America left Afghanistan's main base, returning after almost 20 years
दुनिया

अमेरिका ने छोड़ दिया अफगानिस्तान का प्रमुख बेस,करीब 20 साल बाद हो रही है वापसी

Khaskhabar/अमेरिका ने आज अफगानिस्तान का प्रमुख बेस छोड़ दिया। अफगानिस्तान से अमेरिका सैनिकों की वापसी हो रही है। अमेरिकी सेना ने करीब 20 साल बाद अफगानिस्तान में प्रमुख सैन्य बेस बाग्राम बेस को छोड़ दिया है। ये बेस कभी तालिबान को उखाड़ फेंकने के लिए हुए युद्ध और अमेरिका पर 9/11 में हुए आतकंवादी हमले के जिम्मेदार अल-कायदा के साजिशकर्ताओं की धर-पकड़ के लिए सेना का केंद्र रहा था। 

Khaskhabar/अमेरिका ने आज अफगानिस्तान का प्रमुख बेस छोड़ दिया। अफगानिस्तान से अमेरिका सैनिकों की वापसी हो रही है। अमेरिकी सेना ने करीब 20 साल बाद अफगानिस्तान में प्रमुख सैन्य बेस बाग्राम बेस को
Posted by khaskhabar

दो दशक के युद्ध के बाद अफगानिस्तान से सभी अमेरिकी बलों की वापसी की अनुमति

दो अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। अमेरिका ने शुक्रवार को अफगानिस्तान में अपने मुख्य सैन्य अड्डों से सैनिकों की वापसी शुरू कर दी। एक अमेरिकी रक्षा अधिकारी ने कहा कि तालिबान के साथ एक समझौते के तहत दो दशक के युद्ध के बाद अफगानिस्तान से सभी अमेरिकी बलों की वापसी की अनुमति दी गई।

गठबंधन की पूरी सेना ने बाग्राम को छोड़ दिया

अधिकारी ने अपनी पहचान ना बताने की शर्त पर कहा कि गठबंधन की पूरी सेना ने बाग्राम को छोड़ दिया है। अधिकारियों ने बताया कि एयरफील्ड ‘अफगान राष्ट्रीय सुरक्षा एवं रक्षा बल’ को पूरी तरह से सौंप दिया गया है। एक अधिकारी ने बताया कि बलों की रक्षा का अधिकार और क्षमताएं अभी भी अफगानिस्तान में अमेरिका के शीर्ष कमांडर जनरल ऑस्टिन एस मिलर के पास हैं।

अमेरिका ने इसकी समयसीमा 11 सितंबर रखी

हालांकि उन्होंने ये नहीं बताया कि काबुल के 50 किमी उत्तर में स्थित इस बेस को सैनिकों ने कब छोड़ा।अफगानिस्तान में बीते दो दशक तक चले युद्ध के बाद अमेरिका और नाटो देशों के सैनिक यहां से वापस जा रहे हैं। अमेरिका ने इसकी समयसीमा 11 सितंबर रखी है। इस समय सीमा तक सभी अमेरिकी सैनिक लौट आएंगे।

अफगान सेना को आधिकारिक तौर पर बेस सौंपने को लेकर कोई जानकारी नहीं

इसके साथ ही अधिकारी ने ये भी साफ नहीं बताया कि बेस आधिकारिक तौर पर अफगान सेना को कब सौंपा जाएगा। पहचान न बताने की शर्त पर समाचार एजेंसी एएफपी से वरिष्ठ अफगान अधिकारी ने कहा कि हमें अभी तक अफगान सेना को आधिकारिक तौर पर बेस सौंपने को लेकर कोई जानकारी नहीं मिली है। 

यह भी पढ़े —प्राइवेट स्‍कूलों को लौटानी होगी 15 फीसद फीस,दिल्‍ली सरकार ने अभिभावकों को दी बड़ी राहत

सैनिकों की वापसी वाली अमेरिकी घोषणा के बाद से ही देश में हमले तेज

अफगानिस्तान में तालिबान अपनी ताकत बढ़ाता जा रहा है। इसने सैनिकों की वापसी वाली अमेरिकी घोषणा के बाद से ही देश में हमले तेज कर दिए जिसमें सैनिकों, आम नागरिकों और मुख्य तौर पर महिलाओं को निशाना बनाया जा रहा है। इसके साथ ही देश के कई बड़े हिस्सों पर भी कब्जा कर लिया गया है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|