दुनिया

दक्षिण अफ्रीका का 14 साल बाद पाकिस्तान दौरा,टीम से जुड़े भारतीय एनालिस्ट प्रसन्ना को वीजा देने से इनकार

Khaskhabar/दक्षिण अफ्रीकी टीम की दौरे से पूर्व की सुरक्षा चिंताएं खत्म हो गई हैं और वे पाकिस्तान के खिलाफ उसकी सरजमीं पर 14 साल में पहली टेस्ट सीरीज पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं। दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट खेलने वाले उन टॉप पांच देशों में शामिल है जो 2009 में लाहौर में श्रीलंका टीम बस पर आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के दौरे पर आया है। दक्षिण अफ्रीका ने इससे पहले आखिरी बार 2007 में पाकिस्तान का दौरा किया था। पहला टेस्ट 26 जनवरी से कराची में खेला जाएगा।

Khaskhabar/दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटरों की दौरे से पूर्व की सुरक्षा चिंताएं खत्म हो गई हैं और वे पाकिस्तान के खिलाफ उसकी सरजमीं पर 14 साल में पहली टेस्ट सीरीज पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं। दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट खेलने वाले उन टॉप पांच देशों में शामिल है जो 2009 में लाहौर में श्रीलंका टीम बस पर आतंकी हमले के बाद
Posted by khaskhabar

रिपोर्ट के मुताबिक प्रसन्ना को पाकिस्तान सरकार ने वीजा देने से इनकार कर दिया

वही इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक प्रसन्ना को पाकिस्तान सरकार ने वीजा देने से इनकार कर दिया। इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत करते हुए प्रसन्ना ने बताया, ‘मैं इस समय बिलकुल ऐसा महसूस कर रहा हूं जैसे एक मृत शरीर चल रहा हो। मैं यहां से अपना सौ प्रतिशत देने का प्रयास करूंगा। यह एक बड़ी क्षति है टीम के लिए, उन खिलाड़ियों के लिए जो मेरे ऊपर पूरी तरह से निर्भर हैं।

लेकिन हमें प्रोटोकॉल समझना होगा। मुझे बताया गया कि जिम्बाब्वे के कोच लालचंद राजपूत भी पाकिस्तान नहीं जा पाए थे, अलीम दार काम के लिए भारत नहीं आ पाए थे। इसलिए मैं अकेला नहीं हूं।’ उन्होंने कहा, ‘जूम मीटिंग के जरिए मैं खिलाड़ियों से बातचीत कर रहा हूं, उन्हें स्लाइड से समझा रहा हूं।’ प्रसन्ना लम्बे समय से दक्षिण अफ्रीकी टीम से जुड़े हुए हैं।

यह भी पढ़े—स्‍टूडेंट्स से ऑनलाइन रूबरू हुए केंद्रीय श‍िक्षामंत्री,कहा- कम सिलेबस से ही आएंगे JEE और NEET के सवाल

टीम को किसी देश के राष्ट्राध्यक्ष की तरह सुरक्षा मुहैया कराई

हलाकि पाकिस्तान सरकार ने दक्षिण अफ्रीकी टीम को किसी देश के राष्ट्राध्यक्ष की तरह सुरक्षा मुहैया कराई है। दक्षिण अफ्रीकी कप्तान क्विंटन डिकॉक ने सोमवार को कराची में पत्रकारों से कहा, ”ईमानदारी से कहूं तो यहां आने से पहले सुरक्षा बड़ा मसला था, लेकिन यहां पहुंचने के बाद सुरक्षा बंदोबस्त देखकर खिलाड़ी अधिक सहज महसूस करने लगे।’ उन्होंने कहा कि हम वास्तव में सुरक्षित महसूस कर रहे हैं और अब केवल क्रिकेट को लेकर चिंता कर रहे हैं। दूसरा टेस्ट मैच चार फरवरी से रावलपिंडी में शुरू होगा। इसके बाद लाहौर में 11 से 14 फरवरी के बीच तीन टी-20 इंटरनेशनल मैचों की सीरीज खेली जाएगी।

और ज्यादा खबरे पढ़ने और जानने के लिए ,अब आप हमे सोशल मीडिया पर भी फॉलो कर सकते है –
ट्विटर पर फॉलो करने के लिए टाइप करे – @khas_khabar एवं न्यूज़ पढ़ने के लिए #khas_khabar फेसबुक पर फॉलो करने के लाइव आप हमारे पेज @socialkhabarlive को फॉलो कर सकते है|