After the announcement of Prime Minister Narendra Modi, Railways issued tender for 58 Vande Bharat trains, 75 trains will be run
कारोबार राष्ट्रीय

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की घोषणा के बाद रेलवे ने 58 वंदे भारत ट्रेनों के लिए टेंडर जारी,75 ट्रेनें चलाई जाएंगी

Khaskhabar/स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की घोषणा के बाद रेलवे ने 58 वंदे भारत ट्रेनों (ट्रेन-18) के लिए टेंडर जारी कर दिए हैं। घोषणा के मुताबिक, आजादी के अमृत महोत्सव के 75 हफ्तों में देश के विभिन्न हिस्सों को जोड़ने के लिए ऐसी 75 ट्रेनें चलाई जाएंगी। वर्तमान में ऐसी दो ट्रेनों का संचालन हो रहा है। नए कोचों का निर्माण चेन्नई स्थित इंटीग्रल कोच फैक्ट्री, रायबरेली स्थित माडर्न कोच फैक्ट्री और कपूरथला स्थिति रेल कोच फैक्ट्री में किया जाएगा।

Khaskhabar/स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की घोषणा के बाद रेलवे ने 58 वंदे भारत ट्रेनों (ट्रेन-18) के लिए टेंडर जारी कर दिए हैं। घोषणा के मुताबिक, आजादी के अमृत महोत्सव के 75 हफ्तों
Posted by khaskhabar

75 फीसद स्वदेशी कलपुर्जो के इस्तेमाल को अनिवार्य बनाया गया

रेलवे ने पिछले साल 44 वंदे भारत ट्रेनों की खरीद के लिए संशोधित टेंडर जारी किया था, जिसमें 75 फीसद स्वदेशी कलपुर्जो के इस्तेमाल को अनिवार्य बनाया गया था। इसके बाद सरकार ने इस परियोजना के लिए तीन वैश्विक टेंडरों को रद कर दिया था। एक अधिकारी ने बताया कि 28 अगस्त को नए टेंडर जारी होने के बाद अब मार्च, 2024 तक रेलवे को ऐसी 102 ट्रेनों की आपूर्ति की जाएगी। इनमें से 75 ट्रेनें 15 अगस्त, 2023 तक उपलब्ध होंगी।

वैक्यूम आधारित बायो टॉयलेट समेत अन्य सुविधाएं शामिल

नई आने वाली वंदे भारत ट्रेनें आधुनिक सुविधाओं से लैस होंगी। इसमें ऐसे मॉडर्न फीचर्स होंगे, जो आपात स्थिति में लोगों को बचाने में मदद करेंगे। नई आने वाली वंदे भारत ट्रेनों में जीपीएस-आधारित यात्री सूचना प्रणाली, सीसीटीवी कैमरे, स्वचालित स्लाइडिंग डोर तथा वैक्यूम आधारित बायो टॉयलेट समेत अन्य सुविधाएं शामिल हैं। वंदे भारत ट्रेनों में आपात स्थितियों में यात्रियों को निकालने के लिए चार आपातकालीन खिड़कियां लगाई जाएंगी। ट्रेनों में पुशबटन को बढ़ाकर दो से चार किया जाएगा।

यह भी पढ़े —बच्चों के लिए देश में एक और कोरोना रोधी वैक्सीन का परीक्षण होने वाला है शुरू

लोकोमोटिव इंजन के बिना दौड़ने वाली देश की पहली ट्रेन

पहली वंदे भारत ट्रेन ट्रेन वाराणसी-दिल्ली मार्ग और दूसरी कटरा-दिल्ली मार्ग के लिए शुरू की गई थी। वंदे भारत अडवांस फीचर्स से लैस लोकोमोटिव इंजन के बिना दौड़ने वाली देश की पहली ट्रेन है। वर्तमान में वंदे भारत की अधिकतम गति 110 किमी प्रति घंटे है। इसे आगे चलकर इसकी अधिकतम गति 130 किमी प्रति घंटे की जाएगी।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|