राष्ट्रीय

मॉर्चुरी में बर्थडे! लड़कियों के साथ रंगरेलियां मनाते हुए रंगे हाथ पकड़े गए इंदौर के MY हॉस्पिटल के कर्मचारी

Khaskhabar/प्रशासन किस कदर लापरवाही से काम करता है इसका जीता-जागता उदाहरण है मध्य प्रदेश के इंदौर के अस्पताल की मॉर्चुरी में लड़कियों का मिलना. घटना जिले के MY (महाराजा यशवंत राव) हॉस्पिटल की है. यहां कुछ दिन पहले लोग शव लेकर आए थे, लेकिन लड़कियों को देखकर हैरान रह गए. इसके बाद उन्होंने उनके फोटो वायरल कर दिए.

Khaskhabar/प्रशासन किस कदर लापरवाही से काम करता है इसका जीता-जागता उदाहरण है मध्य प्रदेश के इंदौर के अस्पताल की मॉर्चुरी में लड़कियों का मिलना. घटना जिले के MY (महाराजा यशवंत राव) हॉस्पिटल की है. यहां कुछ दिन पहले लोग शव
Posted by khaskhabar

लड़कियां देख शव रखने आए लोग दंग रह गए

लोगों ने ये फोटो मंगलवार को खींचे. दरअसल उस दिन हुआ ये कि कुछ लोग एक शव लेकर यहां पहुंचे. इस दौरान जब उन्होंने कमरे में देखा तो उन्हें लड़कों के साथ लड़कियां भी नजर आईं. लोगों ने जब लड़कों से सवाल किए तो लड़के बद्तमीजी पर उतर आए. लड़कों ने कहा- आप शव रखो और जाओ. फोटो खिंचती देख मॉर्चुरी के कर्मचारी लड़कियों को लेकर बाहर आ गए.

जानकारी के मुताबिक हॉस्पिटल मैनेजमेंट ने HLL Heights कंपनी को इस मॉर्चुरी की देखरेख का जिम्मा सौंप रखा है. जिन लोगों ने फोटो लिए हैं उनका कहना है कि इस कंपनी के कर्मचारी ही पिछले कई दिनों से यहां रात को लड़कियां लेकर आ रहे हैं. हॉस्पिटल के कर्मचारियों को इसकी जानकारी थी, लेकिन प्रबंधन अनजान है. यहां बीते दिनों मॉर्चुरी में एक बुजुर्ग का शव करीब 158 दिन पड़ा रहा था इसके बाद ही इसकी देखरेख का जिम्मा प्राइवेट कंपनी को सौंपा गया.

लड़कियां लड़कों की रिलेटिव, खाना देने आईं थीं- कंपनी

कंपनी के फैसिलिटी मैनेजर जीतू एस शेखर का कहना है, दोनों युवकों को 7 दिन के लिए निलंबित कर दिया गया है. शरुआती जांच में पता चला है कि लड़कियां उन लड़कों की रिलेटिव हैं. वे उन्हें रात में खाना देने आई थीं. इसके पहले भी वे आ चुकी हैं. यहां कुछ असामाजिक तत्व चोरी और दूसरी वारदात की कोशिश करते हैं. हमारे कर्मचारियों ने इन्हें रोका, इस पर उन लोगों ने यह काम किया है. हालांकि मामले की तह तक जाने की कोशिश की जा रही है.

क्या है पूरा मामला

दरअसल मंगलवार की रात को एक मृतक के परिजन अस्पताल के मुर्दाघर में शव लेकर पहुंचे थे तो वह अंदर का नजारा देख हैरान रह गए। यहां ड्यूटी पर तैनात दो कर्मचारी (लड़के), लड़कियों के साथ रंगरेलियां मना रहे थे। इसके बाद शव लाने वाले परिजनों ने जब इन्हें टोककर पूछा कि यह सब क्या चल रहा है? तो उल्टा कर्मचारी कहने लगे आप अपना काम कर जाओ यहां से।

यह भी पढ़े—भोपाल समेत प्रदेश के इन जिलों में 21 मार्च को लॉकडाउन, मंत्रालय में कोरोना की आपात बैठक बुलाई

बर्थडे मनाने पहुंची थी युवती

अस्पताल प्रशासन ने मुर्दाघर की चौकसी और लेने देने का जिम्मा एक निजी कंपनी को दे रखा है और रात में उसकी तरफ से यहां दो कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाती है। लेकिन शाम को 6-7 बजे से यहां आवाजाही बंद हो जाती है जिसका फायदा दोनों कर्मचारी उठा रहे थे। ये दोनों लड़के हर रोज दो लड़कियों को यहां ला रहे थे। खबर के मुताबिक एक लड़की तो मंगलवार को यहां अपना ब्वॉयफ्रेंड का जन्मदिन मनाने पहुंची थी।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|