अग्निपथ
राष्ट्रीय

‘अग्निपथ’ के तहत ही तीनों सेनाओं में होगी भर्ती, तारीख का ऐलान, हिंसा करने वालों को मौका नहीं

khaskhabar/रविवार को ‘अग्निपथ’ योजना को लेकर तीनों सेनाओं की ओर से जॉइंट प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में ये साफ कर दिया गया कि अग्निपथ योजना के तहत ही तीनों सेनाओं में भर्ती होगी। तीनों सेनाओं ने भर्ती शुरू करने के लिए तारीखों का भी ऐलान कर दिया। इसके साथ ही भर्ती में शामिल होने वाले हर अभ्‍यर्थी को एक एफिडेविट देना होगा।इसमें उन्‍हें घोषणा करनी होगी कि उन्‍होंने किसी हिंसक प्रदर्शन में हिस्‍सा नहीं लिया।

Posted by khaskhabar

वायुसेना की भर्ती प्रक्रिया 24 जून से शुरू होगी जबकि नौसेना की भर्ती प्रक्रिया 25 जून से

साथ ही उन पर कोई केस दर्ज नहीं है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में लेफ्ट‍िनेंट जनरल अनिल पुरी ने स्‍कीम से जुड़े कई सवालों का जवाब दिया और स्कीम के बारे में बताया।तीनों सेनाओं ने भर्ती प्रक्रिया शुरू करने के लिए तारीखों का एलान भी कर दिया है। वायुसेना की भर्ती प्रक्रिया 24 जून से शुरू होगी जबकि नौसेना की भर्ती प्रक्रिया 25 जून से शुरू होगी।

किसी भी युवा के खिलाफ FIR होती है तो उसे सेना में भर्ती होने का मौका नहीं दिया जाएगा

थलसेना ने कहा है कि उसकी भर्ती प्रक्रिया 1 जुलाई से शुरू हो जाएगी।सेना ने देशभर में हो रहे प्रदर्शन को लेकर नाराजगी भी व्यक्त की है। सेना ने कहा कि कुछ संस्थान जिन्होंने छात्रों से तैयारी के पैसे ले लिए हैं वे उन्हें उकसा रहे हैं। सेना एक बात साफ कर देना चाहती है कि अगर किसी भी युवा के खिलाफ FIR होती है तो उसे सेना में भर्ती होने का मौका नहीं दिया जाएगा।

योजना युवाओं के भविष्य के लिए सोच-समझकर उठाया गया कदम

सेनानिवृति के सवाल पर अनिल पुरी ने कहा कि हर साल लगभग 17,600 लोग तीनों सेवाओं में समय से पहले सेवानिवृत्ति ले रहे हैं। किसी ने कभी उनसे यह पूछने की कोशिश नहीं की कि वे सेवानिवृत्ति के बाद क्या करेंगे? उन्होंने कहा कि यह योजना युवाओं के भविष्य के लिए सोच-समझकर उठाया गया कदम है।अनिल पुरी ने कहा कि देश की सेवा में बलिदान देने वाले अग्निवीरों को एक करोड़ रुपये का मुआवजा मिलेगा।

अग्निपथ योजना के तहत भर्ती करने के लिए विवरण जारी किया

‘अग्निवर’ को सियाचिन और अन्य क्षेत्रों जैसे क्षेत्रों में वही भत्ता और सुविधाएं मिलेंगी जो वर्तमान में नियमित सैनिकों पर लागू होती है। सेवा शर्तों में उनके साथ कोई भेदभाव नहीं होगा।भारतीय वायुसेना ने अग्निपथ योजना के तहत भर्ती करने के लिए विवरण जारी किया है। इस विवरण में वायुसेना ने बताया है कि अग्निपथ सशस्त्र बलों के लिए एक नई मानव संसाधन प्रबंधन योजना है।

देश के सभी हिस्सों से उम्मीदवारों को अग्निवीर के रूप में नामांकित करने का प्रयास किया जाएगा

इस योजना के माध्यम से शामिल किए गए उम्मीदवारों को अग्निवीर कहा जाएगा। इनकी भर्ती वायुसेना अधिनियम 1950 के तहत चार वर्षों के लिए की जाएगी। देश के सभी हिस्सों से उम्मीदवारों को अग्निवीर के रूप में नामांकित करने का प्रयास किया जाएगा।भर्ती में 17.5 वर्ष से 21 वर्ष तक के उम्मीदवार शामिल हो सकेंगे। यह भर्ती चार सालों के लिए होगी। इसके बाद परफॉर्मेंस के आधार पर 25 फीसदी कर्मियों को वापस से रेगुलर कैडर के लिए नामांकित किया जाएगा।

यह भी पढ़े — Nikhat Zareen: बॉक्सर निकहत जरीन का फैन हुआ ट्विटर, दिया स्पेशल गिफ्ट

भारतीय वायु सेना के नियमित कैडर में एयरमैन के रूप में नामांकन

बता दें कि उम्मीदवारों को सशस्त्र बलों में आगे नामांकन के लिए चुने जाने का कोई अधिकार नहीं होगा। चयन सरकार का अनन्य क्षेत्राधिकार होगा। मेडिकल ट्रेडमैन को छोड़कर भारतीय वायु सेना के नियमित कैडर में एयरमैन के रूप में नामांकन केवल उन्हीं कर्मियों को दिया जाएगा, जिन्होंने अग्निवीर के रूप में अपनी सेवा की अवधि पूरी कर ली है।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है
 |