युदर 1.31 फीसद पर बनी हुई है।केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से बुधवार सुबह आठ बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के मुताबिक देश में सक्रिय मामले कुल संक्रमितों का 1.77 फीसद रह गए हैं। लगातार तीसरे दिन मृतकों की संख्या हजार से नीचे रही है। वास्तव में 81 दिन बाद सबसे कम 817 लोगों की मौत हुई है।

यह भी पढ़े —अमेरिका में भीषण गर्मी का कहर,भारी मांग के चलते करीब 9,300 उपभोक्ताओं के यहां बत्ती गुल,रेड अलर्ट जारी

भारत की स्थिति लगातार बेहतर हो रही ,सक्रिय मामले साढ़े पांच लाख से नीचे

कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में भारत की सावधान स्थिति लगातार बेहतर हो रही है। संक्रमण के नए मामले कम हो रहे हैं और ज्यादा मरीज ठीक हो रहे हैं। इसके परिणामस्वरूप सक्रिय मामलों में लगातार गिरावट आ रही है और इनकी संख्या साढ़े पांच लाख से नीचे आ गई है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|