दुनिया

G7 देशों के सम्मेलन में मोदी को ब्रिटिश पीएम बोरिस द्वारा ब्रिटेन आने का न्यौता,भारत को बताया ‘दुनिया की फार्मेसी

Khaskhabar/ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने G7 के शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित किया है. जॉनसन ने 11 से 13 जून के बीच कॉर्नवॉल तटीय क्षेत्र में होने वाले उच्चस्तरीय शिखर सम्मेलन का ब्योरा रविवार को दिया जिसकी अध्यक्षता ब्रिटेन करेगा.

Khaskhabar/ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने G7 के शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित किया है. जॉनसन ने 11 से 13 जून के बीच कॉर्नवॉल तटीय क्षेत्र में होने वाले उच्चस्तरीय शिखर सम्मेलन का ब्योरा रविवार को दिया जिसकी अध्यक्षता ब्रिटेन करेगा.
Posted by khaskhabar

जी7 समूह में ब्रिटेन, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान और अमेरिका हैं. ब्रिटेन के विदेश कार्यालय ने कहा कि ‘दुनिया की फार्मेसी’ के तौर पर भारत पहले ही दुनिया भर के 50 प्रतिशत से अधिक टीकों की आपूर्ति करता है और ब्रिटेन तथा भारत ने महामारी के दौरान मिलकर काम किया है.

भारत सहित दो अन्य देशों को आमंत्रित किया गया

इस सम्मेलन में कोरोना के बाद के विश्व को संभालने और हरित भविष्य के निर्णाण पर चर्चा होगी। इस चर्चा में अधिक विशेषज्ञता और अनुभव लाने के लिए भारत सहित दो अन्य देशों को आमंत्रित किया गया है। सम्मेलन में शामिल होने वाले 10 देश दुनिया के लोकतांत्रिक देशों की 60 प्रतिशत आबादी का प्रतिनिधत्व करते हैं।

Khaskhabar/ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने G7 के शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित किया है. जॉनसन ने 11 से 13 जून के बीच कॉर्नवॉल तटीय क्षेत्र में होने वाले उच्चस्तरीय शिखर सम्मेलन का ब्योरा रविवार को दिया जिसकी अध्यक्षता ब्रिटेन करेगा.
Posted by khaskhabar

वक्तव्य में कहा गया है कि दुनिया की आधी वैक्सीन भारत से निर्यात हो रही है। ऐसे में बदलते विश्व में भारत का महत्व बढ़ रहा है। कोरोना काल में प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन लगातार प्रधानमंत्री मोदी के संपर्क में रहे हैं। ब्रिटेन सुरक्षा परिषद का पहला स्थाई देश है जिसने भारत की स्थाई सदस्यता का समर्थन किया है और जी7 देशों के सम्मेलन में 2005 में आमंत्रित किया है।

विवार को मोदी को औपचारिक निमंत्रण भेजा गया

जॉनसन ने पिछले साल फोन करके मोदी को न्योता दिया था. तब भारत को दक्षिण कोरिया तथा ऑस्ट्रेलिया के साथ इस सम्मेलन का अतिथि देश चुना गया था. रविवार को मोदी को औपचारिक निमंत्रण भेजा गया. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने जी7 शिखर-सम्मेलन से पहले भारत यात्रा की अपनी योजना दोहराई. इससे पहले उनका भारत में गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल होने का कार्यक्रम कोरोना वायरस संकट की वजह से रद्द हो गया.

यह भी पढ़े—लंबे समय से अटकलों के बावजूद पीएम मोदी 23 को और 30 को अमित शाह आ रहे बंगाल द्वारे पर

जी7 देशों के सम्मेलन से पहले भारत आने की संभावना

विदेश कार्यालय के अनुसार भारत, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण कोरिया को निमंत्रण बहुपक्षीय संस्थाओं में आज की दुनिया का बेहतर प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करने की ब्रिटेन की प्रतिबद्धता का प्रमाण है.उल्लेखनीय है कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री इस बार होने वाली गणतंत्र दिवस परेड में मेहमान नेता के तौर पर आमंत्रित थे। हालांकि कोरोना के नए संक्रमण के प्रसार के चलते उनकी यात्रा टल गई । उनके जी7 देशों के सम्मेलन से पहले भारत आने की संभावना है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|