After a long time, the colors of gaiety will bloom on the faces free from restrictions, after two years there will be pomp
राष्ट्रीय

पाबंदियों से मुक्त चेहरों पर अरसे बाद खिलखिलाएंगे उल्लास के रंग,दो साल बाद होगी धूमधाम 

 Khaskhabar/साल 2020, अचानक ही कोरोना महामारी ने पैर पसारे और स्वतंत्र जीवन बंदिशों का कैदी बन गया। लाकडाउन, नाइट कर्फ्यू, शादी-समारोहों में न्यूनतम उपस्थिति जैसी पाबंदियों का सिलसिला लंबा चला। उत्साह, उल्लास और उमंग के रंगों से भरा होली का पर्व भी घर की चहारदीवारी में सिमट गया। अब तस्वीर बदली है।

 Khaskhabar/साल 2020, अचानक ही कोरोना महामारी ने पैर पसारे और स्वतंत्र जीवन बंदिशों का कैदी बन गया। लाकडाउन, नाइट कर्फ्यू, शादी-समारोहों में न्यूनतम उपस्थिति जैसी पाबंदियों का सिलसिला
Posted by khaskhabar

लगभग दो साल बाद पहली बार रंगोत्सव में पुराने रंग बिखेरने की तैयारी

कोरोना को लेकर लगाई गई पाबंदियां अधिकांश राज्यों में पूरी तरह से समाप्त कर दी गई हैं।इस क्रम में उत्तर प्रदेश ने गुरुवार को कोरोना संबंधी सभी पाबंदियां समाप्त कर दी हैं। दिल्ली, झारखंड, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार और उत्तराखंड में पहले ही यह प्रतिबंध समाप्त किए जा चुके हैं। लगभग दो साल बाद पहली बार रंगोत्सव में पुराने रंग बिखेरने की तैयारी है।

एक बार फिर पुराने अंदाज में हुरियारे गली-मोहल्लों से निकलेंगे

जम्मू-कश्मीर से लेकर झारखंड लोगों में गजब का उत्साह है, पड़ोसियों और मित्रों को गुलाल से रंगने की योजनाएं हैं और एक बार फिर पुराने अंदाज में हुरियारे गली-मोहल्लों से निकलेंगे। बाजारों में भी रौनक दिख रही है। हालांकि अभी महामारी का खतरा पूरी तरह से टला नहीं है। इसलिए कोरोना प्रोटोकाल से जुड़ी सावधानियों का पालन भी सुनिश्चित करना होगा। 

प्रतिबंधों को पूरी तरह समाप्त करते हुए वाटर पार्क आदि को खोलने की भी अनुमति दे दी गई

उत्तर प्रदेश में कोरोना संबंधी अधिकांश प्रतिबंधों को पूरी तरह समाप्त करते हुए अब तक बंद चल रहे स्विमिंग पूल, वाटर पार्क आदि को खोलने की भी अनुमति दे दी गई है। शादी-समारोहों में कितने भी लोग शामिल हो सकेंगे। तीसरी लहर ने दस्तक दी तो कुछ सतर्कता बरती गई, लेकिन प्रतिबंधों को बढ़ाया नहीं गया। कुछ गतिविधियों पर रोक जरूर बरकरार रही।

प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर में प्रभावी रूप से कमी हुई

गुरुवार को उप्र के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि वर्तमान में प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर में प्रभावी रूप से कमी हुई है, इसलिए निर्णय लिया गया है कि सभी स्विमिंग पूल, वाटर पार्क खुले रहेंगे। आंगनबाड़ी केंद्र खोले जाएंगे। इसी तरह शादी-समारोह व अन्य आयोजनों में बंद और खुले स्थानों पर परिसर की पूर्ण क्षमता के साथ लोगों के शामिल होने की अनुमति होगी।

तीसरी लहर की आहट ने एक बार फिर केंद्र व राज्य सरकारों को सख्ती करने पर विवश किया

हालांकि, मास्क की अनिवार्यता रहेगी और कोरोना प्रोटोकाल की सावधानियांबरतनी होंगी।कोरोना संक्रमण में जनवरी से तीसरी लहर की आहट ने एक बार फिर केंद्र व राज्य सरकारों को सख्ती करने पर विवश किया। हालांकि देश में अधिकांश लोगों के टीकाकरण और तीसरी लहर के न्यूनतम प्रभाव के कारण अधिकांश राज्य सरकारों ने क्रमवार ढंग से प्रतिबंधों में ढील दी और अंतत: सभी प्रतिबंध हटा लिए।

यह भी पढ़े —अमेरिका समेत छह देशों ने बुलाई यूएनएससी की आपातकालीन बैठक,यूक्रेन की स्थिति पर होगी चर्चा.

कोरोना प्रोटोकाल में आवश्यक सतर्कता का पालन किया जाना चाहिए

विशेषज्ञ चौथी लहर की आशंका भी क्षीण ही बता रहे हैं, लेकिन साथ ही चेता रहे हैं कि अभी महामारी पूरी तरह से समाप्त नहीं हुई है इसलिए कोरोना प्रोटोकाल में आवश्यक सतर्कता का पालन किया जाना चाहिए।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|