Bulldozer started again in Noida's Omaxe Society, illegal constructions were demolished
राष्ट्रीय

नोएडा की ओमैक्स सोसायटी में फिर चला बुलडोजर, अवैध निर्माण ढहाए गए

श्रीकांत त्यागी (Shrikant Tyagi) वाली सोसायटी के नाम से फेमस हो चुकी नोएडा की ओमेक्स सोसायटी एक बार फिर सुर्खियों में है. आज शुक्रवार को शहर के सेक्टर 93बी स्थित उसी सोसायटी में एक बार फिर से नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) का बुलडोजर (bulldozer) कार्रवाई के लिए पहुंचा तो हड़कंप मच गया.

श्रीकांत त्यागी (Shrikant Tyagi) वाली सोसायटी के नाम से फेमस हो चुकी नोएडा की ओमेक्स सोसायटी एक बार फिर सुर्खियों में है. आज शुक्रवार को शहर के सेक्टर 93बी स्थि

ओमैक्स सोसायटी के लोगों के भारी विरोध के बावजूद अवैध निर्माण ध्वस्त किए गए

अवैध निर्माण तोड़ने के लिए पहुंची टीम देखकर सोसायटी के लोगों ने बड़ी संख्या में इकट्ठा हो कर हंगामा किया. इन लोगों का कहना है कि प्राधिकरण की टीम बिना बताए कार्यवाही करने आई. प्रशासन की कार्रवाई के दौरान सोसायटी के लोगों के भारी विरोध के बावजूद अवैध निर्माण ध्वस्त किए गए. इस दौरान कुछ निवासी, जिन्होंने अपनी बालकनी या छज्जे पर लगाए गए शेड को तोड़े जाने पर नाराजगी जताई.

अफरातफरी के बीच कुछ लोग ये कहते नजर आए कि उन्होंने कोई गलत काम नहीं किया

लोगों ने कहा कि उनका शेड बिल्डर की तरफ से दी गई इजाजत से लगाया गया है, ऐसे में भला यह अवैध कैसे हो सकता है? हंगामे और अफरातफरी के बीच कुछ लोग ये कहते नजर आए कि उन्होंने कोई गलत काम नहीं किया है इसलिए अथॉरिटी का बुलडोजर पहले उनके ऊपर से गुजरेगा.

श्रीकांत त्यागी की महिला को दी गई गालियों और उसकी बदसलूकी जैसी गलत वजहों से चर्चा में आई

आपको बताते चलें कि ये वही सोसायटी है जो श्रीकांत त्यागी की महिला को दी गई गालियों और उसकी बदसलूकी जैसी गलत वजहों से चर्चा में आई थी. इस कार्रवाई की भनक लगते ही ग्रैंड ओमैक्स सोसायटी के लोग सुबह से ही गेट पर जुटने लगे.

यह भी पढ़े —गुजरात में गरबा के खराब इंतजाम को लेकर एक अधिवक्ता ने उपभोक्ता फोरम में कराईशिकायत दर्ज

सोसायटी की तरफ से जो नियम बने हैं, उसका पालन किया गया

यहां की कुछ महिलाएं और पुरुष अपने हाथों में तख्तियां लिए हुए गेट पर खड़े हो गए. वहीं दूसरी ओर पुलिस फोर्स की मौजूदगी के बीच जेसीबी मशीनें भी ओमेक्स सोसायटी के बाहर मुस्तैदी से डटी रहीं. कुछ महिलाओं ने जो प्लेकार्ड्स लिए थे उनमें लिखा था कि सोसायटी की तरफ से जो नियम बने हैं, उसका पालन किया गया है. फिर यह बुलडोजर क्यों?

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है
 |