दुनिया

Blue Moon 2020:आज होंगे दुर्लभ चांद के दर्शन,सेकेंड वर्ल्ड वॉर के बाद पहली बार ‘ब्लू मून’ का दीदार

Khaskhabar/Blue Moon 2020:आज रात का ब्‍लू मून बहुत ही ख़ास है,ऐसा संयोग सेकेंड वर्ल्ड वॉर के बाद पहली बार है जब आज रात होगा ‘ब्लू मून’ का दीदार इसकी वैज्ञानिक वजह वजह क्या है आईये जानते है।अक्टूबर महीना शनिवार को ‘ब्लू मून’ का गवाह बनेगा और इस दौरान एक महीने के भीतर दूसरी बार दुर्लभ पूर्ण चंद्र दिखेगा। आम तौर पर हर महीने में एक बार पूर्णिमा और एक बार अमावस्या होती है। हालांकि, ऐसा दुर्लभ ही होता है कि एक ही महीने में दो बार पूर्णिमा (पूर्ण चंद्र) होती है और ऐसे में दूसरे पूर्ण चंद्र को ‘ब्लू मून’ कहा जाता है।

Khaskhabar/Blue Moon 2020:आज रात का ब्‍लू मून बहुत ही ख़ास है,ऐसा
Posted by khaskhabar

एक अक्टूबर को पूर्णिमा थी और अब दूसरी पूर्णिमा 31 अक्टूबर को है। इसमें कुछ गणितीय गणना भी शामिल है।चंद्र मास की अवधि 29.531 दिनों अथवा 29 दिन, 12 घंटे, 44 मिनट और 38 सेकेंड की होती है, इसलिए एक ही महीने में दो बार पूर्णिमा होने के लिए पहली पूर्णिमा उस महीने की पहली या दूसरी तारीख को होनी चाहिए। 

इसके बाद अगला ‘Blue Moon‘ कब होगा

प्रांजपेय ने कहा कि 30 दिन वाले महीने में पिछली बार 30 जून, 2007 को ‘ब्लू मून’ रहा था और अगली बार यह 30 सितंबर 2050 को होगा।

Khaskhabar/Blue Moon 2020:आज रात का ब्‍लू मून बहुत ही ख़ास है,ऐसा
Posted by khaskhabar

उन्होंने कहा कि वर्ष 2018 में दो बार ऐसा अवसर आया जब ‘ब्लू मून’ की घटना हुई। उस दौरान पहला ‘Blue Moon 2020’ 31 जनवरी जबकि दूसरा 31 मार्च को हुआ। इसके बाद अगला ‘ब्लू मून’ 31 अगस्त 2023 को होगा।ब्लू मून का दीदार रात 8.19 बजे के करीब हो सकेगा. ‘Blue Moon 2020’ की खगोलीय घटना बेहद दुर्लभ होती है. भले ही इस घटना को ‘ब्लू मून’ नाम दिया गया हो लेकिन ऐसा नहीं है कि चांद दुनिया में हर जगह नीले रंग का दिखने लगता है. असल में जब वातावरण में प्राकृतिक वजहों से कणों का बिखराव हो जाता है तब कुछ जगहों पर दुर्लभ नजारे के तौर पर चंद्रमा नीला प्रतीत होता है.’

Khaskhabar/Blue Moon 2020:आज रात का ब्‍लू मून बहुत ही ख़ास है,ऐसा
Posted by khaskhabar

हैलोवीन(halloween 2020)की रात को ही करीब 76 साल बाद चांद अपने खास ब्लू मून अवतार में

अमेरिका, कनाडा, इंग्लैंड, न्यूज़ीलैंड, आयरलैंड और ऑस्ट्रेलिया आदि देशों में 31 अक्टूबर की रात को हैलोवीन त्योहार मनाया जाता है. हैलोवीन की रात को ही करीब 76 साल बाद चांद अपने खास ब्लू मून अवतार में आकाश में चमकेगा. जब लोग रात में हॉन्टेड हाउसों में भूत प्रेतों की पोशाकों में पहुंचकर बोनफायर कर रहे होंगे, उस वक्त ये चांद उनके इस पल को और भी खास बनाने वाला है. आइए जानते हैं ब्लू मून और हैलोवीन के बारे में.

यह भी पढ़े—Sharad Purnima 2020: शरद पूर्णिमा पर चंद्रदेव की ऐसे करें पूजा,जाने पूर्णिमा की खीर क्यों होती है इम्यून बूस्टर?

हैलोवीन दुनिया के कई पश्चिमी देशों में मनाया जाता है। अब तो ये धीरे धीरे भारत के भी कुछ हिस्सों में मनाया जाने लगा है। कहा जा रहा है कि हैलोवीन की इस रात 31 अक्टूबर को चांद अपने नये अवतार में दिखेगा। दुनिया भर के खगोल शास्त्र‍ियों में इस आकाशीय घटना को लेकर बहुत उत्साह है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है |