धर्म राष्ट्रीय

Anant Chaturdashi 2020: आज है अनंत चतुर्दशी, भगवान विष्णु के अनंत रूप की जाती है पूजा, जानेंपूजा की विधि

Khaskhabar/Anant Chaturdashi 2020:पंचांग के अनुसार भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को अनंत चतुर्दशी के नाम से जाना जाता है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है।अनंत चतुर्दशी के पर्व पर भगवान विष्णु के अनंत रूप की पूजा की जाती है। इस समय चातुर्मास चल रहे हैं। चातुर्मास में भगवान विष्णु की पूजा विशेष महत्व रखती है।

Anant Chaturdashi 2020: Date and Time know the Ganesh Visarjan Muhurta  worship Lord Vishnu Puja Vidhi
Posted by khaskhabar

अनंत चतुर्दशी के दिन कई शुभ संयोग

इस साल अनंत चतुर्दशी के दिन कई शुभ संयोग बन रहे हैं। जिनमें अनंत चतुर्दशी की पूजा का कई गुना लाभ प्राप्त कर सकते हैं। यह प्रसिद्ध पर्व सोमवार (31 अगस्त, 2020) को मनाया जायेगा। उदयकाल से लेकर तीन मुहूर्त तक व्याप्त चतुर्दशी को करने का शास्त्र सम्मत विधान है। आज के दिन अनंत कथा सुनने, अनंत धारण करने के साथ मीठा पकवान भगवान विष्णु को अर्पित कर प्रसाद स्वरूप परिजनों सहित ग्रहण करना पूर्ण फलदायी है|

अनंत चतुर्दशी पर पूजा का शुभ मुहूर्त

इस दिन का पंचांग के अनुसार चतुर्दशी तिथि पर प्रात:काल स्नान करने के बाद पूजा का आरंभ करें। भगवान विष्णु की प्रिय चीजों का भोग लगाएं। भगवान विष्णु को पीला रंग बहुत प्रिय है. इसलिए पूजा में पीले रंग की चीजों का प्रयोग करें। पंचांग के अनुसार सुबह 5 बजकर 59 से 09 बजकर 41 मिनट तक अनंत चतुर्दशी की पूजा का मुहूर्त है. पूजा के बाद अनंत सूत्र को बांधें।

अनंत चतुर्दशी की कथा

इस दिन का संबंध महाभारतकाल से है। कथा अनुसार, कौरवों से जुआ हारने के बाद पांडव वन-वन भटक रहे थे तब श्रीकृष्ण ने युधिष्ठिर से कहा- हे धर्मराज! जुआ खेलने के कारण देवी लक्ष्मी आप से रुष्ट हो गयी हैं। उन्हें प्रसन्न करने के लिए आपको अपने भाइयों के साथ अनंत चतुर्दशी का व्रत रखना चाहिए।

Anant Chaturdashi 2020:अनंत सूत्र का महत्व

Posted by khaskhabar

इस दिन पर अनंत सूत्र बांधने की परंपरा है। अनंत सूत्र को लेकर ये मान्यता है कि इस सूत्र में भगवान विष्णु का वास होता है। अनंत चतुर्दशी पर अनंत सूत्र को भगवान विष्णु की पूजा करने के बाद इसे बांह में बांधा जाता है। अनंत सूत्र को पहने से पहले ये जान लेना चाहिए कि अनंत सूत्र में 14 गांठें होनी चाहिए। क्योंकि 14 गांठों को 14 लोकों से जोड़कर देखा जाता है। मान्यता है कि भौतिक जगत में 14 लोक बनाए जिनमें भूर्लोक, भुवर्लोक, स्वर्लोक, महर्लोक, जनलोक, तपोलोक, ब्रह्मलोक, अतल, वितल, सतल, रसातल, तलातल, महातल और पाताल लोक शामिल है। अनंत सूत्र में लगने वाली प्रत्येक गांठ एक लोक का प्रतिनिधित्व करती है।

Anant Chaturdashi 2020 Date Shubh Muhurat Puja Timing Puja Vidhi And  Mehatva - Anant Chaturdashi 2020: जानें क्या है अनंत चतुर्दशी का महत्व, शुभ  मुहूर्त और पूजा विधि - Amar Ujala Hindi News Live
Posted by khaskhabar

अनंत सूत्र बांधने का नियम

अनंत चतुर्दशी पर अनंत सूत्र को बांधने का विशेष नियम भी है। इसलिए इस नियम का सदैव ध्यान रखना चाहिए। मान्यता है कि अनंत सूत्र को पुरुष दाहिने और महिलाओं को अपने बाएं हाथ में इसे बांधना चाहिए। इस दिन व्रत रखने का भी विधान है। इस दिन व्रत रखने से भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं और उनका आर्शीवाद प्राप्त होता है।

यह भी पढ़े —Guidelines For Unlock-4 : अनलॉक 4 की गाइड लाइन जारी, शुरू होगी मेट्रो सेवा, बंद रहेंगे स्कूल, जानें और किन पर दी गई रियायतें

इस दिन पूजा करते समय इस मंत्र का करें जाप

अनंत संसार महासुमद्रे मग्रं समभ्युद्धर वासुदेव।

अनंतरूपे विनियोजयस्व ह्रानंतसूत्राय नमो नमस्ते।।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जाने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar
फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|