राष्ट्रीय

Bengaluru Violence News: बेंगलुरु हिंसा में SDPI के कई नेता गिरफ्तार, 3 लोगो की मौत; 250 से ज्यादा गाड़िया ख़ाक

Khas Khabar(Khaskhabar.online) | बेंगलुरु में सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर हिंसा भड़क गई है। इस दौरान हालात को काबू करने के लिए पुलिस को फायरिंग भी करनी पड़ी, जिसमें दो लोगों की मौत हो गई। वहीं, एक अन्य शख्स को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अचानक भड़की हिंसा में 60 पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। वहीं, मामले में पुलिस ने अबतक 145 लोगों को गिरफ्तार किया है। हालात को देखते हुए इलाके में CRPF और CISF की कुछ कंपनियों को भी तैनात किया गया है। कर्नाटक के सीएम येदियुरप्‍पा ने घटना के पीछे जिम्‍मेदार लोगों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की बात कही है।

बेंगलुरु हिंसा
Posted By – Khas Khabar

कर्नाटक के गृह मंत्री बसवराज बोम्मई ने बेंगलुरु हिंसा पर कहा कि यह निर्णय लिया गया है कि जिला मजिस्ट्रेट घटना की जांच करेंगे। अब तक 146 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

यह भी पढ़े — Janmashtami 2020:”भये प्रगट कृपाला दीन दयाला “की गूंज के साथ , मथुरा-वृंदावन में कान्हा के जन्म की तैयारियां पूरी,वैष्णव संप्रदाय की जन्माष्टमी आज

वहीं, बेंगलुरु हिंसा पर कर्नाटक के मंत्री सीटी रवि ने कहा कि दंगे की योजना बनाई गई थी। संपत्ति के विनाश में पेट्रोल बम और पत्थरों का इस्तेमाल किया गया। 300 से अधिक वाहन जल गए। हमारे पास संदिग्ध हैं, लेकिन जांच के बाद ही पुष्टि हो सकती है। हम उत्तर प्रदेश की तरह दंगाइयों से संपत्ति की वसूली करेंगे।

बेंगलुरु हिंसा
Posted By – Khas Khabar

बेंगलुरु के डीजे हल्ली और केजी हल्ली पुलिस थाना इलाके में देर रात ये हिंसा हुई,जिसके बाद इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया है। इसके साथ ही बेंगलुरु में धारा 144 लगाई गई है। सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट शेयर करने के आरोपी नवीन को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस के मुताबिक, अब स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। RAF, CRPF और CISF की कुछ कंपनियों को भी तैनात किया गया है।

पुलिस ने सुनाई आपबीती

बेंगलुरु सिटी पुलिस कमिश्नर कमलकांत ने बताया कि फेसबुक पोस्ट के बाद लोग उस इलाके में इकट्ठा हो गए। हमारे ऑफिसर ने उन्हें हालात समझाने की कोशिश की। वो तत्काल गिरफ्तारी और अपने लिए सुरक्षा की मांग कर रहे ​थे। जब उन्हें समझाया गया कि ये इस तरह से नहीं हो सकता तो वो गुस्सा हो गए और पत्थरबाजी करने लगे। इस दौरान वाहनों में आग लगा दी गई और उन्हें ​क्षतिग्रस्त किया गया। एक ग्रुप बेसमेंट में गया और वहां करीब 200-250 वाहनों में आग लगा दी।

जानें- क्यों भड़की हिंसा

बता दें कि पूरा हंगामा एक भड़काऊ सोशल मीडिया पोस्ट की वजह से हुआ। दरअसल, बेंगलुरु में कांग्रेस विधायक श्रीनिवास मूर्ति के भतीजे ने सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर कथित भड़काऊ पोस्ट किया था। हालांकि, बाद ये पोस्ट डिलीट भी कर दी गई। बावजूद इसके कथित भड़काऊ पोस्ट को लेकर बड़ी संख्या उपद्रवियों ने विधायक श्रीनिवास मूर्ति के बेंगलुरु स्थित आवास पर हमला कर दिया और जमकर तोड़फोड़ की। इस दौरान आगजनी भी की गई। भीड़ ने पुलिस पर भी पथराव किया। भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस ने फायरिंग की, जिसके बाद इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar
फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|